Jodhpur Jodhpur: सरकारी विद्यालयों में बढ़ने लगा पढ़ाई का स्थर, विद्यार्थियों और अभिभावकों का भी बढ़ा रूझान

Jodhpur: सरकारी विद्यालयों में बढ़ने लगा पढ़ाई का स्थर, विद्यार्थियों और अभिभावकों का भी बढ़ा रूझान

Jodhpur: सरकारी विद्यालयों में बढ़ने लगा पढ़ाई का स्थर, विद्यार्थियों और अभिभावकों का भी बढ़ा रूझान

जोधपुर: प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा प्रदेशभर के सरकारी विद्यालयों को जिस तरह से अपडेट किया गया है उसके बाद से लगातार पढ़ाई का स्तर सुधरने लगा है. बेहतर सुविधाओं का ही नतीजा है कि अब सरकारी स्कूलों के प्रति अभिभावकों का रूझान बढ़ने लगा है. जोधपुर के सरकारी विद्यालयों में भी इसका असर नजर आने लगा है. 

 

जोधपुर के चौपासनी हाउसिंग बोर्ड स्थित राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय दूसरी पुलिया की बात करे तो यहां पर प्रवेशोत्सव शुरू होने के साथ ही बड़ी संख्या में विद्यार्थी और अभिभावक एडमिशन के लिए पहुंच रहे हैं. एक समय हुआ करता था जब यह भ्रांति होती थी कि सरकारी विद्यालयों में पढाई नहीं हुआ करती लेकिन अब यह केवल भ्रांतिया ही रह गई है.

राज्य सरकार द्वारा सरकारी विद्यालयों को अपडेट किया गया है और इसके बाद अनेको योजनाएं भी चलाई जा रही है जिसका लाभ विद्यार्थियों को मिल रहा है. चौपासनी हाउसिंग बोर्ड स्थित राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय दूसरी पुलिया पर पिछले साल 1613 विद्यार्थियों ने प्रवेश लिया तो वहीं इस वर्ष भी विद्यार्थियों में काफी उत्साह दिख रहा है.

सरकारी विद्यालयों का स्थर सुधरा:

पिछले वर्ष के मुकाबले इस वर्ष विद्यार्थियों की संख्या बढ़ेगी. विद्यालय के प्रधानाचार्य किशोर कुमार ने बताया कि पिछले पांच सालों से सरकारी विद्यालय की तरफ परिजनों व विद्यार्थियों का रूझान इसलिए बढ़ा है क्योंकि सरकारी विद्यालयों का स्थर सुधरा है और अच्छी पढ़ाई होने लगी है. साथ ही राज्य सरकार द्वारा अनेक योजनाएं चलाई जा रही है जिसका डिस्प्ले हमने यहां कर रखा है.

और पढ़ें