नई दिल्ली Infosys Q1 Result: इंफोसिस का शुद्ध लाभ 3.2 प्रतिशत बढ़कर 5,360 करोड़ रुपये रहा

Infosys Q1 Result: इंफोसिस का शुद्ध लाभ 3.2 प्रतिशत बढ़कर 5,360 करोड़ रुपये रहा

Infosys Q1 Result: इंफोसिस का शुद्ध लाभ 3.2 प्रतिशत बढ़कर 5,360 करोड़ रुपये रहा

नई दिल्ली: देश की दूसरी बड़ी सॉफ्टवेयर सेवा प्रदाता इंफोसिस ने रविवार को कहा कि चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में उसका समेकित शुद्ध लाभ 3.2 प्रतिशत बढ़कर 5,360 करोड़ रुपये हो गया जो बाजार के अनुमान से कम है.

इंफोसिस का शुद्ध लाभ 5.7 प्रतिशत कम हुआ:
इंफोसिस ने अप्रैल-जून तिमाही के नतीजों की शेयर बाजारों को जानकारी देते हुए कहा कि एक साल पहले की समान तिमाही में उसका शुद्ध लाभ 5,195 करोड़ रुपये रहा था. हालांकि जनवरी-मार्च 2022 तिमाही की तुलना में इंफोसिस का शुद्ध लाभ 5.7 प्रतिशत कम हुआ है. जनवरी-मार्च तिमाही में कंपनी का शुद्ध लाभ 5,686 करोड़ रुपये रहा था.

वित्त वर्ष 2022-23 की पहली तिमाही में कंपनी का राजस्व 23.6 प्रतिशत बढ़कर 34,470 करोड़ रुपये हो गया. अप्रैल-जून 2021 की तिमाही में यह 27,869 करोड़ रुपये रहा था. पहली तिमाही के नतीजों से उत्साहित इंफोसिस ने मांग में मजबूती बने रहने की संभावना को देखते हुए समूचे वित्त वर्ष के लिए अपने राजस्व आकलन को संशोधित करते हुए 14-16 प्रतिशत कर दिया है. पहले कंपनी का आकलन 13-15 प्रतिशत वृद्धि का था.

इंफोसिस का यह प्रदर्शन बाजार की उम्मीदों से कम:
कंपनी का पहली तिमाही में परिचालन मार्जिन गिरकर 20.1 प्रतिशत पर आ गया जबकि एक साल पहले की समान तिमाही में यह 23.7 प्रतिशत रही थी. वहीं जनवरी-मार्च तिमाही में परिचालन मार्जिन 21.5 प्रतिशत रहा था. इंफोसिस का परिचालन खर्च अप्रैल-जून तिमाही में 14.1 प्रतिशत बढ़ गया. बिक्री एवं विपणन लागत बढ़ने से उसके परिचालन खर्च में बढ़ोतरी हुई है. इंफोसिस का यह प्रदर्शन बाजार की उम्मीदों से कम है. बाजार ने एक साल पहले की तुलना में कंपनी के समेकित शुद्ध लाभ में 5.5 प्रतिशत से लेकर 9.5 प्रतिशत तक की वृद्धि का अनुमान लगाया हुआ था.

हम प्रतिभाओं को अपने साथ जोड़ने पर निवेश कर रहे:
कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एवं प्रबंध निदेशक सलिल पारेख ने एक बयान में कहा किअनिश्चितता से भरे आर्थिक माहौल के बीच पहली तिमाही में हमारा समग्र प्रदर्शन सशक्त रहा है. यह एक संगठन के तौर पर हमारे स्वाभाविक लचीलेपन, हमारी उद्योग-अग्रणी डिजिटल क्षमताओं और सतत ग्राहक-प्रासंगिकता का एक साक्ष्य है. पारेख ने कहा कि हम प्रतिभाओं को अपने साथ जोड़ने पर निवेश कर रहे हैं ताकि उभर रहे बाजार अवसरों का लाभ उठा सकें. पहली तिमाही में अच्छे प्रदर्शन के रूप में इसका नतीजा सामने आया है और वित्त वर्ष के लिए राजस्व आकलन को भी बढ़ाकर 14-16 प्रतिशत कर दिया गया है. सोर्स-भाषा 

और पढ़ें