जोधपुर जोधपुर: झंडे और लाउड स्पीकर लगाने को लेकर दो समुदायों के बीच हिंसक झड़प, इंटरनेट सेवा बंद; CM गहलोत ने की शांति बनाए रखने की अपील

जोधपुर: झंडे और लाउड स्पीकर लगाने को लेकर दो समुदायों के बीच हिंसक झड़प, इंटरनेट सेवा बंद; CM गहलोत ने की शांति बनाए रखने की अपील

जोधपुर: राजस्थान के जोधपुर शहर के एक इलाके में सोमवार रात दो समुदाय के लोगों के बीच झड़प के बाद तनाव हो पैदा हो गया. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इसे दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है.

गहलोत ने मंगलवार की सुबह ट्वीट किया कि जोधपुर के जालौरी गेट के निकट दो गुटों में झड़प से तनाव पैदा होना दुर्भाग्यपूर्ण है. प्रशासन को हर कीमत पर शांति एवं व्यवस्था बनाए रखने के निर्देश दिए हैं. गहलोत ने लोगों ने शांति बनाए रखने की अपील करते हुए कहा कि जोधपुर, मारवाड़ की प्रेम एवं भाईचारे की परंपरा का सम्मान करते हुए मैं सभी पक्षों से मार्मिक अपील करता हूं कि शांति बनाए रखें एवं कानून-व्यवस्था बनाने में सहयोग करें.’

मिली जानकारी के अनुसार इस विवाद की शुरुआत एक चौक पर धार्मिक झंडे फहराने को लेकर हुई. शहर के जालोरी गेट चौराहा पर सोमवार रात को हंगामा के बाद जिले में इंटरनेट सेवा अगले आदेश तक ठप कर दी गई है. छोटी सी बात को लेकर कहासुनी बाद में मारपीट में बदल गई. सोमवार रात चौराहे पर स्थित स्वतंत्रता सेनानी बाल मुकुंद बिस्सा की मूर्ति पर झंडा लगाने और चौराहे के सर्किल पर ईद से जुड़े बैनर लगाने से विवाद की शुरुआत हुई. इसके अलावा ईद की नमाज को लेकर चौराहे तक लाउडस्पीकर लगाने‌ को लेकर नाराज लोगों का हुजूम एकत्र हो गया. विवाद के बाद हुई दोनों पक्षों में पत्थरबाजी हुई. पथराव में आधा दर्जन युवक घायल हो गए. 

पुलिस ने स्थिति को संभालने के लिए लाठीचार्ज किया:
वहीं पुलिस ने स्थिति को संभालने के लिए लाठीचार्ज किया. मौके पर भारी पुलिस जाब्ता तैनात है. पुलिस स्थिति को संभालने का प्रयास कर रही प्रयास कर रही है. एहतियात के तौर पर इंटरनेट सेवाओं को बंद किया गया है. कार्यवाहक संभागीय आयुक्त हिमांशु गुप्ता हिमांशु गुप्ता कानून और शांति व्यवस्था की समीक्षा कर रहे हैं. सभी पुलिस अधिकारी लगातार गश्त कर रहे हैं. कल रात घटना के दौरान कई पुलिस अधिकारियों और पत्रकारों को भी चोटें आने की जानकारी सामने आई है. 

और पढ़ें