राष्ट्रपति से सम्मानित होकर लोक गायक अनवर खां पहुंचे जैसलमेर

Suryaveer Singh Tanwar Published Date 2019/02/12 12:49

जैसलमेर। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा अनवर खां बईया को नेशनल अकादमी अवार्ड से नवाजे जाने के बाद पहली बार अनवर खां के जैसलमेर आने पर जिला मिरासी विकास सेवा समिति द्वारा स्वागत किया गया। मिरासी समाज के अध्यक्ष सलीम मूसे खां के नेतृत्व में समाज के युवाओं ने अनवर का माल्यार्पण कर भव्य स्वागत किया। गुणसार लोक संगीत संस्थान कलाकार भवन में राष्ट्रपति द्वारा सम्मानित होने पर अनवर खां का स्वागत किया गया। कार्यक्रम में संस्थान अध्यक्ष बक्स खां गुणसार ने अनवर खां का माल्यार्पण कर व शॉल ओढ़ाकर स्वागत किया। 

अनवर खां बहिया को संगीत नाटक अकादमी की ओर से लोक गायकी की क्षेत्र में पुरस्कार से सम्मानित किया गया। अनवर की बात करते हुए अनवर कहते है कि इस जमीन का मैं कर्जदार हूं। मेरी रूह में धोरा धरती बसी है। वो कहते है कि बहुत मुश्किल हालात थे। जैसलमेर के बहिया गांव में परिवार रहता था। पिता रमजानखां ही नहीं कई पीढि़यों से यही गाने बजाने का काम था। तीसरी कक्षा तक पढ़ा और दस साल की उम्र से गा रहा हूं। हम मांगणिहार है..कहते है कि हम तो रोते भी सुर में है तो यह तो हमें जन्मघुट्टी के साथ मिली कला है। अहसानमंद है कोमल कोठारी और मगराज जैन के जिन्होंने हम मांगणिहार कलाकारों की कला को पहचानते हुए आगे बढ़ाया। 

अनवर बताते है कि मांगणिहार गायकी की इस कला को अब आगे बढ़ाने के लिए बच्चों को जब भी बाड़मेर-जैसलमेर में रहता हूं रियाज करवाता हूं। सुरों की पहचान करवाता हूं। मंच पर भी उनको साथ में लेकर हौंसला अफजाही करते है। यह कला जिंदा रहेगी...हम मांगणिहार यही कहते है कि हमें तो हर जन्म में बस यही गांव, यही कला और यही यजमान मिले। संगीत की ऐसे ही उपासना करें। अनवर कहते है कि टी वी और अत्याधुनिक मीडिया ने मांगणिहार कलाकारों को कद्र दी है। युवा लड़कों को टी वी कार्यक्रमों में खूब दाद मिल रही है। इसके अलावा सोशल मीडिया पर भी अब काफी पंसद किया जा रहा है। वे कहते है कि आधुनिक दौर में मांगणिहार गायकी के लिए विपुल संभावनाएं है। अनवर खां बहिया ने कहा की सरकार को अब हमारे बारे सोचना चाहिए। हमारे बच्चों के स्कूल और छात्रावास की व्यवस्था करे ताकि एक हाथ में संगीत सांझ और एक हाथ में कलम रहे। सरकार कला को बढ़ाने के लिए कुछ करें। 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in