जयपुर यूनिवर्सिटी की परीक्षाओं पर सरकार ने लिया फैसला, देनी होगी अंतिम वर्ष के छात्रों को Exam

यूनिवर्सिटी की परीक्षाओं पर सरकार ने लिया फैसला, देनी होगी अंतिम वर्ष के छात्रों को Exam

  यूनिवर्सिटी की परीक्षाओं पर सरकार ने लिया फैसला, देनी होगी अंतिम वर्ष के छात्रों को Exam

जयपुर: कोरोना के कारण कई परिक्षाएं जहां रद्द हुई है वही पर छात्रों को बिना परिक्षा के ही अगली कक्षा में भी प्रमोट किया गया. ऐसे में राजस्थान 20 लाख विद्यार्थियों की परिक्षा पर चल रहा संशय खत्म हो गया है. विश्वविद्यालयों की परिक्षाओं को लेकर शिक्षा विभाग ने अपना फैसला ले लिया है. उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी ने प्रेस वार्ता आयोजित कर कहा है कि अंतिम वर्ष के छात्रों की परिक्षा लगेगी. 

देनी होगी अंतिम वर्ष के छात्रों को परिक्षा:
भंवर सिंह भाटी ने प्रेस वार्ता के दौरान बताया कि परिक्षाएं करवाने के फैसले को लेकर बनाई गई कमेटी की रिर्पोट के अनुसार अंतिम वर्ष के छात्रों को परिक्षा देनी होगी. वही पर प्रथम वर्ष के छात्रों को 12वीं के अंकों के आधार पर अगली कक्षा में प्रमोट किया जाएगा. बताया कि अंतिम वर्ष के छात्रों की परिक्षा जुलाई माह मे आयोजित होगी इसके लिए विभाग ने सारी तैयारी कर ली है.

सेकंड ईयर के छात्र होंगे प्रोविजनल प्रमोट:
भाटी ने जानकारी देते हुए बताया कि द्वितीय वर्ष के छात्रों को प्रोविजल प्रमोट किया जाएगा. उसके बाद यदि दिसंबर में स्थिति अनुकुल रही तो उनकी परिक्षाएं ली जा सकेंगी. अगर ऐसा होता है तो ऑब्जेटिव विकल्प के आधार पर परिक्षाएं होंगी. परीक्षा अवधि को 3 घंटे की जगह 1:30 घण्टा किया गया है. एक ही दिन में 2 पेपर आयोजित करवाने का लिया निर्णय लिया गया है. 

50 प्रतिशत प्रश्न हल करने की भी परमिशन भी दी जाएगी. बताया कि 
कोरोना पॉजिटिव वाले छात्रों की अलग से परीक्षा होगी. ये फैसला अंतिम वर्ष के विद्यार्थियों के लिए लिया गया है.

और पढ़ें