जयपुर VIDEO: लगातार 5वें साल फिसड्डी जयपुर एयरपोर्ट! कोचीन एयरपोर्ट रहा एशिया पेसिफिक में अव्वल, देखिए ये खास रिपोर्ट

VIDEO: लगातार 5वें साल फिसड्डी जयपुर एयरपोर्ट! कोचीन एयरपोर्ट रहा एशिया पेसिफिक में अव्वल, देखिए ये खास रिपोर्ट

जयपुर: विश्व के सबसे बेहतर एयरपोर्ट्स को लेकर किए जाने वाले सर्वेक्षण के परिणाम जारी हो गए हैं. जयपुर एयरपोर्ट इस बार भी फिसड्डी साबित हुआ है. जयपुर एयरपोर्ट इस सर्वेक्षण में लगातार पांचवें साल पिछड़ा है. इस बार के सर्वेक्षण में कोचीन एयरपोर्ट एशिया महाद्वीप में अव्वल रहा है. वर्ष 2015 और 2016 में लगातार दो साल तक विश्व का नंबर 1 एयरपोर्ट रहने वाले जयपुर एयरपोर्ट की रैंक इस बार भी पिछड़ी रही है. जयपुर अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर पिछले 5 साल में यात्रियों और फ्लाइट्स की संख्या में तो वृद्धि हुई है, लेकिन उस अनुपात में एयरपोर्ट पर यात्री सुविधाओं में बढ़ोतरी नहीं हो रही है. इस कारण जयपुर अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट की वर्ल्ड रैंकिंग कम होती जा रही है. यह सर्वेक्षण एसीआई यानी एयरपोर्ट काउंसिल इंटरनेशनल द्वारा किया गया है, जिसमें विश्वभर के सभी प्रमुख एयरपोर्ट शामिल रहे हैं. 

एयरपोर्ट सर्विस क्वालिटी सर्वेक्षण यात्रियों से 33 मानकों पर ली गई राय के आधार पर किया गया है. सर्वेक्षण में यात्रियों के एयरपोर्ट पहुंचने के लिए आवागमन के साधन, पार्किंग सुविधा, एयरपोर्ट पर सुरक्षा व्यवस्था, गेट पर चैकिंग की व्यवस्था, लगेज स्कैनिंग में लगने वाला समय, चैक इन में लगने वाला समय, एयरपोर्ट स्टाफ का व्यवहार, खान-पान और शॉपिंग की सुविधाओं आदि को लेकर 33 मानकों पर यात्रियों से राय ली जाती है. जयपुर एयरपोर्ट सर्वेक्षण के 50 लाख से 150 लाख सालाना यात्रीभार वाले एयरपोर्ट्स की श्रेणी में शामिल है. वर्ष 2021 के सर्वेक्षण में जयपुर एयरपोर्ट पिछड़ गया है.

ACI के ASQ सर्वेक्षण में कौन रहा अव्वल ?:
- 50 लाख से 150 लाख यात्रीभार वाले एयरपोर्ट्स की श्रेणी के परिणाम
- कोचीन इंटरनेशनल एयरपोर्ट रहा एशिया पेसिफिक में नंबर 1
- इसी श्रेणी में सरदार वल्लभ भाई पटेल एयरपोर्ट अहमदाबाद रहा नंबर 2
- जयपुर एयरपोर्ट इसी श्रेणी में है शामिल, लेकिन नहीं रहा विजेता
- इस श्रेणी में इंडोनेशिया के 3 एयरपोर्ट भी रहे विजेता
- जयपुर एयरपोर्ट वर्ष 2015 और 2016 में रहा था अवार्ड विजेता
- तब 20 से 50 लाख यात्रीभार की श्रेणी में विजेता रहा था जयपुर एयरपोर्ट
- इस बार 20 से 50 लाख की श्रेणी में चंडीगढ़ एयरपोर्ट रहा विजेता
- 1.5 से 2.5 करोड़ यात्रीभार की श्रेणी में हैदराबाद एयरपोर्ट विजेता
- 4 करोड़ से ज्यादा यात्रीभार की श्रेणी में दिल्ली व मुंबई एयरपोर्ट को भी मिला अवार्ड

आपको बता दें कि एयरपोर्ट काउंसिल इंटरनेशनल के इस सर्वेक्षण में विजेता रहे एयरपोर्ट्स को ट्रॉफी और राशि देकर सम्मानित किया जाता है. यह सम्मान समारोह अगस्त या सितंबर माह में होता है. एयरपोर्ट काउंसिल इंटरनेशनल द्वारा सर्वेक्षण परिणाम जारी करने से पहले एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने सर्वेक्षण के वार्षिक परिणाम जारी किए थे. इन परिणामों में जयपुर एयरपोर्ट की रैंकिंग पिछले साल के मुकाबले थोड़ी सुधरी थी. ऐसे में यह लग रहा था कि इस बार जयपुर एयरपोर्ट सर्वेक्षण में आगे रह सकता है. 

एयरपोर्ट अथॉरिटी के परिणामों में यह रही थी रैंक:
- वर्ष 2021 के सर्वेक्षण में जयपुर एयरपोर्ट की वर्ल्ड रैंक रही 70
- इससे पहले वर्ष 2020 के सर्वेक्षण में जयपुर एयरपोर्ट की रैंक थी 73
- त्रिवेन्द्र एयरपोर्ट की वर्ल्ड रैंकिंग थी 50
- इसके बाद गोवा एयरपोर्ट की वर्ल्ड रैंकिंग थी 54

कुलमिलाकर सर्वेक्षण के इन परिणामों ने साफ कर दिया है कि जयपुर एयरपोर्ट पर अपेक्षाकृत रूप से यात्री सुविधाएं बेहतर नहीं हैं. ऐसे में जब तक यात्री सुविधाओं को नहीं सुधारा जाएगा, तब तक एयरपोर्ट की रैंक सुधरना मुश्किल है. हालांकि अडानी समूह का कहना है कि उन्हें एयरपोर्ट का संचालन संभाले हुए अभी 5 माह ही हुए हैं. वर्ष 2021 की अंतिम तिमाही में संचालन संभाला था, ऐसे में यात्री सुविधाओं में लगातार सुधार किए जा रहे हैं. देखना होगा कि सर्वेक्षण के इन परिणामों से जयपुर एयरपोर्ट प्रशासन क्या सबक लेता है और आगामी वर्ष के सर्वेक्षण में किस तरह अपनी रैंक सुधारने की कवायद की जाएगी.

और पढ़ें