भारत और अमेरिका टू प्लस टू वार्ता नवंबर में होगी: विदेश सचिव

भारत और अमेरिका टू प्लस टू वार्ता नवंबर में होगी: विदेश सचिव

भारत और अमेरिका टू प्लस टू वार्ता नवंबर में होगी: विदेश सचिव

वाशिंगटन: विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने शुक्रवार को कहा कि भारत और अमेरिका के बीच चौथी वार्षिक टू प्लस टू वार्ता इस साल नवंबर में वाशिंगटन में होगी. श्रृंगला न्यूयॉर्क की सफल यात्रा के बाद बुधवार को तीन दिवसीय यात्रा पर यहां पहुंचे थे. उन्होंने शुक्रवार को भारतीय पत्रकारों के समूह से कहा कि हम इस अवसर का इस्तेमाल संयुक्त मंत्री स्तर पर टू प्लस टू अंतर-सत्रीय बैठक कराने के लिए करते हैं. हम टू प्लस टू वार्ता को लेकर उत्साहित हैं जो नवंबर में होगी. अभी वार्ता की तारीख तय नहीं हुई है.

अपनी यात्रा के दौरान श्रृंगला ने राष्ट्रपति जो बाइडन के प्रशासन के शीर्ष अधिकारियों से मुलाकात की. उन्होंने विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन से भी मुलाकात की. टू प्लस टू मंत्री स्तरीय बैठक दोनों देशों के विदेश और रक्षा मंत्रियों के बीच होती है. पहली टू प्लस टू भारत-अमेरिका वार्ता 2018 में नयी दिल्ली में हुई थी. आखिरी बैठक नई दिल्ली में हुई थी और अगली बैठक यहां अमेरिका में होगी.

अमेरिका के विदेश मंत्री ब्लिंकन और रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन बाइडन प्रशासन की पहली भारत-अमेरिका टू प्लस टू बैठक के लिए विदेश मंत्री एस जयशंकर और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की मेजबानी करेंगे. श्रृंगला की यात्रा के दौरान दोनों देशों ने अफगानिस्तान के साथ ही संयुक्त राष्ट्र और आगामी क्वाड सम्मेलन समेत क्षेत्रीय और बहुपक्षीय मुद्दों पर विस्तार से चर्चा की. उन्होंने बताया कि जलवायु परिवर्तन पर अमेरिका के विशेष दूत जॉन केरी जल्द ही भारत की यात्रा कर सकते हैं. क्वाड अमेरिका, भारत, ऑस्ट्रेलिया और जापान का समूह है.

श्रृंगला ने बताया कि जलवायु परिवर्तन पर अमेरिका के विशेष दूत जॉन केरी जल्द ही भारत की यात्रा कर सकते हैं. भारत और अमेरिका ने अपने रक्षा संबंधों की मजबूती की शुक्रवार को पुन: पुष्टि की और मुक्त एवं खुले हिंद-प्रशांत क्षेत्र के लिए द्विपक्षीय एवं बहुपक्षीय सहयोग को मजबूत करने की अपनी प्रतिबद्धता दर्शायी.

नीतिगत मामलों के लिए रक्षा उप मंत्री कोलिन एच कहल ने भारत के विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला से मुलाकात में अमेरिका और भारत के बीच रक्षा संबंधों की मजबूती को दोहराया. रक्षा प्रवक्ता एरिक पाहोन ने बैठक की जानकारी देते हुए यह बात कही. (भाषा) 

और पढ़ें