अमेरिका में हमले के शिकार भारतीय मूल के सिख टैक्सी ड्राइवर ने कहा- स्तब्ध और गुस्से में हूं

अमेरिका में हमले के शिकार भारतीय मूल के सिख टैक्सी ड्राइवर ने कहा- स्तब्ध और गुस्से में हूं

अमेरिका में हमले के शिकार भारतीय मूल के सिख टैक्सी ड्राइवर ने कहा- स्तब्ध और गुस्से में हूं

न्यूयॉर्क: अमेरिका में हमले का शिकार हुए भारतीय मूल के सिख टैक्सी ड्राइवर ने कहा कि वह अपने ऊपर हुए हमले से ‘‘हैरान और गुस्से में’’ हैं . उसने कहा कि किसी को भी ऐसी नफरत भरी हिंसा का सामना न करना पड़े. कुछ दिन पहले जॉन एफ कैनेडी (जेएफके) हवाई अड्डे पर एक अज्ञात व्यक्ति ने सिख टैक्सी ड्राइवर पर हमला किया था और उन्हें ‘अपने देश लौट जाने’ को कहा था. समुदाय आधारित नागरिक एवं मानवाधिकार संगठन ‘द सिख कोएलिशन’ ने तीन जनवरी को एक बयान में कहा कि न्यूयॉर्क सिटी के निवासी सिंह पर यहां जेएफके अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उनकी कैब के पास हमला किया गया और उन्हें पीटा गया.  संगठन ने अपने बयान में कहा कि सिंह ने अपनी कैब टर्मिनल 4 टैक्सी स्टैंड पर खड़ी की थी. तभी एक अन्य ड्राइवर ने उनके वाहन को रोक दिया. 

जब सिंह ने एक सवारी को अपनी कार में बैठाया और दूसरे ड्राइवर को आगे बढ़ने के लिए कहा तो दूसरे ड्राइवर ने सिंह को अपनी कार के दरवाजे से मारने का प्रयास किया. इसके बाद उसने सिंह के सिर, छाती और बाहों पर बार-बार घूंसे मारना शुरू कर दिया. बयान के अनुसार, दूसरे ड्राइवर ने सिंह को ‘‘पगड़ीधारी’’ कहा और वह चीख-चीख कर कह रहा था कि अपने देश वापस चले जाओ’’. संगठन ने हमले के शिकार सिख टैक्सी ड्राइवर के हवाले से बताया कि मैं स्तब्ध और गुस्से में था कि मुझ पर अपना काम करने के अलावा, कुछ नहीं करने के लिए हमला किया गया. काम करते समय किसी को भी इस तरह की घृणा का अनुभव नहीं होना चाहिए. मुझे उम्मीद है कि पुलिस उस व्यक्ति की पहचान कर उसे गिरफ्तार करेगी और उसके खिलाफ मामला दर्ज करेगी.’’ संगठन ने नाम उजागर नहीं करने के अनुरोध पर सिख टैक्सी ड्राइवर को केवल ‘श्री सिंह’ के नाम से संबोधित किया. सिंह ने घटना के तुरंत बाद पोर्ट अथॉरिटी पुलिस विभाग (पीएपीडी) में रिपोर्ट दर्ज कराई. सिख कोलिशन की कानूनी निदेशक अमृत कौर आकरे ने कहा कि हमें पूरी उम्मीद है कि इस अपमानजनक हमले में पूर्वाग्रह को एक कारक के रूप में माना जाएगा, जो इस बात का सबूत है कि दूसरे ड्राइवर ने श्री सिंह के साथ क्या कहा और किया.

 

नवजोत पाल कौर ने हमले का 26 सेकंड का वीडियो चार जनवरी को ट्विटर पर पोस्ट किया था और यह जल्द ही वायरल हो गया. कौर ने ट्वीट किया, ‘‘यह वीडियो जॉन एफ कैनेडी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर एक व्यक्ति ने बनाया है. मैं इस विडियो के अधिकार नहीं रखती. न्यूयॉर्क में भारत के महावाणिज्य दूतावास ने सिख टैक्सी चालक पर हमले को ‘बेहद परेशान करने वाला’ करार दिया था और कहा था कि अमेरिकी अधिकारियों के समक्ष इस मामले को उठाया गया और उनसे इस घटना की जांच करने का आग्रह किया गया है. अमेरिकी विदेश विभाग ने भी कहा कि वीडियो में जेएफके अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर सिख कैब चालक पर हमले की खबरों से वह ‘बेहद परेशान’ है. सोर्स- भाषा

और पढ़ें