जयपुर किसानों की बिजली आपूर्ति को लेकर जयपुर डिस्कॉम का बड़ा फैसला, अब अधीक्षण अभियंता करेंगे जले ट्रांसफार्मर के बदलने का सत्यापन

किसानों की बिजली आपूर्ति को लेकर जयपुर डिस्कॉम का बड़ा फैसला, अब अधीक्षण अभियंता करेंगे जले ट्रांसफार्मर के बदलने का सत्यापन

किसानों की बिजली आपूर्ति को लेकर जयपुर डिस्कॉम का बड़ा फैसला, अब अधीक्षण अभियंता करेंगे जले ट्रांसफार्मर के बदलने का सत्यापन

जयपुर: कृषि बिजली उपभोक्ताओं के जले हुए ट्रांसफार्मर को बदलने का फीडबैक अब खुद जयपुर डिस्कॉम के आलाधिकारी लेंगे. जिस सर्किल में किसान का ट्रासफार्मर जलता है, उसके समय पर बदले जाने का सत्यापन खुद अधीक्षक अभियंता कार्यालय से होगा. जी हां, रबी सीजन में जले ट्रांसफार्मर बदलने में लेटलतीफी पर अंकुश लगाने के लिए डिस्कॉम एमडी ए के गुप्ता ने सभी अधीक्षक अभियंताओं को यह जिम्मेदारी सौंपी है. 

खराब ट्रांसफार्मर को समय पर बदलने के कार्य की समीक्षा करते हुए निर्देश: 
गुप्ता बुधवार को राजमीट वीसी प्लेटफार्म के माध्यम से विभिन्न कार्यों एवं योजनाओं की समीक्षा कर रहे थे. गुप्ता ने कृषि उपभोक्ताओं के जले व खराब ट्रांसफार्मर को समय पर बदलने के कार्य की समीक्षा करते हुए निर्देश दिए कि अधीक्षण अभियन्ता कार्यालय द्वारा सम्बन्धित उपभोक्ता से बात करके इसका सत्यापन किया जाए. इससे इस कार्य में पारदर्शिता के साथ ही उपभोक्ताओं की शिकायतों पर भी विराम लगेगा. इसके साथ ही उन्होंने निर्देश दिए कि नए कृषि कनेक्शन जो डिमांड नोटिस जमा होने और सामान जारी होने के बाद भी उपभोक्ता द्वारा नहीं लिए जा रहे हैं इनका कनिष्ठ अभियन्ता द्वारा साइट पर जा कर सत्यापन किया जाना चाहिए कि वास्तविक कारण क्या है. गुप्ता ने राजस्व वसूली की समीक्षा करते हुए कहा कि चालू वित्तीय वर्ष में अब तीन माह का समय बचा है इस अवधि में नियमित एवं पीडीसी उपभोक्ताओं पर बकाया राशि की वसूली को सर्वोच्च प्राथमिकता देते हुए शत-प्रतिशत बकाया राशि की वसूली सुनिश्चित की जाए.

बकाया राशि की वसूली के लिए कुर्की की कार्रवाई के निर्देश:
उन्होंने कहा कि बकाया राशि की वसूली के कार्य में तेजी लाने के लिए अधिक लॉस वाले क्षेत्रों में जयपुर से तकनीकी व लेखा शाखा के अधिकारियों की टीम को भिजवाया जाएगा, जिसमें अधिशाषी अभियन्ता, सहायक अभियन्ता व लेखाधिकारी होंगे. इसमें से तकनीकी अधिकारी फील्ड में जाकर देखेगें कि बकाया क्यों है, कहीं पीडीसी के कनेक्शन चालू तो नही है. ये अधिकारी अधिक लॉस वाले फीडरों पर जाकर फीडर इंचार्ज व कनिष्ठ अभियन्ता के सहयोग से बकाया राशि की वसूली व कनेक्शनों को कटवाने का कार्य करवाएगे. इसके साथ ही लेखा शाखा के अधिकारी भी सब-डिवीजन कार्यालय से बकाया राशि की वसूली के लिए नोटिस देने व डीसी नोटिस जारी करने के कार्य की मानिटरिगं करेगे.  

- बकायादार उपभोक्ताओं के कनेक्शन पर चलेगी कैंची
- राजस्व वसूली के लिहाज से जयपुर डिस्कॉम प्रशासन सख्त
- सीनियर ऑफिसर्स की बैठक में डिस्कॉम एमडी ए के गुप्ता ने दिए निर्देश
- जिन उपभोक्ताओं के 2 माह से अधिक समय से बिल जमा नही हुए हैं
- उनके कनेक्शनों को नोटिस देकर काट दिया जाए
- इसके साथ ही बड़े भवनों व उद्योगो के पीडीसी कनेक्शनों पर भी हो कार्रवाई
- बकाया राशि की वसूली के लिए कुर्की की कार्रवाई के निर्देश
- डिस्कॉम के एटीएण्डसी लॉस में 1.5 प्रतिशत की कमी लाने का दिया ट्राग्रेट
- इसके लिए सभी अभियंताओं को फील्ड में विशेष फोकस के निर्देश 

और पढ़ें