Live News »

जैसलमेर एसपी ने सभी थानों को किया अलर्ट, चौकसी बढ़ाने के निर्देश

जैसलमेर एसपी ने सभी थानों को किया अलर्ट, चौकसी बढ़ाने के निर्देश

जैसलमेर: राजस्थान में आतंकी घुसपैठ की आशंका के बाद से राजस्थान में हाई अलर्ट है. गुजरात की सीमाएं सील करने के बाद आज जैसलमेर पुलिस ने भी अलर्ट जारी करते हुए सभी संबंधित थानों को आतंकी के स्केच के साथ अलर्ट रहने के निर्देश दिये हैं. 

आतंकी घुसपैठ की आशंका के बाद से राजस्थान में हाई अलर्ट:  
सीओ जैसलमेर गोपाल लाल शर्मा ने बताया की राजस्थान में आतंकी घुसपैठ की आशंका के बाद से राजस्थान में हाई अलर्ट है. गुजरात की सीमाएं सील करने के बाद आज जैसलमेर में भी अलर्ट जारी किया गया है. आतंकी अलर्ट को लेकर एहतियातन सुरक्षा बढ़ाने के साथ सभी गाड़ियों और यात्रियों की सघन जांच शुरू कर दी गई है. केंद्रीय खुफिया एजेंसी आईबी की ओर से आतंकी घुसपैठ के अलर्ट के बाद से आज जैसलमेर पुलिस भी अलर्ट मोड़ पर आ गई है तथा हर थानों को अलर्ट रहने तथा हर आने जाने वाले वाहन की चेकिंग करने के साथ साथ आतंकी के स्केच से मिलते जुलते व्यक्ति से पूछताछ करने की बात कही गई है. सभी सुरक्षा एजेंसियों के क्षेत्रों के आस पास सादी वर्दी में पुलिस कर्मियों को तैनात रहने, हर धार्मिक स्थल की निगरानी तथा हर होटल की नियमित चेकिंग करने के निर्देश जारी किए हैं.

एजेंसियों ने एक संदिग्ध का स्कैच भी जारी किया:
आईबी की ओर से पिछले एक माह में दो बार देश में अलर्ट जारी किया है. 17 अगस्त को जारी हुए अलर्ट को लेकर एजेंसियों ने एक संदिग्ध का स्कैच भी जारी किया है. आईबी के सूत्रों के अनुसार पाक आईएसआई एजेंट के साथ चार सदस्यों के अफगानी ग्रुप के पासपोर्ट के साथ देश में प्रवेश किया. इन सभी आतंकियों का भारत में आतंक फैलाने की साजिश का शक है. आईबी ने गुजरात और राजस्थान पुलिस से इस जानकारी को साझा किया था जिसके बाद गुजरात और राजस्थान के सटे हुए बॉर्डर एरिया में सतर्कता बढ़ाई गई. गुजरात एटीएस के हाथ लगे स्कैच के आधार पर राजस्थान के सिरोही उदयपुर टीमें एक्टिव हो गई है. वहीं अलर्ट को देखते हुए जैसलमेर में भी सेना, वायुसेना व बीएसएफ़ के क्षेत्रों पर भी सुरक्षा बढ़ाई गई है. वहीं जैसलमेर पुलिस होटल, रेस्टोरेंट में विशेष रूप से सर्च कर रही है. संदिग्धों से पूछताछ की जा रही है. अलर्ट को लेकर पुलिस मुख्यालय में बैठे अधिकारी भी समय-समय पर फील्ड से अपडेट ले रहे है. पुलिस पूरे जिले में छानबीन में जुटी है.  

और पढ़ें

Most Related Stories

BSP मामले पर विधायक संयम लोढ़ा का बड़ा बयान, कहा- किसी को वोट से वंछित करने का अधिकार माननीय न्यायालय को नहीं

BSP मामले पर विधायक संयम लोढ़ा का बड़ा बयान, कहा- किसी को वोट से वंछित करने का अधिकार माननीय न्यायालय को नहीं

जैसलमेर: सूर्यगढ़ में कांग्रेस की किलेबंदी को 7 दिन हो चले हैं. आज सियासत दानों की नजर हाई कोर्ट पर भी है. दरअसल, वहां बसपा मामले पर आज सुनवाई होनी है. first India News से खास बातचीत में संयम लोढ़ा ने कहा कि किसी को वोट से वंछित करने का अधिकार माननीय न्यायालय को नहीं है इस तरह की मंशा रखना ही ही गैरकानूनी है. चुने हुए जनप्रतिनिधियों को अपने क्षेत्र का विकास करवाना होता है. ऐसे में जनप्रतिनिधि सरकार को सहयोग देकर ऐसा करते रहे है इसमें आपत्तिजनक क्या है.

