Live News »

जोधपुर नगर निगम की बड़ी लापरवाही, 24 घंटे बाद भी नहीं हटाया गया बिल्डिंग का मलबा

जोधपुर नगर निगम की बड़ी लापरवाही, 24 घंटे बाद भी नहीं हटाया गया बिल्डिंग का मलबा

जोधपुर: जोधपुर के त्रिपोलिया बाजार में कल एक बिल्डिंग के गिरने के बाद नगर निगम की ओर से मलबा नहीं हटाने और आसपास की जर्जर बिल्डिंग को नहीं गिराने को लेकर आज व्यापारियों ने आक्रोश जताया और रास्ता जाम कर अपना विरोध प्रदर्शन किया. त्रिपोलिया बाजार क्षेत्र में कल बारिश के बाद एक दो मंजिला बिल्डिंग गिर गई थी. वहीं आसपास की 2 जर्जर बिल्डिंग गिरने की हालत में हैं. 

व्यापारियों का विरोध प्रदर्शन:
कल भी समय पर रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू नहीं होने पर लोगों ने अपना विरोध जताया था. घटना के 24 घंटे बाद भी निगम की ओर से बिल्डिंग का मलबा नहीं हटाने और आसपास की जर्जर इमारतों को नहीं गिराने पर व्यापारियों ने अपना विरोध प्रदर्शन किया. त्रिपोलिया मार्केट के सभी व्यापारियों ने अपने-अपने प्रतिष्ठान बंद कर रास्ता जाम कर दिया और टायर जलाकर अपना विरोध जताया. व्यापारियों की मांग है कि क्षेत्र में ऐसी कई जर्जर इमारतें हैं, जो कभी भी गिर सकती है और बड़ा हादसा हो सकता है. नगर निगम को जानकारी होने के बावजूद भी जर्जर इमारतों को गिराने की कार्रवाई नहीं की जा रही है जिससे हर समय व्यापारी दहशत में जी रहे हैं . 

मलबा हटाने का आश्वासन:
व्यापारियों ने कल बिल्डिंग गिरने के बाद हुए मलबे को हटाने और आसपास की जर्जर बिल्डिंग को गिराने की मांग की है. सूचना पर नगर निगम और पुलिस के अधिकारी मौके पर पहुंचे और व्यापारियों से समझाईश की. निगम अधिकारियों ने जल्द ही मलबा हटाने और आसपास की जर्जर इमारतों को गिराने का आश्वासन दिया, इसके बाद व्यापारियों ने  रास्ता खोला. 
 

और पढ़ें

Most Related Stories

जोधपुर के देचू में 11 पाक विस्थापितों की मौत का प्रकरण, सभी की कोरोना रिपोर्ट आई नेगेटिव

जोधपुर के देचू में 11 पाक विस्थापितों की मौत का प्रकरण, सभी की कोरोना रिपोर्ट आई नेगेटिव

जोधपुर: जिले के ग्रामीण देचू थाना क्षेत्र के लोड़ता गांव में एक ही परिवार के 11 लोगों की मौत के मामले में आज महात्मा गांधी अस्पताल की मोर्चरी में सभी शवों का पोस्टमार्टम किया जा रहा है. पोस्टमार्टम करवाने से पहले सभी शवों की कोरोना जांच की गई. सभी मृतकों की कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद मेडिकल टीम ने पोस्टमार्टम शुरू किया है, वहीं ग्रामीण पुलिस अधीक्षक राहुल बारहट भी मोर्चरी पहुंचे हैं. पोस्टमार्टम के बाद ही पूरे मामले का खुलासा हो पाएगा कि आखिर यह आत्महत्या का मामला है या हत्या का.

Rajasthan Political Crisis:  बसपा विधायकों के विलय मामले पर आज सुप्रीम कोर्ट में अहम सुनवाई 

मौके पर कीटनाशक की बदबू आ रही थी: 
रविवार सुबह देचू थाने में ग्रामीणों ने सूचना दी कि लोड़ता गांव के क्षेत्र में एक ही परिवार के 11 लोग अचेत अवस्था में पड़े हैं, जिस पर पुलिस की टीम मौके पर पहुंची. मौके पर कीटनाशक की बदबू आ रही थी, इसके बाद पुलिस के आला अधिकारी को सूचना दी गई. ग्रामीण पुलिस अधीक्षक राहुल बारहट, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुनील के पवार मौके पर पहुंचे थे, साथ ही एफएसएल टीम को मौके पर बुलाया गया था. मौके पर कुछ इंजेक्शन भी मिलने की बात सामने आ रही है, हालांकि इस बारे में अभी पुलिस कुछ भी खुलकर नहीं कह रही है. 

