जयपुर जयपुर में ACB का बड़ा धमाका: प्रदेश के सबसे बड़े अस्पताल में रिश्वत के खेल का भंडाफोड़, देर रात SMS में मोटे घूसखोरों का किया इलाज

जयपुर में ACB का बड़ा धमाका: प्रदेश के सबसे बड़े अस्पताल में रिश्वत के खेल का भंडाफोड़, देर रात SMS में मोटे घूसखोरों का किया इलाज

जयपुर: प्रदेश के सबसे बड़े अस्पताल में देर रात रिश्वत (Bribery) के बड़े खेल का भंडाफोड़ हुआ है. ACB ने देर रात SMS अस्पताल (SMS Hospital) में मोटे घूसखोरों का इलाज किया है. FA सहित 3 अधिकारी 15.60 लाख रुपए की घूस लेते ट्रैप (ACB Action) हुए हैं. अधिकारियों की डिमांड सुनकर परिवादी ने मना कर दिया था. परिवादी ने इतनी रकम की व्यवस्था करने में असमर्थता जताई थी. 

इसके बाद ACB ने डमी करेंसी से कार्रवाई को अंजाम दिया. FA बृजभूषण शर्मा को 7.80 में से 5.30 लाख रुपए की डमी करेंसी दी. वहीं कैशियर अजय शर्मा को भी 7.80 में से 5.30 लाख रु. की डमी करेंसी दी. रिश्वतखोरों में रिश्वत की ऐसी भूख थी कि वे डमी करेंसी भी नहीं पहचान पाए. बृजभूषण शिवम नगर और अजय शर्मा महावीर नगर स्थित घर पर ट्रैप हुए है. RMRS प्रभारी एनेस्थीसिया मेडिकल ऑफिसर डॉ. अधोकक्षाज जोशी अभी फरार है. 

सरकार SMS अस्पताल में मरीज़ों को निशुल्क जांच सुविधा देती है. इसके लिए एक निजी सर्विस प्रोवाइडर कंपनी ने  मशीनें लगाई थी. मशीनों का 5 करोड़ से ज्यादा के बिलों को पास करने के लिए घूस मांगी थी. राज. मेडिकेयर सोसायटी के AAO प्रकाश शर्मा, कैशियर अजय शर्मा भी ट्रैप हुए हैं. घूस सीनियर मेडिकल ऑफिसर और RMRS इंचार्ज डॉ. जोशी के लिए ली जा रही थी.  कैशियर अजय शर्मा के घर सर्च में ACB को 50 लाख रुपए की नकदी मिली है. 

शर्मा की अस्पताल से जुड़ी हर बड़ी खरीद में अहम भूमिका थी:
शर्मा कोरोना काल से अस्पताल में फाइनेंस एडवाइजर की भूमिका में है. शर्मा की अस्पताल से जुड़ी हर बड़ी खरीद में अहम भूमिका थी. राजस्थान मेडिकल सर्विस कॉर्पोरेशन लिमिटेड में भी जिम्मेदारी दे दी. FA शर्मा RMSCLमें बतौर ED प्रोक्योरमेंट की जिम्मेदारी संभाले हैं.  ACB की अलग-अलग टीमें चार स्थानों पर सर्च की कार्रवाई कर रही है. सर्च में और भी नकदी और अकूत संपत्ति सामने आने की उम्मीद जताई जा रही है. इस पूरी कार्रवाई को ACB DG बीएल सोनी, ADG दिनेश एमएन के सुपरविजन में अंजाम दिया गया है. 

और पढ़ें