गुजरात: अहमदाबाद के कोरोना अस्पताल में आग लगने से 8 मरीजों की मौत, PM मोदी ने की मुआवजे की घोषणा 

सदन के बाहर और बेहतर इसका जवाब भाजपा को देना ही होगा: 
पायलट के खेमे के विधायकों के गुजरात शिफ्ट होने की चर्चा पर संयम लोढ़ा ने कहा कि वे भाजपा की शरण मे हैं. गुजरात चले जाए या दिल्ली चले जाए पर अच्छा ये ही होगा कि वे घर लौट जाएं. भारतीय जनता पार्टी को देश की जनता को आने वाले वक्त में जवाब देना पड़ेगा. जिस तरह से लगातार निर्लज्जता से धन के बल पर लोभ के बल पर चुनी हुई गैर भजापा सरकारों को गिराने का उपक्रम को भाजपा नेशुरु किया है उसका जवाब सदन में भी देना पड़ेगा सदन के बाहर भी देना पड़ेगा आज नहीं तो कल. वहीं समय समय पर सुप्रीम कोर्ट के जो फैसले आए है उच्च न्यायालयों को भी उसकी पालना करनी पड़ेगी. नम्बर गेम में हम पूरी तरह आश्वस्त है भारतीय जनता पार्टी का सपना धूलधूसरित करेंगे रहेंगे. संवाददाता लक्ष्मण राघव ने की संयम लोढ़ा से खास बातचीत....

 

राममंदिर को लेकर रणदीप सुरजेवाला ने रखा कांग्रेस का पक्ष, राजस्थान के बागी विधायकों पर भी बोली बड़ी बात

राममंदिर को लेकर रणदीप सुरजेवाला ने रखा कांग्रेस का पक्ष, राजस्थान के बागी विधायकों पर भी बोली बड़ी बात

जैसलमेर: कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि धर्म की राजनीति नहीं हो चाहिए बल्कि राजनीति में धर्म हो. जैसलमेर के सूर्यगढ़ में राम मंदिर स्थापना समारोह को लेकर कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी द्वारा जारी किए गए बयान को पढ़कर सुनाते हुए कहा कि राम तो सबके है. राम सुग्रीव के भी हैं तो शबरी के भी हैं सबके दाता राम है. गांधी के रघुपति राघव राजा राम सबको सन्मति देने वाले हैं.

जैसलमेर में विधायक मन से साथ, हम फ्लोर टेस्ट को तैयार- परसादी लाल मीणा  

उन्होंने कहा कि जो रब है वही राम है. मैथिलीशरण गुप्त का हवाला देते हुए बताया कि राम को गुप्त निर्मल का बल कहते थे प्रियंका गांधी ने अपने बयान में कहा है कि भगवान राम की कृपा से यह कार्यक्रम उनको उनके संदेश को प्रसारित करने वाला राष्ट्रीय एकता और सांस्कृतिक समागम का कार्यक्रम बने.  

VIDEO: आखिर कहां है इस वक्त पायलट कैंप के विधायक? जानकार सूत्रों ने दिए संकेत 

बागी विधायक भाजपा से नाता तोड़े उसके बाद घर वापसी करें: 
राजस्थान राजनीति को लेकर बागियों की वापसी को लेकर पूछे गए सवाल पर सुरजेवाला ने कहा कि पहले भाजपा से नाता तोड़े उसके बाद घर वापसी करें.  सुरजेवाला ने कहा कि हरियाणा में अपराध बढ़ रहे हैं राह चलते लोगों को पीटा जा रहा है बालिकाओं से दुष्कर्म के मामले बढ़ते जा रहे हैं उसे रोकने के लिए हरियाणा पुलिस नहीं दिखाई देती लेकिन बागी विधायकों की सुरक्षा में 1000 पुलिसकर्मी लगे हैं ताकि राजस्थान की SOG उन तक ना पहुंच जाए. 

