मथुरा हिंदू संतों की सरकार को दो टूक, जब तक यमुना का पानी साफ नहीं होगा, शाही स्नान में भाग नहीं लेंगे

हिंदू संतों की सरकार को दो टूक, जब तक यमुना का पानी साफ नहीं होगा, शाही स्नान में भाग नहीं लेंगे

हिंदू संतों की  सरकार को दो टूक, जब तक यमुना का पानी साफ नहीं होगा, शाही स्नान में भाग नहीं लेंगे

मथुराः यमुना के गंभीर जल प्रदूषण को रेखांकित करते हुए, देश के तीन प्रमुख हिंदू संतों ने शनिवार को संकल्प लिया है कि वे वर्तमान में चल रहे वृंदावन कुंभ के दौरान बाकी शाही स्नान में तब तक भाग नहीं लेंगे, जब तक कि नदी का पानी साफ नहीं हो जाता है. गौरतलब है कि नदी का पानी बहुत ही ज्यादा प्रदूषित है और आए दिन कोई ना कोई साइडइफेक्ट भी देखने को मिलता ही रहता है. 

3 सबसे शुभ दिन स्नान का बहिष्कार करने की घोषणा

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अयोध्या स्थित महा निर्वाणी अखाड़ा के प्रमुख महंत धर्मदास ने शेष तीन शुभ दिनों- 9, 13 और 25 मार्च को नदी में शाही स्नान का बहिष्कार करने की घोषणा की है. उन्होंने आगामी कुंभ मेले के लिए भी ऐसी घोषणाएं कीं हैै. महंत धर्मदास ने दो अन्य वैष्णवी अखाड़ों- महा निर्मोही और महा दिगंबर अखाड़ा के प्रमुखों की उपस्थिति में यह घोषणा की है. 

महंत धर्मदास ने कही ये बात

इस दौरान महंत धर्मदास ने कहा है कि अगले शाही स्नान में, हम यमुना में पवित्र डुबकी तभी लगाएंगे, जब पानी साफ होगा. गौरतलब है कि दो अन्य अखाड़ों के प्रमुखों ने इस पर सहमति व्यक्त की है. अयोध्या स्थित महा निर्वाणी अखाड़ा के प्रमुख महंत धर्मदास ने शेष तीन शुभ दिनों- 9, 13 और 25 मार्च को नदी में शाही स्नान का बहिष्कार करने की घोषणा की है.

और पढ़ें