जोधपुर में 11 लोगों के शव मिलने का मामला: परिवार के बचे आखिरी सदस्य ने देचू थाने में दर्ज कराई FIR, रिश्तेदारों को ठहराया दोषी

जोधपुर: प्रदेश के जोधपुर जिले के देचू थाना क्षेत्र में रविवार को एक ही परिवार के 11 जनों के शव मिलने से सनसनी फैल गई. इस मामले में परिवार के बचे आखिरी सदस्य ने देचू थाने में एफआईआर दर्ज करवाई हैं. परिवारिक क्लेश के चलते 11 लोगों की मौत के लिए रिश्तेदारों को ठहराया दोषी ठहराया है. वहीं घटनास्थल पर सुसाइड नोट मिलने की बात सामने आई है. जोधपुर के आंगनवा में रहने वाले एक परिवार पर आरोप लगाया है. मौके पर पुलिस को हत्या करने संबंधी कोई प्रमाण नहीं मिले है. इंजेक्शन मिलने के बाद पुलिस उस आधार पर भी पड़ताल कर रही है. 12 में से 1 व्यक्ति केवलराम घर के बाहर आखिर कैसे रह गया? देचू थाना पुलिस इस पहलू पर भी पड़ताल कर रही है. कलेक्टर इंद्रजीत सिंह खुद मौके पर एक-एक पहलू की जांच कर रहे है. SP राहुल बारहठ सुसाइड नोट,इंजेक्शन को लेकर पड़ताल कर रहे है. आखिरी सदस्य केवलराम के बयानों के आधार पर भी जांच हो रही हैं. 

पाली में युवक की बेरहमी से हत्या, परिजनों ने लगाया बजरी माफियाओं पर हत्या का आरोप

जहरीली गैस या जहर खुरानी?
इससे पहले मामले में प्रथम दृष्टया जहरीली गैस या जहर खुरानी से मौत की बात कही जा रही है तो वहीं इस बीच अब एक नई बात इसमें सामने आ रही है जिसमें सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक इस परिवार की एक बहन जो कि पेशे से नर्स है , यहां अपने भाई को राखी बांधने के लिए आई थी. इसके बाद यही रहने लगी कुछ लोगों का यह भी कयास है कि बहन ने सबसे पहले इन 10 लोगों को जहरीला इंजेक्शन लगाया. उसके बाद स्वयं को इंजेक्शन लगा दिया. पुलिस की जांच के दौरान यह बात सामने आई कि इस परिवार में कुल 11 लोग थे और एक बहन यहां आई हुई थी. इसके बाद कुल 12 लोग यहां मौजूद थे, जिनमें से 11 लोगों की मौत हो गई.

हत्या, आत्महत्या और हादसे सभी दृष्टिकोण से जांच:
परिवार का एक सदस्य खेत के नलकूप की तरफ चला गया था और उसका कहना है कि रात को उसे वहीं पर नींद आ गई जब वह सुबह आया तो उसने देखा कि पूरा परिवार मौत की नींद सो चुका है. फिलहाल हादसे की जगह पर किसी को प्रवेश नहीं दिया जा रहा है, जिस कमरे में यह हादसा हुआ वहां पर भी पुलिस ने प्रतिबंध लगा दिया है. आपको बता दें कि पुलिस इस मामले में हत्या आत्महत्या और हादसे सभी दृष्टिकोण से जांच कर रही है. पुलिस की ओर से परिवार में जिंदा बचे एकमात्र सदस्य को भी शक की निगाह से देख जा रहा है.

हिंदू सिंह सोढा ने किया शोक व्यक्त:
इस मामले को लेकर ग्रामीण एसपी राहुल बारहठ के अलावा जिला कलेक्टर इंद्रजीतसिंह मौके पर पहुंचे, जहां घटना का जायजा लिया तो वही इस पूरे मामले को लेकर के शेरगढ विधायक मीना कंवर,फलौदी विधायक पब्बाराम विश्नोई और वरिष्ठ नेता उम्मेद सिंह राठौड़,कांग्रेस नेता राजूराम चौधरी के अलावा पाक विस्थापित नेता हिंदू सिंह सोढा ने इस घटना के प्रति गहरा शोक व्यक्त किया है. वही मीना कंवर ने कहा है कि इस संबंध में जो भी आरोपी है उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही की जाएगी.