...फर्स्ट इंडिया के लिए बीकानेर से लक्ष्मण राघव की रिपोर्ट

Rajasthan Political Crisis: मायावती इन दिनों भाजपा के इशारे पर काम कर रही- मेघवाल

Rajasthan Political Crisis: मायावती इन दिनों भाजपा के इशारे पर काम कर रही- मेघवाल

जैसलेमर: खाजूवाला से विधायक गोविंद मेघवाल ने फर्स्ट इंडिया न्यूज़ से खास बातचीत करते हुए कहा कि राजस्थान में जो संकटचल रहा है वह भाजपा की देन है. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत राजस्थान के सच्चे जननायक है मुख्यमंत्री अशोक गहलोत 36 कोम को साथ लेकर चलते रहे हैं और दलितों के हितैषी रहे हैं. दरअसल, गांधीवादी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भाजपा को पच नहीं रहे इसलिए लगातार ऐसे षड्यंत्र रचे जा रहे हैं. 

Rajasthan Political Crisis: अब दिल्ली से आ रही एक चौंकाने वाली खबर, सोनिया गांधी के स्तर पर हो रही एक आखिरी कोशिश!

मायावती इन दिनों भाजपा के इशारे पर काम कर रही: 
दूसरी बार विधायक बने मेघवाल ने कहा कि दुर्भाग्य है की मायावती इन दिनों भाजपा के इशारे पर काम कर रही है. जनता की चुनी हुई सरकार है विधायकों का मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व में पूरा भरोसा है. हम आखिरी दम तक मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और हमारे आलाकमान के साथ रहेंगे. ये लड़ाई लोकतंत्र को बचाने के लिए लड़ी जा रही है. मुख्यमंत्री जी ने रक्षाबंधन त्यौहार हमारे बीच मनाकर ये संदेश छोड़ा कि कांग्रेस और विधायक उनके परिवार से भी बढ़कर है. 

...फर्स्ट इंडिया के लिए जैसलमेर से लक्ष्मण राघव की रिपोर्ट

VIDEO- Rajasthan Political Crisis: महिला विधायकों ने मुख्यमंत्री को बांधे रक्षा सूत्र, सीएम गहलोत ने दी बधाई

जैसलमेर: राजस्थान में चल रहे सियासी संकट के बीच आज कांग्रेस विधायकों ने जैसलमेर स्थित होटल में ही रक्षाबंधन का त्योहार मनाया. स्वर्णनगरी के रेतीले धोरों में स्थित सूर्यगढ़ होटल में महिला विधायकों ने सीएम गहलोत को रक्षा सूत्र बांधे. मुख्यमंत्री गहलोत ने भी सभी को इस शुभ अवसर पर शुभकामनाएं दीं. सबसे पहले मंत्री ममता भूपेश ने सीएम गहलोत को राखी बाधी उसके बाद सभी महिला विधायकों ने एक एक करके सीएम को राखी बांधी. 

Rajasthan Political Crisis: अब दिल्ली से आ रही एक चौंकाने वाली खबर, सोनिया गांधी के स्तर पर हो रही एक आखिरी कोशिश!  

मुख्यमंत्री के बेहतर स्वास्थ्य और लंबी उम्र की कामना की:
होटल में दोपहर में मंत्री ममता भूपेश के बाद विधायक गंगा देवी, कृष्णा पूनिया, शकुंतला रावत, सफिया जुबेर और जाहिदा खान सहित बाड़ेबंदी में मौजूद सभी महिला विधायकों ने सीएम गहलोत को राखी बांधी. इस दौरान महिला विधायकों ने मुख्यमंत्री के बेहतर स्वास्थ्य और लंबी उम्र की कामना की. 

विधायक रीटा चौधरी ने संयम लोढा को राखी बांधी:
इससे पहले विधायक रीटा चौधरी ने संयम लोढा को राखी बांधी. इस पर दस्तूर के तौर पर संयम लोढा ने रीटा चौधरी को 500 रुपए दिए. तब रीटा ने कहा कि भाईसाबह 1 रुपए दीजिये बस तो संयम लोढा ने कहा कि ये भाई का हक है. उसके बाद रीटा चौधरी ने माथे के लगा नोट रख लिया. ऐसे में वाकई ये कांग्रेस की किलेबंदी की खूबसूररत तस्वीर है. 

