जयपुर कल से जयपुर आने वाले यात्रियों के लिए कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य, जयपुर एयरपोर्ट और रेलवे स्टेशनों पर लागू होगी व्यवस्था

कल से जयपुर आने वाले यात्रियों के लिए कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य, जयपुर एयरपोर्ट और रेलवे स्टेशनों पर लागू होगी व्यवस्था

कल से जयपुर आने वाले यात्रियों के लिए कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य, जयपुर एयरपोर्ट और रेलवे स्टेशनों पर लागू होगी व्यवस्था

जयपुर: आज रात 12 बजे से बाहरी राज्यों से आने वाले सभी यात्रियों के लिए प्रदेश में प्रवेश करने पर कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट होना अनिवार्य होगा. जयपुर एयरपोर्ट और जयपुर जंक्शन सहित सभी स्टेशनों पर कोरोना की रिपोर्ट जांची जाएगी. इस नई व्यवस्था में यात्रियों की रिपोर्ट जांचने में चिकित्सा विभाग की टीमों के लिए परेशानी बढ़ जाएगी. अधिकारी ये भी मान रहे हैं कि प्रैक्टिकली प्रत्येक यात्री की रिपोर्ट जांचने और नहीं होने पर इंस्टिट्यूशनल क्वारंटीन के लिए भेजने की व्यवस्था करने में काफी दिक्कतें होंगी. 

राज्य सरकार द्वारा रविवार शाम नोटिफिकेशन जारी कर 25 मार्च से रेलवे, एयरपोर्ट और बस यात्रियों के लिए जयपुर आने पर कोरोना रिपोर्ट निगेटिव लाना अनिवार्य किया गया है. लेकिन इस रिपोर्ट की सही तरीके से जांच होना मुश्किल है. ऐसा इसलिए क्योंकि जयपुर एयरपोर्ट और रेलवे स्टेशन, सभी जगहों पर इसकी जांच करने के लिए पर्याप्त संख्या में राज्य की चिकित्सा विभाग की टीमें उपलब्ध नहीं हैं. अभी तक केरल और महाराष्ट्र से आने वाले यात्रियों की ही एयरपोर्ट और रेलवे स्टेशनों पर सही तरीके से जांच नहीं की जा रही है. आज रात 12 बजे से अब सभी राज्यों से आने वाले यात्रियों की कोरोना निगेटिव रिपोर्ट देखी जाएगी. ऐसे में एयरपोर्ट, रेलवे और चिकित्सा विभाग को परेशानी होना तय है. 

यात्रियों की जांच के लिए चिकित्सा विभाग के 3 से 4 लोग मौजूद रहते हैं:
दरअसल अभी जयपुर एयरपोर्ट पर यात्रियों की जांच के लिए चिकित्सा विभाग के 3 से 4 लोग मौजूद रहते हैं. सुबह और शाम के समय एक ही समय में 5 से 6 फ्लाइट का आगमन आम बात है. ऐसे समय में अराइवल हॉल में यात्रियों की संख्या 600 से 700 तक हो जाती है. ऐसे में इस भीड़ को एयरपोर्ट के अराइवल हॉल में रोक कर रखना मुश्किलभरा साबित होगा. वहीं जयपुर स्टेशन पर ज्यादा परेशानी होगी. यहां यात्रियों के प्रवेश व निकास के लिए कई रास्ते हैं. यात्रियों के निकास करने के लिए प्लेटफॉर्म नंबर एक पर दो, पार्सल और मजिस्ट्रेट गेट के पास एक, रेलवे कॉलोनी की तरफ एक और हसनपुरा की तरफ एक गेट है. इन गेटों से यात्री प्रवेश भी कर सकते हैं. इन सभी गेटों पर राज्य सरकार को पर्याप्त चिकिस्ता टीमें लगानी होंगी. 

सभी की रिपोर्ट जांच करना काफी मुश्किल होगा:
सूत्रों के अनुसार इन सभी गेटों पर अगर टीमें तैनात भी कर दी जाती है, तो सभी की रिपोर्ट जांच करना काफी मुश्किल होगा. दूसरा यदि ट्रेन से आने वाला कोई यात्री अगर कोरोना की जांच नहीं करवाकर आता है, तो उसकी जांच करने और अगर रिपोर्ट पॉजिटिव आती है तो आगे क्या किया जाएगा ? इस संबंध में अभी तक राज्य सरकार द्वारा ना तो रेलवे और न ही एयरपोर्ट प्रशासन को कोई दिशा निर्देश दिए गए हैं. अभी तक एयरपोर्ट प्रशासन और रेलवे के साथ राज्य सरकार की ओर से इस संबंध में कोई दिशा-निर्देश या बैठक नहीं की गई है. इससे पहले सोमवार को जयपुर स्टेशन पर विभिन्न राज्यों से आए हुए लोगों की जांच रिपोर्ट आई थी. जिसमें से 23 यात्रियों की पॉजिटिव रिपोर्ट पाई गई. इनके ये सैंपल मेडिकल टीम ने 20 मार्च को लेकर लैब में भेजे थे. ऐसे में अगर मेडिकल और सुरक्षा विभाग ने थोड़ी भी लापरवाही की तो प्रदेश में कोरोना का प्रकोप और बढ़ सकता है. 

...फर्स्ट इंडिया न्यूज के लिए काशीराम चौधरी की रिपोर्ट

और पढ़ें