जोधपुर Jodhpur: 7 साल जेल में बंद दुष्कर्म का आरोपी जमानत पर छूटा, पूजन करवाने का झांसा देकर फिर किया नाबालिग से दुष्कर्म; जेल पहुंचा तो लगा लिया फंदा

Jodhpur: 7 साल जेल में बंद दुष्कर्म का आरोपी जमानत पर छूटा, पूजन करवाने का झांसा देकर फिर किया नाबालिग से दुष्कर्म; जेल पहुंचा तो लगा लिया फंदा

Jodhpur: 7 साल जेल में बंद दुष्कर्म का आरोपी जमानत पर छूटा, पूजन करवाने का झांसा देकर फिर किया नाबालिग से दुष्कर्म; जेल पहुंचा तो लगा लिया फंदा

जोधपुर: ओसियां पुलिस ने गत दिनों नाबालिग से दुष्कर्म के आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भिजवाया था. गुरुवार को आरोपी ने केंद्रीय कारागार में फंदा लगाकर अपनी जान दे दी. उसका शव जेल की बैरक में शौचालय के रोशनदान में डोरी से फंदे पर लटका मिला. उसने तंत्र-मंत्र से ट्यूबवैल से पानी निकालने और कुंवारी कन्या से पूजन करवाने का झांसा देकर एक नाबालिग से दुष्कर्म किया था. 

पुलिस ने बताया कि भोपालगढ़ थानान्तर्गत गादेरी गांव निवासी सताराम उर्फ हीरदास नायक ने भगवा धोती बांधने में प्रयुक्त होने वाली डोरी से फांसी लगा ली. तड़के पांच बजे साथी बंदियों ने उसे फंदे पर लटका पाया तो जेल अधिकारियों को सूचना दी. सभी मौके पर पहुंचे, लेकिन तब तक उसकी मृत्यु हो चुकी थी. पुलिस ने न्यायिक मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में शव नीचे उतरवाकर मोर्चरी भेजा. 

कुंवारी कन्या से पूजन करवाने का झांसा देकर नाबालिग से दुष्कर्म किया: 
पुलिस ने बताया कि नाबालिग से दुष्कर्म व पॉक्सो मामले में सताराम को वर्ष 2013 में गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरक्षा में भेजा गया था. वह सात साल जेल में बंद रहा. पिछले साल उसकी जमानत हुई थी. गत 26 नवंबर को उसके खिलाफ फिर दुष्कर्म व पॉक्सो का मामला दर्ज हुआ. पुलिस के अनुसार सात साल जेल में बंद रहने के दौरान सताराम की एक अन्य बंदी से मुलाकात हुई थी. उसने अपने ट्यूबवैल से पानी नहीं आने की समस्या बताई थी. जमानत पर छूटने के बाद तांत्रिक उसके ट्यूबवैल पर पहुंचा और कुंवारी कन्या से पूजन करवाने का झांसा देकर नाबालिग से दुष्कर्म किया.

और पढ़ें