Live News »

VIDEO: जयपुर जिला क्रिकेट संघ की कार्यकारिणी फेल, अब फिर होंगे चुनाव

जयपुर: पदाधिकारियों की आपसी विवाद के चलते जयपुर जिला क्रिकेट संघ की कार्यकारिणी काम करने में फेल हो गई और अब फिर चुनाव कराने का फैसला किया गया है. सवा तीन साल में तीसरी बार संघ के चुनाव होंगे. मुख्य सचेतक महेश जोशी की अध्यक्षता में आज हुई जेडीसीए की बैठक में संघ के फिर से चुनाव कराने का एलान किया गया. 15 फरवरी के आसपास चुनाव होने की संभावना है. 

अस्तित्व के लिए संघर्ष:
किसी समय राजस्थान के क्रिकेट जगत में सिरमौर रहा जयपुर जिला क्रिकेट संघ अब पदाधिकारियों के आपसी अनबन के चलते अपने अस्तित्व के लिए संघर्ष कर रहा है. दो साल पहले संघ के चुनाव हुए थे, लेकिन गुटबाजी इस कदर हावी रही कि न जिले की क्रिकेट चल सकी और न ही आरसीए में जयपुर संघ का इकबाल बुलंद रहा. 2016 तक जयपुर क्रिकेट राजस्थान में सिरमौर थी, लेकिन 10 सितंबर 2016 को हुए चुनाव के बाद ही गुटबाजी हावी हो गई थी. स्थिति यहां तक पहुंच गई कि कार्यकारिणी को भंग किया गया और 18 मार्च 2018 को फिर से संघ के चुनाव हुए. मुख्य सचेतक महेश जोशी अध्यक्ष व बिमल सोनी सचिव चुने गए, लेकिन बाकी पदाधिकारी दो ग्रुप में बंट गए. अब हालात यह हो गए कि दो साल से न टूर्नामेंट हुए और न ही जनरल बॉडी मीटिंग हो सकी.  पदाधिकारियों के वाद-विवाद, लगातार ठप्प होती क्रिकेट व कानूनी मामलों से आजीज आकर अब संघ के अध्यक्ष महेश जोशी ने ही इस कार्यकारिणी को भंग करके नए सिरे से चुनाव कराने की अपील कर डाली और राज्य खेल परिषद को पत्र भी लिख दिया था. वहीं दूसरी तरफ रजिस्ट्रार सहकारिता के यहां भी जेडीसीए के खिलाफ जांच चल रही है. ऐसे में आखिरकार यह फैसला किया गया संघ के चुनाव ही नए सिरे से कराए जाए.

विवादो का सिलसिला:
महेश जोशी व बिमल सोनी ने दावा किया है कि अब फरवरी में जब चुनाव होंगे तो निर्विरोध होंगे. चर्चा यह भी है कि अधिकांश पदाधिकारी मौजूदा कार्यकारिणी में से ही लिए जाएंगे. पूर्व सचिव मोहम्मद इकबाल व रामकिशन मीणा को नए कार्यकारिणी में जोड़ा जाएगा. दरअसल मोहम्मद इकबाल पिछला चुनाव एक वोट से हार गए थे और इसी कारण पदाधिकारियों में लगातार गुटबाजी चलती रही. ऐसे में जाना यह जा रहा है कि नए चुनाव से इकबाल की जेडीसीए में एंट्री कराई जाएगी. बुधवार को हुई कार्यकारिणी मीटिंग में 17 में से 14 पदाधिकारियों ने चुनाव के प्रस्ताव पर अपनी मुहर लगाई. तीन पदाधिकारियों ने प्रस्ताव पर साइन नहीं किए, लेकिन बाद में अपनी सहमति दे दी. जेडीसीए के नए चुनाव की घोषणा तो हो गई है, लेकिन दूसरी तरफ रजिस्ट्रार के यहां जांच भी चल रही है. ऐसे में अब देखना होगा कि इन सभी मुश्किलों के बीच क्या जयपुर क्रिकेट संघ पटरी पर लौट आएगा या विवादो का सिलसिला चलता रहेगा. 

... संवाददाता नरेश शर्मा की रिपोर्ट 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें
और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in