जयपुर VIDEO:  देश में 15वीं रैंक पर जयपुर एयरपोर्ट, पिछले साल के मुकाबले 11 लाख यात्री बढ़े, देखिए ये खास रिपोर्ट

VIDEO:  देश में 15वीं रैंक पर जयपुर एयरपोर्ट, पिछले साल के मुकाबले 11 लाख यात्री बढ़े, देखिए ये खास रिपोर्ट

जयपुर: वित्त वर्ष 2021-22 के यात्रीभार और फ्लाइट संचालन के आंकड़े जारी हो गए हैं. देश के सबसे व्यस्त एयरपोर्ट की सूची में जयपुर एयरपोर्ट 15वें पायदान पर रहा है. एयर ट्रैफिक पैसेंजर रिपोर्ट में जयपुर एयरपोर्ट से यात्रियों की संख्या 30 लाख भी नहीं पहुंच सकी है. यह पटना और श्रीनगर जैसे अपने से छोटे एयरपोर्ट से भी पीछे रह गया है. कोरोना वायरस महामारी ने एविएशन इंडस्ट्री का बड़ा नुकसान किया है. इसका असर पिछले वित्त वर्ष में एविएशन सेक्टर पर दिखाई दिया है. मार्च में समाप्त हुए वित्त वर्ष में कोरोना के कारण जयपुर अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर इसका बड़ा नुकसान देखने को मिला है. 

एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने देश के सबसे व्यस्त एयरपोर्ट की जो सूची जारी की है, उसमें जयपुर एयरपोर्ट को 15वीं रैंक मिली है. दरअसल वर्ष 2018-19 और 2019-20 में जयपुर अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट 50 लाख से 150 लाख सालाना यात्रीभार वाले एयरपोर्ट की श्रेणी में शामिल रहा था. लेकिन वित्त वर्ष 2020-21 में कोरोना के अत्यधिक असर के चलते यात्रीभार में जबरदस्त गिरावट रही. यहां तक कि जयपुर एयरपोर्ट पर यात्रीभार 20 लाख तक भी नहीं पहुंच सका था. पिछले वित्त वर्ष की तुलना में इस वित्त वर्ष में यात्रीभार में करीब 11 लाख यात्रियों की बढ़ोतरी हुई है, जो संतोषजनक कही जा सकती है. लेकिन देश के दूसरे एयरपोर्ट्स से तुलना करें तो जयपुर एयरपोर्ट की परफॉर्मेंस कमजोर रही है.

जयपुर से इस तरह गिरा कुल यात्रीभार:
- वर्ष 2018-19 में कुल 54.71 लाख यात्रियों ने यात्रा की जयपुर से
- वर्ष 2019-20 में 50.31 लाख रही यात्रियों की संख्या
- वर्ष 2020-21 में कोरोना के चलते यात्रीभार रहा मात्र 18.50 लाख
- इस वित्त वर्ष 2021-22 में यात्रीभार रहा है 29.43 लाख
- इस तरह पिछले वित्त वर्ष की तुलना में 10.93 लाख यात्री बढ़े
- लेकिन कोविड पूर्व की तुलना में 20 लाख से भी ज्यादा यात्रीभार घटा

जयपुर अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर यात्रियों की संख्या में कमी से यह देश में 15वें स्थान पर रहा है. दरअसल कोविड से पूर्व लखनऊ, गुवाहाटी, जयपुर और त्रिवेंद्रम एयरपोर्ट लगभग समकक्ष एयरपोर्ट की श्रेणी में शामिल थे. इन सभी एयरपोर्ट पर यात्रियों की संख्या और विमानों का आवागमन लगभग समान ही रहता है. वहीं पटना और श्रीनगर एयरपोर्ट जयपुर की तुलना में छोटे एयरपोर्ट की श्रेणी में शामिल थे. लेकिन इस बार गुवाहाटी और लखनऊ ही नहीं, बल्कि श्रीनगर और पटना एयरपोर्ट पर भी यात्रीभार जयपुर से ज्यादा रहा है. वर्ष 2017-18 में जयपुर एयरपोर्ट देश में 11वें स्थान पर था. 

देश में 15वें स्थान पर आया जयपुर एयरपोर्ट:
- दिल्ली, मुम्बई, बेंगलूरु, हैदराबाद, कोलकाता टॉप 5 एयरपोर्ट
- टॉप 6 से 10 तक चेन्नई, अहमदाबाद, गोवा, कोचीन और पुणे एयरपोर्ट
- लखनऊ 11वें, श्रीनगर 12वें, गुवाहाटी 13वें और पटना 14वें स्थान पर
- इस तरह जयपुर एयरपोर्ट रहा 15वें स्थान पर
- समकक्ष एयरपोर्ट्स की तुलना में पिछड़ा जयपुर एयरपोर्ट
- लखनऊ एयरपोर्ट पर यात्रीभार रहा 33.03 लाख
- श्रीनगर एयरपोर्ट पर यात्रीभार रहा 31.58 लाख
- गुवाहाटी एयरपोर्ट पर यात्रीभार रहा 31.48 लाख
- पटना एयरपोर्ट पर यात्रीभार रहा 29.67 लाख
- और जयपुर एयरपोर्ट पर यात्रीभार रहा 29.43 लाख

कुलमिलाकर जिन लखनऊ, गुवाहाटी, पटना, श्रीनगर एयरपोर्ट से अब तक जयपुर आगे चल रहा था, अब उनसे पिछड़ गया है. हालांकि फरवरी 2022 के बाद जयपुर एयरपोर्ट से यात्रीभार में लगातार बढ़ोतरी देखने को मिल रही है. अप्रैल माह में भी जयपुर एयरपोर्ट से रोज औसतन 52 घरेलू और 3 इंटरनेशनल फ्लाइट चल रही हैं, ऐसे में मौजूदा वित्त वर्ष में जयपुर एयरपोर्ट से अच्छा उछाल देखने को मिल सकता है. 

और पढ़ें