मुख्यमंत्री का बड़ा फैसला, राजस्थान न्यायिक सेवा में एमबीसी को 5 प्रतिशत आरक्षण की मंजूरी 

महिला विधायकों ने होटल में ही पुरुष विधायकों को रक्षा सूत्र बांधें: 
वहीं इस दौरान कांग्रेस की एक दर्जन महिला विधायकों ने होटल में ही पुरुष विधायकों को रक्षा सूत्र बांधें. इस दौरान विधायकों ने एक दूसरे को रक्षाबंधन की बधाई दी और हमेशा एक दूसरे के साथ खड़े रहने का संकल्प लिया. आज सुबह शुभ मुहुर्त में विधायकों के रक्षा सूत्र बांधें गए. वहीं कई विधायकों की बहनें भी राखियां बांधने होटल पहुंची.

जैसलमेर में विधायकों ने रक्षाबंधन का पर्व मनाकर दिया संदेश- सियासत रिश्ता तोड़ती ही नहीं है जोड़ती भी है

जैसलमेर में विधायकों ने रक्षाबंधन का पर्व मनाकर दिया संदेश- सियासत रिश्ता तोड़ती ही नहीं है जोड़ती भी है

जैसलमेर: सियासी संकट के चलते जैसलमेर के सूर्यगढ़ में रह रहे कांग्रेस विधायक ईद के पर्व के बाद आज रक्षाबंधन का पर्व भी मना रहे हैं. सूर्यगढ़ में रक्षाबंधन की झलकियां ये संदेश दे रही है कि सियासत रिश्ता तोड़ती ही नहीं जोड़ती भी है. ऐसी ही एक झलकी देखने को मिली जब विधायक रीटा चौधरी ने संयम लोढा को राखी बांधी. इस पर दस्तूर के तौर पर संयम लोढा ने रीटा चौधरी को 500 रुपए दिए. तब रीटा ने कहा कि भाईसाबह 1 रुपए दीजिये बस तो संयम लोढा ने कहा कि ये भाई का हक है. उसके बाद रीटा चौधरी ने माथे के लगा नोट रख लिया. ऐसे में वाकई ये कांग्रेस की किलेबंदी की खूबसूररत तस्वीर है. 

Rajasthan Political Crisis: अब दिल्ली से आ रही एक चौंकाने वाली खबर, सोनिया गांधी के स्तर पर हो रही एक आखिरी कोशिश!  

महिला विधायकों ने होटल में ही पुरुष विधायकों को रक्षा सूत्र बांधें: 
वहीं इस दौरान कांग्रेस की एक दर्जन महिला विधायकों ने होटल में ही पुरुष विधायकों को रक्षा सूत्र बांधें. साथ ही महिला विधायायकों ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और कई मंत्रियों के भी रक्षा सूत्र बांधकर उनकी लंबी आयु की कामना की. इस दौरान विधायकों ने एक दूसरे को रक्षाबंधन की बधाई दी और हमेशा एक दूसरे के साथ खड़े रहने का संकल्प लिया. आज सुबह शुभ मुहुर्त में विधायकों के रक्षा सूत्र बांधें गए. 

देर रात राजस्थान में बदली प्रशासनिक व्यवस्था, 57 IFS, 31 RAS अधिकारियों के तबादले 

सीएम गहलोत देंगे लजीज भोजन:
रक्षाबंधन के पर्व पर सीएम गहलोत की ओर से सभी विधायकों को होटल में ही आज लंच में खास तरह के पकवान दिए जाएंगे होटल प्रबंधन को इसके निर्देश दिए गए हैं. दूसरी ओर रक्षाबंधन के पर्व पर परिवार से दूर होने पर विधायकों में मायूसी भी है. लेकिन महिला विधायकों और पुरुष विधायकों ने फोन कॉल करके और वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए परिजनों के साथ रक्षाबंधन के पर्व की खुशियां साझा की और जल्द ही उनके बीच आने की बात कही

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का बड़ा फैसला, 8 रुपए में मिलेगा सम्मान पूर्वक खाना

जैसलमेर: प्रदेश में चल रही सियासी अटकलों और अनिश्चितता के बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने रविवार को फिर एक संदेश छोड़ा की राजनीतिक अस्थिरता पर ही नजर नहीं है बल्कि जन उपयोगी योजनाओं और सामाजिक सरोकारों और किसानों पर भी उनका पूरा फोकस है. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार टिड्डियों को राष्ट्रीय आपदा घोषित करें और इंदिरा गांधी के नाम पर सस्ता भोजन योजना की भी शुरुआत की.

