हाल की हिंसा के बाद दक्षिण अफ्रीका के पुनर्निर्माण के प्रयासों में भारत मदद करे: इला गांधी

हाल की हिंसा के बाद दक्षिण अफ्रीका के पुनर्निर्माण के प्रयासों में भारत मदद करे: इला गांधी

हाल की हिंसा के बाद दक्षिण अफ्रीका के पुनर्निर्माण के प्रयासों में भारत मदद करे: इला गांधी

जोहानिसबर्ग: महात्मा गांधी की पोती इला गांधी ने कहा कि दक्षिण अफ्रीका में हाल में हुई हिंसा के बाद भारत को देश के पुनर्निर्माण के प्रयासों में उसकी मदद करनी चाहिए. भारत के 75वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर ऑनलाइन आयोजित एक संगोष्ठी के दौरान भारतीय वाणिज्य दूतावास से एक प्रतिनिधि के रूप में गांधी ने कहा कि डरबन के उत्तर में विशाल भारतीय बस्ती, फीनिक्स में हाल ही में हुई हिंसा, जिसने निवासियों और तीन पड़ोसी अनौपचारिक बसावटों के काले लोगों के बीच तनाव पैदा किया, उसके लिए आपराधिक मंशा वाले लोग जिम्मेदार थे जिनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई होनी चाहिए.

गांधी ने कहा कि लेकिन इसका यह अर्थ नहीं है कि पूरा समुदाय या एक पूरा इलाका नस्ली है और इन कुछ घटनाओं के जिम्मेदार हैं. जैसा कि हम शांति स्थापित कर रहे हैं, इन सबसे एक अच्छी बात सामने आई है, वह है लोगों के बीच एकता. गांधी ने कहा कि हम सब मिलकर काम कर रहे हैं और देश में शांति कायम करने जा रहे हैं. मुझे पूरी उम्मीद है कि भारत सरकार और भारत के लोग एक बार फिर हमें इस शांति का निर्माण करने और दक्षिण अफ्रीका में आम राष्ट्र बंधन बनाने में मदद करेंगे, जहां हमें लोगों को अलग-अलग पहचानों (नस्ली मूल से) से जानने की आवश्यकता नहीं होगी.

 

उन्होंने कहा कि हम सभी दक्षिण अफ्रीका के नागरिक होंगे और इस तरह से पहचाने जाएंगे. सात जुलाई को पूर्व राष्ट्रपति जैकब जुमा की गिरफ्तारी को लेकर हुई हिंसा के बाद सोशल मीडिया पोस्ट से फीनिक्स की बस्ती और आसपास के इलाकों में दो समुदायों के बीच हिंसा के बाद तनाव उत्पन्न हो गया था. (भाषा) 

और पढ़ें