11 अगस्त को होगी भाजपा विधायक दल की बैठक, गुजरात गए तमाम विधायक भी आएंगे जयपुर 

जोधपुर में 11 लोगों के शव मिलने से फैली सनसनी, एक ही परिवार के बताए जा रहे है सभी

 जोधपुर में 11 लोगों के शव मिलने से फैली सनसनी, एक ही परिवार के बताए जा रहे है सभी

जोधपुर: प्रदेश के जोधपुर जिले के ग्रामीण क्षेत्र में एक साथ 11 लोगों के शव मिलने से सनसनी फैल गई है, यह सभी एक परिवार के बताए जा रहे हैं. जोधपुर केलोडता अचलावता गांव में एक खेत में भील जाती के 11 लोग मृत मिले, 11 लोगों के शव की इतला पर पुलिस मौके पर पहुंची और मौका मुआयना करने के साथ ही इस मामले की जांच कर रही है. बुद्धाराम भील का यह परिवार था जो पाकिस्तानी से आए थे जिसकी पुष्टि खुद पाक विस्थापित नेता हिंदू सिंह सोढा ने की है.

प्रशासन पहुंचा मौके पर:
वहीं मौके पर पहुंचे डॉग स्क्वायड के अलावा एफएसएल टीम भी जांच में जुटी है तो ग्रामीण एसपी राहुल बारहठ के अलावा जिला कलेक्टर इंद्रजीतसिंह मौके पर पहुंचे. जांच में अब तक कमरे से किसी पेस्टीसाइड्स की बू आ रही है. 12 सदस्य का यह परिवार था ऐसे में 12वें सदस्य से पुलिस आवश्यक जानकारी जुटा रही है.

आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा में कोविड केयर सेंटर में लगी आग, 7 लोगों की मौत, पीएम मोदी ने जताया दुख

फलौदी विधायक ने किया दुख व्यक्त:
फलौदी विधायक पब्बाराम विश्नोई ने इस पूरे मामले में अपना दुख व्यक्त किया है. प्राप्त जानकारी के मुताबिक आपस में वर्चस्व की लड़ाई को लेकर के दोनों पक्ष से लड़े थे कुछ न जहर खुरानी भी करना बताया जा रहा है और दोनों पक्षों में ही मारपीट से मरना बताया जा रहा है दोनों पक्षों के रिश्तेदारों को जैसे भी सूचना मिली कि वह भी अपने अपने रिश्तेदारों उसके साथ लड़ाई में लग गए. एक दूसरे के साथ एक दूसरे से लड़ाई करते रहे और लड़ाई में मरते गए और दोनों पक्षों ने पुलिस को भी सूचना नहीं की.

लखनऊ में इनामी बदमाश राकेश पांडे ढेर, कृष्णानंद हत्याकांड में आरोपी था पांडे

केन्द्रीय मंत्री कैलाश चौधरी कोरोना पॉजिटिव, जोधपुर एम्स में भर्ती

केन्द्रीय मंत्री कैलाश चौधरी कोरोना पॉजिटिव, जोधपुर एम्स में भर्ती

जोधपुर: केन्द्रीय राज्य मंत्री कैलाश चौधरी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. चौधरी का दिल्ली के एम्स में सैम्पल दिया गया था जहां से आज उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. केन्द्रीय कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी इन दिनों बाड़मेर जैसलमेर के दौरे पर है. चौधरी की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद हाल ही में उनसे मिले लोगों में हड़कंप मच गया है. वहीं इसी के चलते संक्रमित होने की जानकारी मिलते ही चौधरी जैसलमेर दौरा छोड़कर जोधपुर एम्स में भर्ती हो गए हैं. 

VIDEO: 2 बार की मुख्यमंत्री हैं वसुंधरा राजे उनकी सलाह की जरूरत हुई तो लेंगे- सतीश पूनिया  

हनुमान बेनिवाल और किरोड़ी लाल मीणा भी कोरोना पॉजिटिव मिले थे: 
इससे पहले नागौर सांसद हनुमान बेनिवाल और राज्यसभा सांसद किरोड़ी लाल मीणा भी कोरोना पॉजिटिव मिले थे. हालांकि इन दोनों नेताओं का स्वास्थ्य अब ठीक है. सांसद हनुमान बेनीवाल की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद शुक्रवार को उन्हें अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया. इससे पहले किरोड़ी लाल मीणा भी अस्पताल से डिस्चार्ज हो चुके हैं. वहीं देश के गृहमंत्री अमित शाह और एमपी के मुख्यमंत्री समेत कई दिग्गज नेता कोरोना की बीमारी से जूझ रहे हैं. 

