जोधपुर REET परीक्षा में चप्पल में डिवाइस से नकल प्रकरण: हाईकोर्ट की शरण में पहुंचा भगोड़ा सीआई राणीदान उज्ज्वल, FIR रद्द करने को लेकर दायर की याचिका

REET परीक्षा में चप्पल में डिवाइस से नकल प्रकरण: हाईकोर्ट की शरण में पहुंचा भगोड़ा सीआई राणीदान उज्ज्वल, FIR रद्द करने को लेकर दायर की याचिका

REET परीक्षा में चप्पल में डिवाइस से नकल प्रकरण: हाईकोर्ट की शरण में पहुंचा भगोड़ा सीआई राणीदान उज्ज्वल, FIR रद्द करने को लेकर दायर की याचिका

जोधपुर: रीट परीक्षा के दौरान चप्पल से नकल कराने के आरोपी से रिश्वत मांगने के आरोप में घिरे भगौड़े सीआई राणीदान उज्ज्वल ने हाईकोर्ट की शरण ली है. आरोपी राणीदान की बीकानेर पुलिस व एसीबी को तलाश है. आरोपी राणीदान में राजस्थान उच्च न्यायालय में विविध अपराधिक याचिका 482 पेश कर उनके खिलाफ दर्ज आपराधिक मामलों की एफआईआर को रद करने की मांग की है.

राणीदान की याचिका पर आज हाई कोर्ट न्यायाधीश फरजंद अली के कोर्ट में सुनवाई होगी. राणीदान चारण गंगाशहर थाने के सीआई के पद पर कार्यरत थे. जिस पर चप्पल से नकल कराने और रिश्वत लेने का मामला दर्ज किया गया हैं. दरअसल, राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा में चीट की चप्पल 30-30 हजार में बिकी थी. चप्पल में डिवाइस लगाकर ब्लूटूथ से नकल कराने की साजिश की गई थी. इस मामले में गिरफ्तार आरोपी सुरेन्द्र दारीवाल की जमानत पर उसका सामान लौटाने के नाम पर आरोपी सीआई राणीदान पर एक लाख रुपए की रिश्वत मांगने का आरोप है.

रिश्वत मांगने की पुष्टि का रिकॉर्ड एसीबी के पास उपलब्ध: 
गंगाशहर थानाधिकारी राणीदान सहित तीन और पुलिसकर्मियों को इस मामले में लाइन हाजिर कर दिया गया था, जिसके बाद राणीदान चारण को निलंबित भी किया जा चुका है. आरोपी राणीदान ने न सिर्फ रिश्वत मांगी है बल्कि खुद पुलिस के ही सिपाही के साथ मारपीट भी की थी. इसके साथ ही रिश्वत मांगने की पुष्टि का रिकार्ड एसीबी के पास उपलब्ध है. इस घटना के बाद से राणीदान भूमिगत है.

...फर्स्ट इंडिया न्यूज के लिए जोधपुर से शिवप्रकाश पुरोहित की रिपोर्ट

और पढ़ें