VIDEO: प्रशासन शहरों के संग अभियान की तैयारी में जुटा JDA, सरकार ने एक लाख से अधिक पट्टे बांटने का दिया है लक्ष्य

VIDEO: प्रशासन शहरों के संग अभियान की तैयारी में जुटा JDA, सरकार ने एक लाख से अधिक पट्टे बांटने का दिया है लक्ष्य

जयपुर: सरकार के दिए लक्ष्य के मुताबिक जयपुर विकास प्राधिकरण आगामी प्रशासन शहरों के संग अभियान में एक लाख से अधिक पट्टे बांटने की तैयारी में जुट गया है. पिछले दिनों प्रमुख सचिव यूडीएच कुंजीलाल मीणा ने जेडीए की समीक्षा बैठक ली थी. इस समीक्षा बैठक के दौरान प्रशासन शहरों के संग अभियान की तैयारियों का भी जायजा लिया गया. इस दौरान कुंजीलाल मीणा ने जेडीए को निर्देश दिए कि इस अभियान में जेडीए को एक लाख से अधिक पट्टे बांटने का लक्ष्य रखना चाहिए. 

इसी लक्ष्य को पूरा करने के लिहाज से जेडीए ने तैयारी शुरू कर दी है, हालांकि प्रमुख सचिव कुंजी लाल मीणा के इन निर्देशों से पहले ही जेडीए आयुक्त गौरव गोयल के नेतृत्व में सभी जोन उपायुक्तों ने नियमन से वंचित भूखंडों का डाटा जुटा लिया था. लेकिन अब सरकार से निर्देश मिलने के बाद जेडीए नियमन शिविरों का कार्यक्रम बनाने में जुट गया है. आपको बताते हैं कि जेडीए के आंकड़ों के मुताबिक कुल कितने और किस प्रकार के भूखंड नियमन से वंचित है.

-जेडीए में कुल 1904 कॉलोनिया स्वीकृत है 

-जिनमें से लगभग 86 हजार भूखंडों के पट्टे दिए जाने हैं 

-1403 कॉलोनिया ऐसी है जिनमें भू रूपांतरण की कार्यवाही हो चुकी है 

-लेकिन इन कॉलोनियों के लेआउट प्लान अनुमोदित नहीं है 

-इन कॉलोनियों में करीब 41 हजार भूखंडों के पट्टे दिए जाने हैं 

-इनके अलावा अवैध बसी कॉलोनियों में करीब 1 लाख भूखंड हैं

- नियमन की सभी अड़चनें दूर हो जाएं तो जेडीए 2 लाख 27 हजार पट्टे बांट सकता है

इस प्रकार प्रशासन शहरों के संग अभियान में जेडीए के लिए एक लाख से अधिक पट्टों का वितरण करना बड़ी चुनौती नहीं है. क्योंकि 86 हजार पट्टे तो अनुमोदित कॉलोनियों में ही जारी किए जा सकते हैं. लेकिन जेडीए आयुक्त गौरव गोयल और उनके अधिकारियों की टीम की मंशा है कि सरकार के लक्ष्य से भी कहीं अधिक पट्टे इस अभियान में बांटे जाएं और इसके लिए पट्टे देने में आ रही बाधाओं को दूर किया जाए.

और पढ़ें