जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर के खिलाफ भारत ने चीन को दिए सबूत 

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/04/22 06:03

नई दिल्ली। भारत के विदेश सचिव विजय गोखले चीन की दो दिवसीय यात्रा पर हैं। गोखले ने चीन के विदेश मंत्री वांग यी और बड़े अधिकारियों के साथ मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित करने का मुद्दा उठाया, वहीं मसूद और आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के खिलाफ सबूत पेश किए। साथ ही भारत के द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने पर बातचीत की। 

MEA: It's now for the 1267 Sanctions Committee&other authorized bodies of UN to take a decision on listing of Masood Azhar. India will continue to pursue all avenues to ensure that terrorist leaders who are involved in heinous attacks on our citizens are brought to justice. (2/2) https://t.co/HsQzEMGgiA

— ANI (@ANI) April 22, 2019

गोखले ने मसूद अजहर को आतंकी घोषित करने पर निर्णय लेने के लिए 1267 प्रतिबंध समिति और संयुक्त राष्ट्र को फैसला ले लेना चाहिए। वरना देश मे हुए हमलों में मारे गए निर्दोशों को न्याय दिलाने के लिए भारत आगे भी ये लड़ाई जारी रखेगा। 

बता दें कि जैश-ए-मोहम्मद के प्रमुख मसूद अजहर को चीन ने संयुक्त राष्ट्र में हमेशा 'ग्लोबल टेररिस्ट' घोषित किये जाने के प्रस्ताव को खारिज कर दिया था। इसके अलावा चीन हमेशा से पाकिस्तान का पक्ष लेता रहा है और उसने संयुक्त राष्ट्र 1267 प्रतिबंध समिति में भारत, अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस द्वारा अजहर के खिलाफ प्रस्ताव पर वीटो का इस्तेमाल कर कई बार आतंकी मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित किए जाने से बचाया है। 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in