Rajasthan Political Crisis: कांग्रेस के बाद अब BJP ने भी शुरू की बाड़ेबंदी, इन 12 विधायकों को अहमदाबाद भेजने की सूचना!  

जोधपुर: नौकरी दिलाने का झांसा देकर 17 वर्षीय युवती से दुष्कर्म कर वीडियो बनाने का आरोप

जोधपुर: नौकरी दिलाने का झांसा देकर 17 वर्षीय युवती से दुष्कर्म कर वीडियो बनाने का आरोप

जोधपुर: कमिश्नरेट के खांडा फलसा थाने में पॉक्सो एक्ट के तहत एक मामला दर्ज हुआ है. खांडा फलसा थानाधिकारी ईश्वर पारीक ने बताया कि एक 17 वर्षीय युवती ने थाने में अपने भाई के साथ आकर रिपोर्ट दी थी एक युवक ने उसे मोबाइल से संपर्क साध कर नौकरी दिलाने का झांसा दिया. 

कोटा ACB की रामगंजमंडी में बड़ी कार्रवाई, नगरपालिका ईओ पंकज मंगल एक लाख की घूस लेते ट्रैप 

दुष्कर्म कर वीडियो बनाने का आरोप: 
नाबालिग युवती ने बताया कि उस युवक में उसे अपने पास बुलाया और एक कमरे में ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म किया. इस दौरान वहां खड़े एक युवक ने मोबाइल से इसका वीडियो भी बना लिया. थानाधिकारी पारीक ने बताया कि युवती की रिपोर्ट पर आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है और इस मामले की जांच एसीपी राजेंद्र प्रसाद दिवाकर को सौंपी गई है.  

बाड़मेर के सिवाना में ACB की कार्रवाई, लाइनमैन और दलाल 20,000 रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार

बाड़मेर के सिवाना में ACB की कार्रवाई, लाइनमैन और दलाल 20,000 रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार

जोधपुर: भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो स्पेशल यूनिट जोधपुर के डीआईजी विष्णुकांत के निर्देशन में लगातार एक के बाद एक कार्यवाही को अंजाम दिया जा रहा है. उसी के तहत आज जोधपुर संभाग में आने वाले बाड़मेर के सिवाना में एसीबी द्वारा बड़ी कार्यवाही की गई जिसमें डिस्कॉम के लाइनमैन नवल मीणा व दलाल बाबूसिंह को 20 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया. बिजली के मीटर संबंधी कार्यवाही नहीं करने की एवज में परिवादी देवाराम से यह रिश्वत की राशि मांगी गई. एडिशनल एसपी दुर्गसिंह राजपुरोहित के नेतृत्व में इस कार्यवाही को परिवादी के पादरू स्थित किराये के मकान में अंजाम दिया गया.

शर्मसार: आधा दर्जन हवसी दरिंदों ने बेवा महिला को बनाया हवस का शिकार, मुकदमा दर्ज  

मीटर पर कार्यवाही नहीं करने की एवज में मांगी रिश्वत: 
गौरतलब है कि परिवादी देवाराम की गांव पादरू में चैंपीयन हैयर सैलून नाम से बाल काटने की दुकान है. जहां पर लाइन मैन नवल मीणा व कनिष्ठ अभियंता जितेन्द्र सैनी दुकान पर आये व आकर परिवादी की दुकान का बिजली का मीटर खोलकर ले गये. उक्त मीटर पर कार्यवाही नहीं करने की एवज में नवल किशोर मीणा द्वारा 20 हजार रुपए की रिश्वत राशि की मांग की गई थी जिसपर दलाल भगवान प्रसाद को इस राशि को दिलवाया गया जिसके तहत आज एसीबी टीम द्वारा कार्यवाही करते हुए रिश्वत राशि बरामद करने के साथ ही दोनों को गिरफ्तार किया गया.  

