जयपुर एक था "नींबू" ! बादाम के भावों को टक्कर दे रहा नींबू, तोड़े अभी तक के सभी रिकॉर्ड

एक था "नींबू" ! बादाम के भावों को टक्कर दे रहा नींबू, तोड़े अभी तक के सभी रिकॉर्ड

एक था

जयपुर: गर्मी बढ़ने के साथ ही नींबू के दाम आसमान छू रहे हैं. ऐसे में नींबू भी महंगाई की मार से नहीं बच पाया है. अगर इसी तरह से नींबू के भाव बढ़ते रहे तो आम लोगों के लिए यह कहावत चरितार्थ हो जाएगी एक था "नींबू" ! नींबू के भावों ने अभी तक के सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं. नींबू खुदरा में 400 रुपए किलो बिक रहा है. इस मौसम में जहां नींबू के भाव 50 से 60 रुपए किलो रहता था वह अब बादाम के भावों को टक्कर दे रहा है. इसी के चलते नींबू सामान्य परिवारों की रसोई से गायब हो गया है. गर्मियों में डिमांड बढ़ने और आवक कम होने से नींबू महंगा हुआ है. 

आपको बता दें कि चैत्र नवरात्रि का पर्व एवं रमजान का महीना शुरू होने के साथ ही गर्मी के तेवर तेज होते ही ग्रामीण क्षेत्रों में रसदार फलों के भाव बढ़ने लगे हैं. जिनमें नींबू के भाव सर्वाधिक उछाल पर है. इसकी सबसे बड़ी वजह यह भी बताई जा रही है कि गर्मी तेज होने से नींबू के उत्पादन पर प्रभाव पड़ा है. जिससे उसके उत्पादन में कमी आई है. जिससे नींबू की मांग बढ़ने से नींबू की कीमतें आसमान छू रहीं है. 

ट्रांसपोर्ट का खर्च बढ़ने के कारण नींबू की कीमतों में इजाफा देखने को मिल रहा: 
सब्जी विक्रेताओं का कहना है कि आमतौर पर गर्मियों के मौसम में सब्जियों की कीमतों में उछाल देखने को मिलता है, लेकिन इस बार नींबू के दाम बढ़ने के पीछे गर्मी के अलावा स्थानीय नींबू की पैदावार देरी से होने व पेट्रोल-डीजल की कीमतों में इजाफा माना जा रहा है. ट्रांसपोर्ट का खर्च बढ़ने के कारण नींबू की कीमतों में इजाफा देखने को मिल रहा है. आने वाले समय में अगर बढ़ रही तेल की कीमतें नहीं थमी तो नींबू के साथ अन्य सब्जियों के दाम में बढ़ोतरी होने की संभावना है. 

और पढ़ें