Jaipur: होली के लिए ट्रेनें अभी से फुल, लंबी दूरी की अधिकांश ट्रेनों में नहीं मिल रही सीट

Jaipur: होली के लिए ट्रेनें अभी से फुल, लंबी दूरी की अधिकांश ट्रेनों में नहीं मिल रही सीट

जयपुर: होली अभी 23 दिन दूर है, जिन्हें होली का त्यौहार मनाने अपने घर जाना है, वे रेलवे स्टेशनों पर सीट पाने के लिए प्रयास कर रहे हैं, लेकिन ट्रेनें फुल हो चुकी हैं. खासतौर पर उत्तरप्रदेश, बिहार और बंगाल की ट्रेनों में सीट उपलब्ध नहीं हैं. 

यह हर बार होता है और इस बार भी हो चुका है. आम यात्रियों के लिए त्यौहार पर घर पहुंचना मुश्किल है. ऐसे में दलाल अपनी जेबें भर रहे हैं. होली में हालांकि अभी भी 23 दिन बचे हैं. यात्री अभी ट्रेनों में सीटें कराने के लिए पहुंचने लगे हैं, लेकिन उससे पहले ही ट्रेनें फुल हो चुकी हैं. उत्तर-पश्चिम रेलवे की ओर से संचालित होने वाली कोलकाता, लखनऊ, कानपुर, वाराणसी, पटना, जम्मूतवी आदि शहरों के लिए ट्रेनें फुल हो चुकी हैं. यहां तक कि ट्रेनों में प्रतीक्षा सूची 100 तक पहुंच चुकी है. ऐसे में ट्रेनों में सीट कन्फर्म होने की सोचना ही बेमानी है. किसी भी ट्रेन में स्लीपर क्लास में अधिकतम 30 से 50 तक की प्रतीक्षा सूची के ही कन्फर्म होने की संभावना मानी जा सकती है. लेकिन 80 से 90 तक की प्रतीक्षा सूची के कन्फर्म होने की संभावना लगभग नगण्य होती है. 

कई दलाल यात्रियों को कन्फर्म सीट का टिकट उपलब्ध करवाने की बात कह रहे:
हालांकि जयपुर जंक्शन के सामने कई दलाल यात्रियों को कन्फर्म सीट का टिकट उपलब्ध करवाने की बात कह रहे हैं. दरअसल, होली पर जयपुर से जाने वाले यात्रियों में सबसे ज्यादा संख्या उत्तरप्रदेश और बिहार के यात्रियों की रहती है और इन्हीं प्रदेशों के लिए जाने वाली ट्रेनों में सबसे ज्यादा प्रतीक्षा सूची दिख रही है. इसके अलावा आश्चर्यजनक रूप से जम्मूतवी की ट्रेन में भी लम्बी वेटिंग है. लोग इस त्यौहार के मौके पर मां वैष्णों देवी के दर्शन करने के लिए टिकट बुक करवा रहे हैं. 

28 मार्च को होली से पहले 26 मार्च को किस ट्रेन में सीट उपलब्ध-
- जयपुर से कोलकाता के लिए ट्रेन 02386 जोधपुर-हावड़ा में सीट नहीं
- स्लीपर के लिए 73, थर्ड एसी के लिए 17 वेटिंग
- ट्रेन 02388 बीकानेर-हावड़ा में स्लीपर में 84 वेटिंग, थर्ड एसी में 20 वेटिंग
- वैष्णों देवी के लिए जम्मूतवी पूजा सुपरफास्ट में लम्बी वेटिंग
- स्लीपर क्लास में 75, थर्ड एसी में 22 चल रही वेटिंग
- जयपुर से लखनऊ के लिए ट्रेन 04864 जोधपुर-वाराणसी मरुधर में वेटिंग
- स्लीपर में 69, थर्ड एसी में 10 वेटिंग
- लखनऊ के लिए ट्रेन 09715 जयपुर-गोमतीनगर में स्लीपर में 63 वेटिंग
- लखनऊ की ट्रेन 09269 पोरबंदर-मुजफ्फरपुर में स्लीपर में 99, थर्ड एसी में 32 वेटिंग
- पटना के लिए ट्रेन 02396 राजेन्द्रनगर पटना में स्लीपर में 50, थर्ड एसी में 14 वेटिंग
- वाराणसी के लिए ट्रेन 04864 जोधपुर-वाराणसी मरुधर में स्लीपर में 69 वेटिंग

ट्रेनों में लम्बी प्रतीक्षा सूची को देखते हुए अब रेलवे प्रशासन को ट्रेनें बढ़ाने की जरूरत है. दरअसल, कोरोना काल से पहले जयपुर जंक्शन से रोजाना 105 ट्रेनों का संचालन होता था, लेकिन अभी रोजाना औसतन 65 ट्रेनें संचालित हो रही हैं. ऐसे में होली पर लंबी प्रतीक्षा सूचियों को या तो मौजूदा ट्रेनों में ही कोच बढ़ाने होंगे, या फिर पहले बंद की गई ट्रेनों को नए सिरे से शुरू करना होगा.

...काशीराम चौधरी, फर्स्ट इंडिया न्यूज, जयपुर

और पढ़ें