विधानसभा स्पीकर सीपी जोशी ने वापस ली अपनी SLP, सुप्रीम कोर्ट में कपिल सिब्बल ने कहा- मसले पर सुनवाई की जरूरत नहीं

जोधपुर में एसीबी ग्रामीण टीम ने की कार्रवाई, बीएलओ जसवंत राम को 1300 रुपये की रिश्वत लेते किया गिरफ्तार

जोधपुर में एसीबी ग्रामीण टीम ने की कार्रवाई, बीएलओ जसवंत राम को 1300 रुपये की रिश्वत लेते किया गिरफ्तार

जोधपुर: भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो जोधपुर की टीम ने बड़ी कार्रवाई करते हुए फलोदी तहसील के एक ग्राम विकास अधिकारी को 1300 रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है. एसीबी टीम ने एएसपी दुर्गसिंह राजपुरोहित के नेतृत्व में इस कार्रवाई को अंजाम दिया. एएसपी दुर्गसिंह राजपुरोहित ने बताया कि परिवादी खींवसिंह राजपूत ने एसीबी चौकी में लिखित शिकायत दर्ज कराई थी फलोदी तहसील के बैंगटी खुर्द के ग्राम विकास अधिकारी जसवंत राम नरेगा में जॉब कार्ड बनाने की एवज में रिश्वत की राशि की मांग कर रहा है.  खींवसिंह ने बताया कि ग्राम विकास अधिकारी  ने दस्तावेज जमा कराते समय ₹500 की रिश्वत राशि ले ली है. 

Rajasthan Political Crisis: सुप्रीम कोर्ट ने कहा- लोकतंत्र में असंतोष की आवाज़ को नहीं दबाया जा सकता 

एसीबी के शिकायत के सत्यापन के दौरान ग्राम विकास अधिकारी जसवंत राम में  1800 रुपए की रिश्वत राशि की मांग की. शिकायत का सत्यापन होने के बाद एसीबी ने ग्राम विकास अधिकारी को ट्रेप करने के लिए योजना बनाई. आज शिकायतकर्ता खींवसिंह को 1300 रुपए की रिश्वत की राशि लेकर ग्राम विकास अधिकारी जसवंत राम के पास भेजा गया. जसवंत राम ने परिवादी से सरकारी आवास में रिश्वत की राशि लेकर उसे अपनी टोपी में छिपा लिया. इशारा मिलते ही एसीपी दुर्गसिंह राजपुरोहित के नेतृत्व में टीम मौके पर पहुंच गई और ग्राम विकास अधिकारी के पास से रिश्वत की राशि बरामद कर ली. एसीबी ने ग्राम विकास अधिकारी को गिरफ्तार कर लिया है साथ ही संबंधित मामले की जांच कर रही है. 

सीएम गहलोत के भाई के घर पर ED का छापा, कल मुख्यमंत्री ने दिए थे संकेत

सीएम गहलोत के भाई के घर पर ED का छापा, कल मुख्यमंत्री ने दिए थे संकेत

जोधपुर: राजस्थान में जारी राजनीतिक संकट के बीच जोधपुर से बड़ी खबर आई है. वर्ष 2007 से 2009 के बीच उर्वरक सब्सिडी चोरी से जुड़े मामले में सूबे के मुख्यमंत्री गहलोत के भाई अग्रसेन गहलोत के घर पर ED की टीम पहुंची है. 

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अग्रेसने पर उर्वरक घोटाले में शामिल होने का आरोप है. अग्रसेन गहलोत अनुपम कृषि नामक कम्पनी चलाते हैं. वर्ष 2007 से 2009 के बीच अग्रसेन की कंपनी द्वारा सब्सिडी वाले उर्वरक पोटाश के मूरेट का निर्यात करने के आरोप लगे थे जबकि यह उर्वरक घरेलू किसानों के लिए काम आता था. 

दस्तावेज खंगाले जाने के साथ सर्च ऑपरेशन जारी:  
जोधपुर, दिल्ली, गुजरात और पश्चिम बंगाल में एक दर्जन से ज्यादा स्थानों पर ED का सर्च ऑपरेशन जारी है. इसी के चलते टीम अग्रेसन गहलोत ने निवास स्थान पर दस्तावेज खंगाल रही है. इसके साथ ही आज सुबह इसी मामले के चलते पूर्व सांसद बद्रीराम जाखड़ के निवास पर भी पहुंची थी. वहीं इससे पहले कल गहलोत ने आज जोधपुर में अपने परिवारजनों के खिलाफ ED की कार्रवाई के संकेत दिए थे. ऐसे में वस्तुतः गहलोत की आशंका सही निकली है.
 

Open Covid-19