Covid की Third Wave की आशंका को देखते हुए आवश्यक तैयारियां करने के निर्देश

Covid की Third Wave की आशंका को देखते हुए आवश्यक तैयारियां करने के निर्देश

Covid की Third Wave की आशंका को देखते हुए आवश्यक तैयारियां करने के निर्देश

जयपुर: चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा (Medical and Health Minister Dr. Raghu Sharma) ने कोरोना की तीसरी लहर (Third Wave) की आशंका को देखते हुए विभागीय अधिकारियों को आवश्यक तैयारियां करने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने तीसरी लहर में बच्चों के प्रभावित होने की आशंका को ध्यान में रखते हुए बच्चों के चिकित्सा संस्थानों सहित अन्य राजकीय चिकित्सा संस्थानों (State Medical Institutes) के आधारभूत ढांचे को भी मजबूत करने के निर्देश दिए हैं.

VC से कोरोना की रोकथाम एवं उपचार के संबंध में विस्तार से समीक्षा बैठक की:
डॉ. शर्मा गुरुवार को अपने राजकीय आवास (State House) से विभागीय अधिकारियों से साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस (VC) से कोरोना की रोकथाम एवं उपचार के संबंध में विस्तार से समीक्षा कर रहे थे. उन्होंने कोरोना व ब्लैक फंगस (Covid And Black Fungus) के उपचार की सुविधाओं, डोर टू डोर (Door To Door) सर्वे कार्य की तथा एक्टिव सर्विलांस (Active Surveillance) की समीक्षा करने के साथ ही आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिए.

RUHS में 569 कोरोना रोगी भर्ती:
डॉ. शर्मा ने शहर के कोविड डेडिकेटेड अस्पतालों (Covid Dedicated Hospitals) में भर्ती कोरोना मरीजों की स्थिति के बारे में समीक्षा की. बताया गया कि RUHS में 569 कोरोना रोगी भर्ती हैं. उन्होंने तीसरी लहर की आशंका को ध्यान में रखते हुए इस अस्पताल में 100 ICU बेड बढ़ाने की कार्यवाही के निर्देश दिए. SMS अस्पताल में कोविड डेडिकेटेड 900 में 444 बैड पर कोविड मरीज उपचार ले रहे हैं और ऑक्सीजन (Oxygen) पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है. जयपुरिया अस्पताल में वर्तमान में 215 कोरोना मरीज भर्ती हैं और इनकी संख्या में कमी आ रही है.
 
SMS में Ventilator की अतिरिक्त व्यवस्था करने के निर्देश:
चिकित्सा मंत्री ने SMS अस्पताल (SMS Hospital) में उपचार व्यवस्थाओं की जानकारी ली और आवश्यकतानुसार वेंटिलेटर की अतिरिक्त व्यवस्था करने के निर्देश दिए. उन्होंने जेकेलोन अस्पताल में बच्चों के उपचार के लिए अभी से ही व्यापक इंतजाम करने और आधारभूत ढांचे को सुदृढ़ करने के निर्देश दिए. उन्होंने प्रदेश के सभी मेडिकल कॉलेज (Medical College) अस्पतालों में बच्चों के लिए ICU व वेंटिलेटर बेड की समुचित व्यवस्था, नवजात के उपचार हेतु जनाना व महिला अस्पताल में नीकू बेड (Niku Bed) बढाकर 50-50 बेड करने और सभी महिला अस्पतालों व एमसीएच में भी नीकू बेड बढ़ाने की आवश्यकता प्रतिपादित की. 

आयुर्वेद, होम्योपैथी व यूनानी चिकित्सा विभाग के कार्यों करे निरंतर जारी रखे:
डॉ. शर्मा ने आयुर्वेद, होम्योपैथी व यूनानी चिकित्सा विभाग (Ayurveda, Homeopathy and Unani Medicine Department) द्वारा कोरोना की प्रथम लहर के दौरान किए गए उल्लेखनीय कार्यों को निरंतर जारी रखने पर बल दिया. उन्होंने बैठक में चिरंजीवी योजना (Chiranjeevi Scheme) से निजी अस्पतालों में कैशलेस निःशुल्क कोरोना उपचार पर सतर्कता से निगरानी रखने के निर्देश दिए. 

जेके लॉन में तैयार हो सकता है 800 बेड का कोविड डेडिकेटेड रूप:
प्रमुख शासन सचिव गृह एवं जनसपंर्क अभय कुमार (Principal Secretary, Home and Public Relations Abhay Kumar) ने भी अपने विचार व्यक्त किए. चिकित्सा शिक्षा सचिव वैभव गालरिया (Medical Education Secretary Vaibhav Galaria) ने बताया कि प्रदेश में नीकू वार्ड के साथ पीकू बैड बढ़ाने की भी तैयारियां की जा रही हैं. उन्होंने बताया कि जरूरत पड़ने पर जयपुर के JK लॉन अस्पताल में 800 बेड का Covid Dedicated के रूप में भी तैयार किया जा सकता है. जेके लॉन अस्पताल में 200 बैड का पीडियाट्रिक्स (Pediatrics) ICu की तैयारी भी की जा रही है. चिकित्सा सचिव सिद्धार्थ महाजन ने प्रदेश में प्रदेश में स्थापित एमसीएच विंग की जानकारी देते हुए बताया कि तीसरी लहर को ध्यान में रखते हुए सभी अस्पतालों में आवश्यकतानुसार चिकित्साकर्मी नियोजित किए जाएंगे. 

ब्लैक फंगस के लगभग 800 मरीज उपचाररत हैं:
वीडियो कॉन्फ्रेंस में बताया गया कि प्रदेश में ब्लैक फंगस के लगभग 800 मरीज उपचाररत हैं. इनके उपचार के लिए प्रतिदिन 2 हजार वायल की आवश्यकता है. अभी भी ब्लैक फंगस (Black Fungus) के उपचार के लिए आवश्यक दवाओं की मांग की तुलना में आपूर्ति कम है. चिकित्सा मंत्री ने वायल की आपूर्ति बढ़ाने के लिए सभी आवश्यक प्रयास करने के निर्देश दिए.

बैठक में आयुर्वेद सचिव  सुरेश गुप्ता, आरएमएससीएल एमडी   आलोक रंजन, MD एनएचएम सुधीर शर्मा, राजस्थान एश्यारेंस एजेंसी (Rajasthan Assurance Agency) की सीईओ अरुणा राजोरिया, जेकेलोन अधीक्षक डॉ अरविंद शुक्ला, जयपुरिया अस्पताल के अधीक्षक डॉ. सुनीत राणावत सहित, जन स्वस्थ्य निदेशक डॉ. केके शर्मा व अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे.

और पढ़ें