जैसलमेर Jaisalmer: रोहिताश बॉर्डर पर BSF जवानों से अमित शाह ने की मुलाकात, सैनिक सम्मेलन में लिया हिस्सा

Jaisalmer: रोहिताश बॉर्डर पर BSF जवानों से अमित शाह ने की मुलाकात, सैनिक सम्मेलन में लिया हिस्सा

Jaisalmer: रोहिताश बॉर्डर पर BSF जवानों से अमित शाह ने की मुलाकात, सैनिक सम्मेलन में लिया हिस्सा

जैसलमेर:  केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह दो दिवसीय जैसलमेर दौरे पर शनिवार को जैसलमेर पहुंचे. तय कार्यक्रम के अनुसार दोपहर करीब ढाई बजे वे जैसलमेर एयरफोर्स स्टेशन पहुंचे. यहां उनकी भाजपा नेताओं ने अगवानी की. यहां विशेष विमान से पहुंचे गृह मंत्री शाह यहां से सीधे तनोट माता के मंदिर दर्शन करने को रवाना हुए. यहां से वे हेलीकॉप्टर से दोपहर साढ़े तीन बजे तनोट क्षेत्र पहुंचे और यहां तनोट माता के मंदिर में दर्शन किया. यहां पहुंचने पर सीमा सुरक्षा बल के सुरक्षा प्रहरियों ने उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया. 

गौरतलब है कि पाक सीमा से सटे सरहदी जैसलमेर जिले में आने से पूर्व उन्होंने ट्वीट किया था कि अपने दो दिवसीय प्रवास पर वीरभूमि राजस्थान में रहूंगा, जिसमें आज जैसलमेर में बीएसएफ के बॉर्डर आउट पोस्ट पर बहादुर जवानों से मुलाकात करुंगा. तनोट क्षेत्र में शाह ने वीर जवानों की स्मृति में विजय स्तंभ पर पुष्प चक्र अर्पित कर शहीदों को श्रद्धांजलि दी. शाह के साथ केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्रसिंह शेखावत व बीएसएफ के अधिकारी भी मौजूद रहे. सफेद कुर्ते पायजामे व हॉफ जेकेट पहने शाह ने बीएसएफ की टोपी भी पहन रखी थी. वे मंदिर में कुछ देर रुके और करीब दस मिनट तक विधिवत पूजा अर्चना की. उन्होंने सुरक्षा प्रहरियों के साथ फोटो भी खिंचवाई और हौसला अफजाई की. गृह मंत्री के सरहदी जिले में दौरे को लेकर सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट मोड पर है. उनके आगमन व ठहराव को देखते हुए तनोट क्षेत्र में सुरक्षा प्रबंध कड़े किए गए और निगरानी तंत्र को बढ़ाया गया. यहां से वे रोहिताश चौकी के लिए रवाना हुए. 

रोहतास बॉर्डर पर सनसेट देखा
गृहमंत्री अमित शाह शनिवार दोपहर 3:30 बजे तनोट माता मंदिर से दर्शन किए. शाम 5 बजे वे रोहतास बॉर्डर पहुंचे. यहां से वे सेंड मोर्चा नंबर तीन पर सनसेट देखने निकले. भारत-पाकिस्तान सीमा पर तारबंदी पर पहुंचे. यहां उन्होंने तारबंदी के साथ शिफ्टिंग सेंड्यूज की जानकारी ली. इसके बाद वे यहां से सैनिक सम्मेलन में पहुंचे. यहां सेना के जवानों से मुलाकात करेंगे. रात्रि विश्राम वे रोहतास बॉर्डर पोस्ट पर बिताएंगे. रोहतास अंतरराष्ट्रीय सीमा पर BSF के जवानों से मिले. शाह ने यहां सनसेट और पेट्रोलिंग भी देखी. यह पहला मौका है, जब कोई गृहमंत्री सीमा चौकी पर रात्रि विश्राम करेंगे. BSF के अधिकारियों से शाह ने बॉर्डर से जुड़ी सभी जानकारी ली. सरहद स्थित चौकियों का निरीक्षण किया. जवानों से मुलाकात में अमित शाह ने बॉर्डर पर आने वाली कठिनाइयों के बारे में भी बात की . रोहिताश बॉर्डर पर बने सीमा पॉइंट से सनसेट के लिए पहुचे.  केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत भी साथ मौज़ूद रहे. इसके बाद गृह मंत्री अमित शाह पहुंचे रोहताश चैक पोस्ट पहुंचे. अमित शाह ने कहा की इसके पीछे छोटा सा संवेदनशील संदेश है. जो जवान ज़ीरो और 50 डिग्री में देश की सेवा करते है. उसके परिवार की जिम्मेदारी की चिंता उसे ना हो अच्छे आवासों की व्यवस्था भी हम करने जा रहे हैं. BSF को अभी तक 4 लाख 50 हजार स्वास्थ्य कार्ड दे दिए गए हैं. यह ऐसी पोस्ट है जहां जवानों ने वीरता का माइलस्टोन बनाया है. बहुत कठिन पोस्ट है,रेत दरकती है,फेंसिंग भी दब जाती है. जब थकान होती है तो आपको लगता होगा BSF की नौकरी क्यों की?"आपकी वजह से देश के 130 करोड़ लोग चैन से सोते हैं. यह भाव सिर्फ मेरे मन में नहीं है,सभी देशवासियों के हैं. मोदी जी के नेतृत्व में देश हर मोर्चे पर तरक्की कर रहा है. देश का इतिहास जब लिखा जाएगा. आपका नाम स्वर्णिम अक्षरों में लिखा जाएगा. 

