देहरादून Dehradun: PM नरेन्द्र मोदी बोले- भारत अब दुनिया के किसी देश के दबाव में नहीं आ सकता

Dehradun: PM नरेन्द्र मोदी बोले- भारत अब दुनिया के किसी देश के दबाव में नहीं आ सकता

Dehradun: PM नरेन्द्र मोदी बोले- भारत अब दुनिया के किसी देश के दबाव में नहीं आ सकता

देहरादून:  केन्द्र की पूर्ववर्ती मनमोहन सिंह सरकार पर घोटाले कर देश का बहुमूल्य समय नष्ट करने का आरोप लगाते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को कहा कि आधुनिक बुनियादी ढांचे (इंफ्रास्ट्रक्चर) पर 100 लाख करोड़ रुपये से अधिक के निवेश के इरादे से आगे बढ़ रहा भारत विकसित देशों में शामिल होगा तथा वह दुनिया के किसी देश के दबाव में नहीं आ सकता. राज्य में आगामी विधानसभा चुनावों से पहले यहां परेड ग्राउंड में 18000 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास करने के बाद एक जनसभा को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि दिवंगत पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने इस शताब्दी की शुरूआत में ‘कनेक्टिविटी’ आगे बढ़ाने का अभियान शुरू किया था लेकिन उसके बाद देश में 10 वर्षों तक रही सरकार ने देश का बहुमूल्य समय नष्ट कर दिया. उन्होंने कहा कि दस साल तक देश में बुनियादे ढांचे के नाम पर घोटाले हुए और घपले हुए. इससे देश का जो नुकसान हुआ उसकी भरपाई के लिए हमने दोगुनी गति से मेहनत की और आज भी कर रहे हैं. आज भारत आधुनिक बुनियादी ढांचे पर 100 लाख करोड़ रुपये से अधिक के निवेश के इरादे से आगे बढ़ रहा है.

मोदी ने कहा कि सालों साल अटकी रहने वाली परियोजनाओं और बिना तैयारी के फीता काटने वाले तौर-तरीकों को पीछे छोड़कर आज भारत नवनिर्माण में जुटा है. उन्होंने कहा कि 21वीं सदी के इस कालखंड में भारत में ‘कनेक्टिविटी’ का एक ऐसा महायज्ञ चल रहा है जो भविष्य के भारत को विकसित देशों की श्रृंखला में लाने में अहम भूमिका निभाएगा. इस महायज्ञ का भी एक ऐसा यज्ञ आज देवभूमि में हो रहा है.’’ प्रधानमंत्री ने सीमा पर सड़कों और पुल बनाने पर ध्यान नहीं देने, सेना के लिए 'वन रैंक वन पेंशन' का समाधान न करने तथा आधुनिक अस्त्र-शस्त्र न देने का आरोप लगाते हुए कहा कि उन लोगों ने हर स्तर पर सेना को निराश करने की मानो कसम खा रखी थी. उन्होंने कहा कि लेकिन आज की सरकार दुनिया के किसी देश के दबाव में नही आ सकती. हम 'राष्ट्र प्रथम, सदैव प्रथम' के मंत्र पर चलने वाले लोग हैं. हमने सीमावर्ती पहाड़ी क्षेत्रों में सैकड़ों किलोमीटर सडकें बनाई हैं.’’ मोदी ने कहा कि मौसम और भूगोल की कठिन परिस्थितियों के बावजूद यह काम तेजी से किया जा रहा है और यह काम कितना अहम है, यह अपने बच्चों को फौज में भेजने वाला उत्तराखंड का हर परिवार अच्छी तरह समझ सकता है. उन्होंने कहा कि आज सरकार नागरिकों के अपनी समस्याओं को लेकर उसके पास आने की प्रतीक्षा नहीं करती बल्कि वह स्वयं सीधे नागरिकों के पास जाकर समस्याओं का समाधान करती है.

प्रधानमंत्री ने कहा कि समय के साथ हमारे देश की राजनीति में विकृतियां आ गई हैं जिसके कारण कुछ राजनीतिक दल समाज में भेद करके अपनी जाति, या विशेष धर्म या अपने छोटे से इलाके के दायरे के एक तबके पर ही विशेष ध्यान देते हैं. उन्हें उसमें अपना ‘वोट बैंक’ नजर आता है. उन्होंने आरोप लगाया कि इसके अलावा राजनीतिक दलों ने एक और तरीका भी अपनाया है ​कि जनता को मजबूत न होने दो बल्कि मजबूर बनाओ. उन्होंने कहा कि उसे अपना मोहताज बनाओ ताकि अपना ताज बरकरार रहे.’’ मोदी ने कहा कि इन दलों ने जनता में यह सोच पैदा कर दी कि सरकार ही हमारी माई-बाप है और इस तरह उसका गौरव और उसका स्वाभिमान एक सोची समझी राजनीति के तहत कुचल दिया गया उन्होंने कहा कि उनके दल ने एक अलग रास्ता चुना है जो कठिन है लेकिन वह देश हित में है. 'सबका साथ, सबका विकास' के नारे को दोहराते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारा मार्ग बिना किसी भेदभाव के सबके लिए एक समान योजना लाने तथा आत्मनिर्भर भारत बनाने का है. सोर्स- भाषा

और पढ़ें