वैक्सीन पोस्टर वॉर में कांग्रेस के नेताओं के कूदने पर बीजेपी ने बोला हमला, कहा- सोशल मीडिया पर प्रोफाइल पिक्चर बदल राजनीति कर रहे कांग्रेस नेता

वैक्सीन पोस्टर वॉर में कांग्रेस के नेताओं के कूदने पर बीजेपी ने बोला हमला, कहा- सोशल मीडिया पर प्रोफाइल पिक्चर बदल राजनीति कर रहे कांग्रेस नेता

जयपुर: देश से बाहर भेजी गई वैक्सीन पर दिल्ली के बाद अब राजस्थान में भी सियासत तेज हो गई है. वैक्सीन पोस्टर वॉर (Vaccine Poster War) में राजस्थान कांग्रेस (Congress) नेताओं के कूदने के बाद अब बीजेपी (BJP) के नेताओं ने भी कांग्रेस पर हमला बोला है. उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ (Rajendra Rathore) ने आरोप लगाया है कि सोशल मीडिया (Social Media) पर प्रोफाइल पिक्चर (Profile Picture) बदल कर कांग्रेसी नेता निम्न स्तर की राजनीति का प्रदर्शन कर रहे हैं. 

उन्होंने नसीहत देते हुए कहा कि कांग्रेसी नेताओं को यह नहीं भूलना चाहिए की PM मोदी के कुशल नेतृत्व में ही भारत ने सबसे पहले वैक्सीन इजाद कर दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान की शुरुआत की. देश ने दो स्वदेशी वैक्सीन बनाकर समूचे विश्व को अचंभित किया था और अपने सामर्थ्य का लोहा मनवाया था. उन्होंने कहा कि भारत की ''वसुधैव कुटुम्बकम'' की सदियों पुरानी परंपरा रही है. कई छोटे और विकासशील देश जिनके पास वैक्सीन तैयार करने की कोई क्षमता नहीं थी उन्हें वैक्सीन भेजकर मानवता की मिसाल कायम की. जिससे विश्वभर में हिन्दुस्तान की साख बढ़ी. वहीं कांग्रेसी नेता कोरोना की आपदा को राजनीतिक अवसर मान बैठे. वो वैक्सीन को विदेश भेजने के नाम पर दुष्प्रचार कर रहे हैं. 

वैक्सीन निर्माता कंपनियों को क्रय आदेश देने में विलंब किया:
इससे आगे राठौड़ ने कहा कि पीएम मोदी की अध्यक्षता में मुख्यमंत्रियों की बैठक हुई थी. इसमें यह पहले ही निर्धारित हो चुका था कि वैक्सीनेशन के लिए 50 फीसदी वैक्सीन केन्द्र सरकार द्वारा राज्यों को मुफ्त उपलब्ध कराई जाएगी, शेष 50 फीसदी की व्यवस्था राज्य सरकारों को करनी होगी. इसके बावजूद राजस्थान में सरकार ने 18 से 45 तक के लोगों के लिए पर्याप्त व्यवस्था नहीं की. वैक्सीन निर्माता कंपनियों को क्रय आदेश देने में विलंब किया. जबकि देशभर में इस आयु वर्ग का वैक्सीनेशन 1 मई से ही प्रारंभ होना था. 

रामलाल शर्मा ने कहा- यह राजनीति करने का वक्त नहीं:
वहीं प्रदेश मुख्य प्रवक्ता रामलाल शर्मा (Ramlal Sharma) ने जवाब देते हुए कांग्रेस नेताओं से कहा कि यह राजनीति करने का वक्त नहीं, इंसान और इंसानियत को बचाने का वक्त है. कांग्रेस की इस राजनीति को देश की जनता अच्छी तरीके से देख रही है. पहले इस वैक्सीन को लेकर कांग्रेस नेताओं ने कहा कि हम जानवर नहीं जो इस वैक्सीन को लगाएंगे ! भारत के वैज्ञानिकों और देश की जनता का मनोबल गिराया था. कांग्रेस के नेता कम से कम भगवान से तो डरें. आने वाले समय में जनता पूछेगी कि जिस वक्त देश को बचाने की जरूरत थी उस वक्त कांग्रेस राजनीतिक क्यों कर रही थी?

वैक्सीन पोस्टर वॉर में राजस्थान कांग्रेस के नेता भी कूद पड़े: 
आपको बता दें कि वैक्सीन पर दिल्ली के बाद अब राजस्थान में भी सियासत तेज हो गई. वैक्सीन पोस्टर वॉर में राजस्थान कांग्रेस के नेता भी कूद पड़े हैं. दिल्ली में वैक्सीन बाहर भेजने पर पीएम मोदी से सवाल पूछने वाले पोस्टर लगाने वालों को गिरफ्तार करने के बाद ​राहुल गांधी ने इसका विरोध किया. इसके बाद राजस्थान कांग्रेस के नेता भी सक्रिय हो गए. कांग्रेस नेताओं ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट की डीपी पर भी दिल्ली वाला पोस्टर लगा रखा है. कांग्रेस नेताओं ने केंद्र सरकार और पीएम मोदी पर जमकर हमला बोला है.  

और पढ़ें