सैनिक सम्मेलन में लिया भाग 
शाह बोले कि आप लोगों के साथ खाना खाना है. वे बोले कि आप जहां तैनात है वो पूरे देश में वीरों की भूमि के रूप में जानी जाती है. सालों तक यहां न झुकने का सिलसिला चालू रहा है. सिर कटा दिए है लेकिन झुकाएं नहीं है. राजस्थान ऐसे वीरों की भूमि है. सैनिक सम्मेलन के बाद गृहमंत्री नेजवानों के साथ बैठकर खाना खाया और बातचीत भी की. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का संबोधन में कहा की पूरे देश को BSF के जवानों पर गर्व है. आज मैं आपके बीच एक रात रहने आया हूं. एक प्रयास है आपकी कठिनाई भरी जिदंगी को समझकर कुछ कठिनाइयों को कैसे कम किया जा सकता है. आज ऐसी चौकी पर आया हूं. 

"जिसका स्वर्णिम अक्षरों में नाम लिखा है.  केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा की जो खाना आप खाते हो,वही मैं आज खाऊंगा. जिस जगह पर आप कार्यरत हो,वह जगह वीरों की धरती के नाम से जानी जाती है.  सिर कटा दिए लेकिन सिर झुकाए नहीं है. ऐसा इतिहास यहां का रहा है. इस इतिहास को आपने भी कायम रखा है. आपके जज्बे और समर्पण के लिए बहुत बधाई आपको. यहां आकर बहुत संतोष हुआ है" आपकी कठिनाइयों को नजदीक से देखा है आज PM ने कहा था कठिनाइयों को देखने खुद जाओ.

जैसलमेर दौरे पर आए गृहमंत्री अमित शाह ने जवानों को दो बड़ी सौगात दी 
जैसलमेर दौरे पर आए गृहमंत्री अमित शाह ने जवानों को दो बड़ी सौगात दी है. BSF सहित अर्धसैनिक बलों के जवान अब परिवार के साथ 100 दिन रह पाएंगे. जैसलमेर दौरे पर आए गृहमंत्री अमित शाह शनिवार को रोहतास चौकी पहुंचे. यहां सैनिक सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि एक साल में 100 दिन सेना के जवान अपने परिवार के साथ रह पाए, इसकी भी व्यवस्था हम कर रहे हैं. उन्होंने आर्मी को हेल्थ कार्ड की भी सौगात दी है. शाह बोले कि भी जवानों का कैशलेस इलाज होगा. इसके लिए फरवरी महीने तक करीब 25 लाख कार्ड जारी किए जाएंगे. इसके तहत सेना के जवान अपने परिवार के लोगों का निशुल्क इलाज करा सकेंगे. उन्होंने सैनिक सम्मेलन में तनोट माता मंदिर के चमत्कार का भी जिक्र किया. जवानों को संबोधित करते हुए बोले कि आज मैं यहां आप लोगों के बीच में भारत-पाकिस्तान सीमा पर एक रात रहने आया हूं. दरअसल, यह एक प्रयास है. अपाकी कठिनाई भरी जिंदगी को समझ कर, उन कठिनाइयों को हम कैसे कम कर सकते हैं. उन्होंने बताया कि बीसीएफ को अब तक साढ़े चार लाख हेल्थ कार्ड दे चुके हैं. फरवरी तक सभी के परिवार सदस्यों तक यह कार्ड पहुंच जाए.  केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने एक बहुत बड़ा निर्णय किया है कि CAPF के सभी जवानों और उनके परिवारों को भी एक अलग-अलग आयुष्मान कार्ड दिया जाएगा. इससे वो अस्पतालों में अपना और अपने परिवार का इलाज करा सकते हैं. अमित शाह ने कहा कि बीएसएफ को अब तक लगभग 4.5 लाख स्वास्थ्य कार्ड दिए जा चुके हैं. मुझे विश्वास है कि फरवरी के अंत तक हम सभी जवानों और उनके परिवारों को कार्ड उपलब्ध कराने के लक्ष्य को पूरा कर सकेंगे. 

वही केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह का संबोधन में कहा,"रोहिताश चैक पोस्ट के लिए आज ऐतिहासिक दिन है. सर्दी-गर्मी दोनों कठिन मौसमों में BSF के जवान तैनात रहते हैं. अगर भारत के गृह मंत्री खुद आकर आपको संभालें..तो जवानों के मनोबल में और इजाफा होता है. यहां सिर कटाएं है, झुकाएं नहीं है. 

रोहिताश पोस्ट से सुबह जैसलमेर एयरफोर्स स्टेशन के लिए रवाना होंगे
जैसलमेर यात्रा के दूसरे दिन गृह मंत्री अमित शाह रोहिताश पोस्ट से सुबह 7:55 बजे जैसलमेर एयरफोर्स स्टेशन के लिए रवाना होंगे. इसके बाद वह स्टेशन से गाड़ी द्वारा सुबह 8:30 बजे तक BSF 154 बटालियन में आयोजित कार्यक्रम में शामिल होंगे. सुबह 9:20 बजे वे पूनम सिंह स्टेडियम में BSF के 57वें स्थापना दिवस समारोह पर राइजिंग डे परेड कार्यक्रम में शामिव होंगे. गृह मंत्री अमित शाह राइजिंग डे परेड की सलामी लेंगे. अमित शाह पूनमसिंह स्टेडियम BSF राइजिंग डे परेड के अलावा कई हैरतअंगेज कार्यक्रमों को देखेंगे.

और पढ़ें