Horoscope Today, 3 August 2020: बहनें राशि के अनुसार बांधें भाई के राखी,  रहेगा बेहद खास  

सरकार बचाने के साथ-साथ वे जनोपयोगी मुद्दों पर भी गंभीर:  
सुबे के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जयपुर में कामकाज के बाद रविवार को लगातार दूसरे दिन अपने विधायकों के बीच जैसलमेर पहुंचे. मीडिया से बातचीत में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने एक बार फिर यह संदेश राजस्थान की जनता के लिए छोड़ा की सरकार बचाने के साथ-साथ वे जनोपयोगी मुद्दों पर भी गंभीर हैं. उन्होंने कहा कि राजीव गांधी की जयंती पर ₹8 में भोजन योजना की शुरुआत होगी जो इंदिरा गांधी के नाम पर संचालित की जाएगी साथ ही साथ उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी को भी पत्र लिखने की जानकारी देते हुए यह मांग की है कि टिड्डीयों को राष्ट्रीय आपदा घोषित की जाए. 

Raksha Bandhan 2020: चौघड़िए अनुसार जानिए राखी बंधने का शुभ मुहूर्त, रहेगा परम कल्याणकारी 

कुछ मंत्री फाइलों का निपटारा करते हुए दिखाई दिए:
इधर जैसलमेर में गहलोत सरकार के विधायक और मंत्रियों ने आज अपना दिन होटल सूर्यगढ़ और होटल गोरबंद में बिताया. होटल गोरबंद में ऊर्जा मंत्री बीडी कल्ला प्रमोद जैन भाया सहित कुछ मंत्री फाइलों का निपटारा करते हुए दिखाई दिए. कहा जा सकता है मंत्री भी अपने बॉस के पीछे यह संदेश देने की कोशिश कर रहे हैं कि वे जहां भी हैं जनता से जुड़े जरूरी कामों पर अपनी मुहर लगा रहे. गोरबंद में मुख्यंमत्री से मंत्रियों ने मुलाकात भी की. 

...फर्स्ट इंडिया के लिए लक्ष्मण राघव /राजीव गौड़/ सूर्यवीर सिंह की रिपोर्ट

कोरोना की वजह से नहीं भरेगा विश्व प्रसिद्ध लोक देवता बाबा रामदेव का वार्षिक मेला

कोरोना की वजह से नहीं भरेगा विश्व प्रसिद्ध लोक देवता बाबा रामदेव का वार्षिक मेला

रामदेवरा: विश्व प्रसिद्ध बाबा रामदेव का वार्षिक मेला इस बार कोविड 19 के चलते नहीं लगेगा. इस बारे में एसडीएम अजय अमरावत ने जानकारी देकर स्पष्ट किया कि बाबा रामदेव का मेला इस बार नहीं लगेगा. रविवार को एसडीएम अजय अमरावत ने समाधि समिति कार्यालय में पदाधिकारीयो से भेंट कर इस बारे में अवगत करवाया. लोक देवता बाबा रामदेव का प्रतिवर्ष अगस्त-सितंबर में लगने वाला वार्षिक मेला इस बार रामदेवरा में नहीं लगेगा.

धार्मिक स्थलों को खोलने पर लगाई पाबंदी: 
इस बारे में एसडीएम अजय अमरावत ने रविवार को समाधि समिति कार्यालय पहुंच कर समाधि समिति के पदाधिकारियों के साथ चर्चा की और उन्हें इस बारे में अवगत करवाया. समाधि समिति कार्यालय में समाधि समिति के अध्यक्ष और गादीपति राव भोम सिंह तंवर,सरपंच समंदर सिंह तंवर,उपसरपंच खिवसिंह तंवर, आदि शामिल रहे. राज्य सरकार के 31 अगस्त तक सभी धार्मिक स्थलों को खोलने पर पाबंदी लगाई हुई हैं.

टोंक के उनियारा में गलवा बांध की मोरी में मिले 3 शव, एक ही परिवार के सदस्य बताए जा रहे तीनों मृतक 

कोरोना की वजह से लिया निर्णय:
वहीं इस बार बाबा रामदेव का मेला भी 20 अगस्त से 2 सितंबर तक आयोजित होना हैं. प्रतिवर्ष बाबा रामदेव के वार्षिक मेले में देश और प्रदेश से करीब 30 से 50 लाख श्रद्धालु समाधि के दर्शनों को आते हैं. इसी के चलते कोविड 19 की पालना में इस साल का वार्षिक बाबा रामदेव का मेला नहीं लग रहा है. सावन मास से ही श्रद्धालुओं का पैदल आगमन हो जाता है. लेकिन इस बार पैदल यात्री भी सड़कों पर बहुत कम नज़र आ रहे हैं.

