close ads


कमलेश तिवारी के परिवार के दो सदस्यों के लिए नौकरी की मांग, पत्नी ने कहा-मांग नहीं मानी तो आत्मदाह कर लूंगी

कमलेश तिवारी के परिवार के दो सदस्यों के लिए नौकरी की मांग, पत्नी ने कहा-मांग नहीं मानी तो आत्मदाह कर लूंगी

लखनऊ: हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी की हत्या के बाद अब विवाद थमने का नाम ही नहीं ले रहा है. कमलेश तिवारी के परिजनों ने परिवार के दो सदस्यों के लिए नौकरी की मांग की है. साथ ही जब यह भी कहा कि जब तक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ नहीं आएंगे तब तक दाह संस्कार नहीं किया जाएगा. मृतक कमलेश तिवारी की पत्नी ने मांगे नहीं माने जाने पर आत्मदाह करने तक की बात कही है. 

लोगों का गुस्सा देखकर पुलिस शव लेकर वापस लौटी: 
पुलिस शुक्रवार देर रात पोस्टमॉर्टम के बाद कमलेश तिवारी का शव उनके कार्यालय लेकर पहुंची. लेकिन वहां लोगों के गुस्सा देखकर उन्हे वापस शव लेकर लौटना पड़ा. बाद में पुलिस उनके शव को लेकर कमलेश तिवारी के पैतृक जिले सीतापुर के महमूदाबाद के लिए रवाना हो गई. 

शक के आधार पर जान पहचान वालो ने की हत्या: 
पुलिस को शक है कि कमलेश तिवारी की हत्या उनके किसी जान पहचान वाले ने की है. दरअसल कमलेश तिवारी खुर्शीदबाग में स्थित अपने दफ्तर में थे कि दो लोग मिठाई का डिब्बा साथ लेकर उनसे मिलने आए. कमलेश तिवारी इस बात से बेखबर थे कि उनकी हत्या भी हो सकती है. कमलेश तिवारी पर पहले पिस्टल से गोली चलाई गई लेकिन बाद में गला रेतकर हत्या की गई.

और पढ़ें