VIDEO: बीकानेर में आज इंटरनेशनल कैमल फेस्टिवल का हुआ आगाज 

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/01/12 09:35

बीकानेर (लक्ष्मण राघव)। बीकानेर में आज इंटरनेशनल कैमल फेस्टिवल का आगाज हुआ। कलेक्टर कुमार पाल गौतम और एसपी प्रदीप मोहन शर्मा ने शोभा यात्रा को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। नाचते गाते लोक कलाकार, सजे-धजे ऊंट और उन पर सवार रौबीले मानो राजस्थान की सतरंगी संस्कृति जमीं पर उतर आई हो। 

बीकानेर में  कैमल फेस्टिवल को लेकर आज उत्साह देखते ही बन रहा था। देशी सैलानी तो मस्ती में सरोबार थे ही गौरे तो मानो मचल रहे थे। विदेशी बालाएं कैमल डांस को लेकर क्रेजी दिख रही थी। कैमल डांस तो था ही ऐसा कि अच्छे से अच्छा कोरियोग्राफर भी वाह कहे भी रह ना सके। डांस छोड़िए कैमल के हर करतब तालियां बटोर रहे थे। कलक्टर साहब को जब कैमल ने माला पहनाई तो कलक्टर साहब भी मुस्कुरा उठे। कलक्टर कुमार पाल गौतम का कहना था कि सैलानी मस्ती में सरोबार है तो हमारे पास अपनी संस्कृति से जुड़ने का अवसर है। 

कैमल पर करीने से की गई फर कटिंग हो या कैमल डेकोरेशन कम्पीटीशन। मंच पर रौबीलो का अंदाज ऐसा कि मानो कोई जंग फ़तह कर डाली हो। मिस्टर बीकाणा और मिस मरवण कम्पीटीशन में राजस्थानी वेशभूषा में सजे धजे युवक युवतियों का स्टाइल के क्या कहने। बैगपाइर बैण्ड की स्वर लहरिया हो या मिश्री सी मिठास लिए राजस्थानी लोकगीतों की धुन माहौल को बेहद मखमली बना रही थी। विदेशी सैलानी भी भावविभोर हो कर कह उठे 'इट्स अमेजिंग...'

25 सालों से चले आ रहे बीकानेर के इस अंतरराष्ट्रीय ऊंट महोत्सव को लेकर आज भी क्रेज देखते ही बनता है। बस जरूरत है तो पर्यटन विभाग द्वारा इसके मूल स्वरूप को बचाये रखने की और सरकार की जिम्मेदारी है ऊंट पलकों का ध्यान रखे। 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in