बीकानेर में सेल्फी लेते वक्त पुलिया से नीचे गिरने पर युवक की मौत 

मेला नहीं लगने की आधिकारिक घोषणा:
स्थानीय व्यापार की सभी गतिविधियों पर पिछले 5 महीने से अवरोध लगा है. यात्रियों की आवक थमने से सभी रोजगार मन्दे पड़े हैं. वार्षिक मेले में श्रद्धालुओं के भारी आगमन से व्यापारियों को काफी अच्छी आय होती हैं. कई लोग पूरे साल की आय मेले में ही कमा लेते हैं. इस बार सभी मायूस हैं. रविवार को एसडीएम की ओर से मेला नहीं लगने की आधिकारिक घोषणा हो गई हैं.

...फर्स्ट इंडिया के लिए राजेन्द्र सोनी की रिपोर्ट

VIDEO: राजस्थान में BJP के नए-नए नेता वसुंधरा राजे से टक्कर लेना चाहते लेकिन इनमें दम नहीं- सीएम गहलोत

जैसलमेर: राजस्थान में चल रहे सियासी घमासान के बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आज एक बार फिर बीजेपी पर जमकर निशान साधा. जैसलमेर में मीडिया से वार्ता करते हुए उन्होंने कहा कि देश में हालात गंभीर बने हुए है. चुनी हुई सरकार को गिराने की साजिश की जा रही है. सीएम ने कहा कि बीजेपी हॉर्स ट्रेडिंग का खेल गलत है. इससे देश में लोकतंत्र खतरे में है. 

Rajasthan Political Crisis: ...हाथ में बंदूक लो और गोलियां मार दो कांग्रेस के लोगों को- प्रताप सिंह खाचरियावास 

मैं बड़े प्यार और मोहब्बत से बात करता हूं:
उन्होंने कहा कि मैं एग्रेसिव नहीं हूं. मैं बड़े प्यार और मोहब्बत से बात करता हूं. मेरा मुस्कुराना गॉड गिफ्टेड है. वहीं पायलट गुट पर बोलते हुए सीएम गहलोत ने कहा कि अगर आलाकमान उन्हें माफ करता है तो जितने भी हैं उन सबको गले लगाउंगा. इस दौरान सीएम गहलोत ने पूर्व मुख्यमंत्री का जिक्र करते हुए कहा कि बीजेपी के नए-नए नेता वसुंधरा राजे से टक्कर लेना चाहते हैं लेकिन इनमें दम नहीं है. उन्होंने वसुंधरा राजे को लेकर कहा कि वसुंधरा राजे तो पता नहीं कहां गायब हो गई है. वो कहीं नजर नहीं आ रही लेकिन बाकी बीजेपी नेताओं में मुख्यमंत्री बनने की होड़ लगी हुई है. 

कोरोना को लेकर राजस्थान की देश-दुनिया में तारीफ हो रही: 
इसके साथ ही गहलोत ने कहा कि पीएम मोदी को राजस्थान में चल रहे खरीद फरोख्त मामले को रुकवाना चाहिए. साथ ही उन्होंने कहा कि मैंने पीएम से इस बारे में बात भी की है और साथ ही कोरोना को लेकर भी प्रधानमंत्री से बात हुई. राजस्थान की देश-दुनिया में तारीफ हो रही है. सीएम ने कहा कि राजस्थान में कोरोना से मृत्यु दर सबसे कम है. प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की संख्या इसलिए बढ़ रही क्योंकि हमने जांच बढ़ा दी है. हमने दूसरे राज्यों को भी प्रस्ताव दिया है कि वे चाहे तो यहां जांचे करवा सकते हैं. 

Rajasthan Political Crisis: भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ओमप्रकाश माथुर ने राज्य सरकार पर साधा जमकर निशाना  

गुरुवार को अमित शाह पर साधा था निशाना: 
बता दें कि इससे पहले भी मुख्यमंत्री गहलोत ने गुरुवार को गृह मंत्री अमित शाह पर निशाना साधते हुए कहा कि अमित शाह का ना मैं बार-बार इसलिए लेता हूं कि फोरफ्रंट पर वो ही आते हैं. कर्नाटक के लिए भी, एमपी के लिए भी, गोवा हो, मणिपुर हो, अरुणाचल प्रदेश हो, तो मजबूरी में कहना पड़ता है.  


 

Open Covid-19