जम्मू-कश्मीर: जंबू चिड़ियाघर का काम कोविड-19 प्रतिबंधों के बाद भी तेजी से हो रहा है

जम्मू-कश्मीर: जंबू चिड़ियाघर का काम कोविड-19 प्रतिबंधों के बाद भी तेजी से हो रहा है

जम्मू-कश्मीर: जंबू चिड़ियाघर का काम कोविड-19 प्रतिबंधों के बाद भी तेजी से हो रहा है

जम्मू: कोविड-19 प्रतिबंधों के बावजूद वन्यजीव संरक्षण विभाग जंबू चिड़ियाघर परियोजना का कार्य जल्द से जल्द पूरा करने के सभी प्रयास कर रहा है. अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी.

जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग से लगे नगरोटा में 2016 में 120 करोड़ रुपये की इस परियोजना की आधारशिला रखी गई थी. इसे पशु प्रेमियों और पर्यटकों के लिए मुख्य आकर्षण का केंद्र बनाने के उद्देश्य से तैयार किया जा रहा है. यह पूरा इलाका 229.50 हेक्टेयर में फैला है. एक आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया कि वन आयुक्त-सचिव संजीव वर्मा ने शनिवार को इस परियोजना का मुआयना किया और संबंधित अधिकारियों को चल रहे कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिए.

उन्होंने कहा कि चिड़ियाघर के लिए अहम कारक पशु चिकित्सा अस्पताल, तेंदुआ का बाड़ा, बाघ का बाड़ा, कर्मियों के लिए आवास, पशु चारा स्टोर, पशु रसोईघर, ढलान संबंधी कार्य, प्राकृतिक छटा निहारने वाले स्थल, जलाशय समेत अन्य कार्य पूरा होने के चरण में है. जम्मू-कश्मीर के मुख्य वन्यजीव संरक्षक वार्डन सुरेश के. गुप्ता ने कहा कि चिड़ियाघर में 30 करोड़ रुपये से ज्यादा मूल्य के कार्य प्रगति में हैं और करीब छह करोड़ रुपये के कार्यों की निविदा प्रक्रिया जारी है. (भाषा) 

और पढ़ें