देवघर, झारखंड झारखंड रोपवे हादसा: एक की मौत, कई ट्रॉली में फंसे, बचाव अभियान जारी

झारखंड रोपवे हादसा: एक की मौत, कई ट्रॉली में फंसे, बचाव अभियान जारी

झारखंड रोपवे हादसा: एक की मौत, कई ट्रॉली में फंसे, बचाव अभियान जारी

देवघर(झारखंड): झारखंड के देवघर जिले में बाबा बैद्यनाथ मंदिर के पास त्रिकुट पहाड़ी पर 12 रोपवे ट्रॉली आपस में टकरा गईं. हादसे में कम से कम एक शख्स की मौत हो गई और 48 अन्य ट्रॉलियों में फंस गए. एक वरिष्ठ अधिकारी ने सोमवार को यह जानकारी दी.

अधिकारी के मुताबिक, हादसा रविवार शाम करीब साढ़े चार बजे हुआ जिसमें 10 सैलानी गंभीर रूप से जख्मी हो गए और देर रात उनमें से एक की मौत हो गई. उन्होंने बताया कि वायु सेना के दो हेलीकॉप्टर फंसे हुए लोगों को निकालने के लिए पहुंचे .

देवघर के उपायुक्त (डीसी) मंजूनाथ भजंत्री ने पीटीआई-भाषा से फोन पर कहा कि सभी पर्यटकों को हेलीकॉप्टर के माध्यम से सुरक्षित निकालने की तमाम कोशिशें की जा रही हैं. एनडीआरएफ की टीम भी रविवार रात से काम पर लगी हुई है और 11 लोगों को उसने निकाला है. बचाव अभियान में स्थानीय लोग भी मदद कर रहे हैं. घटना में 10 लोग जख्मी हुए हैं जिनमें से एक की देर रात मौत हो गई.

फिलहाल जिले का पूरा अमला फंसे हुए लोगों को निकालने में लगा हुआ:
हादसे के कारण के बारे में पूछने पर डीसी ने कहा कि फिलहाल जिले का पूरा अमला फंसे हुए लोगों को निकालने में लगा हुआ है और बचाव अभियान खत्म होने के बाद ही जांच की शुरू की जाएगी. उन्होंने कहा कि पहली नज़र में लगता है कि तकनीकी खामी की वजह से हादसा हुआ. डीसी के मुताबिक, रोपवे का संचालन एक निजी कंपनी कर रही है. इसे चला रहे परिचालक दुर्घटना के कुछ देर बाद ही इलाके से भाग गये. झारखंड पर्यटन विभाग के अनुसार, यह रोपवे बाबा बैद्यनाथ मंदिर से करीब 20 किलीमीटर दूर स्थित है और यह 766 मीटर लंबा है जबकि पहाड़ी 392 मीटर ऊंची है. सोर्स- भाषा 

और पढ़ें