'अफसरशाही' की आवभगत तक सिमटी निवेशक समिट 

Vikas Sharma Published Date 2019/02/27 05:58

जयपुर। राजस्थान में निवेश को बढ़ावा देने के लिए राजधानी में आज हुई "इंडिया इनोवेशन समिट" आयोजन कंपनी एलीट्स के कर्मचारियों और सरकार के अफसरों की गेट-टू-गेदर बनकर रह गई। दरअसल, होटल मैरियट में इंडिया इनोवेशन समिट का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में सरकार के करीब डेढ दर्जन आला अधिकारी तो शामिल हुए, लेकिन इनवेस्टर और उद्योग जगत के लोग आयोजन से पूरी तरह से दूर नजर आए। 

हालात ये रहे कि समिट की शुरूआत में हॉल की एक चौथाई कुर्सियां भी नहीं भरी। लोगों की उपस्थिति कम देख एकबारगी आयोजकों के हाथ पांव फूल गए और आनन-फानन में खाली सीटें समेटकर हॉल को पार्टेशन लगाकर छोटा किया गया। इसके बावजूद कुर्सियां खाली रही तो ईवेंट कंपनी एलीट्स के कर्मचारी, उद्योग विभाग के अधिकारी और शेष बची कुर्सियों पर प्रायोजक कंपनियों के प्रतिनिधि आ बैठे। 

पूरे कार्यक्रम के दौरान किसी भी विवाद से बचने के लिए आयोजन कंपनी एलीट्स के प्रतिनिधि सिर्फ ब्यूरोक्रेट्स की आवभगत में नजर आए। दिलचस्प बात ये है कि न तो समिट से होने वाले फायदे के बारे में न तो आयोजन करने वाली कंपनी के प्रतिनिधि कोई जवाब दे पाए और न ही एसीएस उद्योग डॉ सुबोध अग्रवाल ये बता पाए कि आखिर समिट का उद्देश्य क्या है। 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in