कोरोना संकट के दौरान झालाना लेपर्ड सफारी से खुशखबरी, मादा लेपर्ड एलके दिखी 3 शावकों के साथ

कोरोना संकट के दौरान झालाना लेपर्ड सफारी से खुशखबरी, मादा लेपर्ड एलके दिखी 3 शावकों के साथ

कोरोना संकट के दौरान झालाना लेपर्ड सफारी से खुशखबरी, मादा लेपर्ड एलके दिखी 3 शावकों के साथ

जयपुर: सृजन की शक्ति संकट पर हमेशा भारी रही है. आज झालाना लेपर्ड सफारी में सृजन की ताकत एक बार फिर देखने को मिली. कोरोना संकट के दौर में झालाना लेपर्ड सफारी से आज खुशखबरी मिली. लेपर्ड सफारी की मादा लेपर्ड एलके कैमरा ट्रैप में तीन शावकों के साथ दिखी इसके बाद जंगलात महकमे में खुशी की लहर दौड़ गई. मादा लेपर्ड एलके का यह पांचवां लिटर है.

5 बार में एलके ने दिया कुल 13 शावकों को जन्म:
5 बार में एलके ने कुल 13 शावकों को जन्म दिया है. लेपर्ड सफारी के मशहूर लेपर्ड बॉन्ड, टिमटिम, चंदा और चांदनी सभी एलके के ही बच्चे हैं. बड़ी बात यह है कि एलके को बहुत ही अनुभवी और समझदार मां माना जाता है. इसके पीछे कारण यह है कि एलके के सभी शावक सरवाइव कर रहे हैं यानी यह एकमात्र ऐसी मादा लेपर्ड है जिसके सभी बच्चे जीवित हैं. अन्य लेपर्ड्स से अपना बच्चों की सुरक्षा कैसे की जाती है यह एलके से बेहतर कोई नहीं जानता.

शावकों के जन्म की जगह का खुलासा नहीं:
बहरहाल तीनों शावकों के देखने के बाद रेंजर जनेश्वर चौधरी और उनकी पूरी टीम मॉनिटरिंग में जुट गई है. सर्विलांस कैमरे, कैमरा ट्रैप और ट्रैकिंग के जरिए शावकों के आसपास मॉनिटरिंग बढ़ा दी गई है. कोरोना के चलते फिलहाल झालाना लेपर्ड सफारी में पर्यटन गतिविधियां बंद है. ऐसे में सुरक्षा के लिए लिहाज से शावकों के जन्म की जगह का खुलासा नहीं किया गया है.

और पढ़ें