Live News »

क्रिकेट मैच में पत्रकारों ने विधायकों को 10 रन से हराया

जयपुर: राजधानी के सवाई मानसिंह स्टेडियम पर आज खेले गए क्रिकेट मुकाबले में पत्रकारों की टीम विधायकों की टीम पर भारी पड़ी और इस टीम ने विधायकों को 10 रन से हरा दिया. विधानसभा के बजट सत्र के दौरान परंपरागत रूप से  क्रिकेट मैच का आयोजन किया जाता है. इसी क्रम में आज विधायकों व पत्रकारों के बीच मुकाबला हुआ. पत्रकारों की टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 12 ओवर में 4 विकेट पर 125 रन बनाए. मनीष भट्टाचार्य ने 79 रन की पारी खेली, जबकि आदित्य आत्रे ने नाबाद 15 रन बनाए.

राजस्थान सरकार ने किए 12 RAS अधिकारियों के तबादले, यहां देखे पूरी लिस्ट 

विधायकों की टीम की कप्तानी खेल मंत्री अशोक चांदना ने की:
वहीं विधायकों की टीम 11.4 ओवर में 115 रन पर आउट हो गई. पत्रकारों की टीम से आशीष मेहता ने 4 व कार्तिकेय ने तीन विकेट लिए. विधायकों की टीम की कप्तानी खेल मंत्री अशोक चांदना ने की. उन्होंने 29 रन बनाए. वहीं वेदप्रकाश सोलंकी ने 27 रन की पारी खेली. गेंदबाजी में आदर्श नगर विधायक रफीक खान की धुनाई हुई और उन्होंने एक ओवर में ही 30 रन दे डाले. अशोक चांदना ने तीन ओवर में 30 रन खर्च किए. चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा भी इस मैच में विधायकों व पत्रकारों का हौसला अफजाई करने के लिए पहुंचे. 

नहीं थम रहा कोरोना वायरस का कहर, चीन में मृतकों की संख्या हुई 1523, 66 हजार से ज्यादा संक्रमित 

और पढ़ें

Most Related Stories

2022 तक T20 वर्ल्ड कप का टलना तय, कल ICC की बैठक में औपचारिक घौषणा संभव

2022 तक T20 वर्ल्ड कप का टलना तय, कल ICC की बैठक में औपचारिक घौषणा संभव

नई दिल्ली: ऑस्ट्रेलिया में इस साल अक्टूबर-नवंबर में निर्धारित टी20 वर्ल्ड कप का भविष्य कोरोना की भेंट चढ़ता नजर आ रहा है. कोविड-19 महामारी के कारण आईसीसी इस टूर्नामेंट को 2022 तक टालने का मन बना चुकी है. ऐसे में यह माना जा रहा है कि बोर्ड सदस्यों की 28 मई को होने वाली बैठक में इससे जुड़ी औपचारिक घोषणा कर दी जाएगी. 

Rajasthan Corona Updates: पिछले 12 घंटे में सामने आए 109 पॉजिटिव केस, संक्रमितों का ग्राफ पहुंचा 7645 

एक ही प्रारूप में दो विश्व कपों का शेड्यूल करना अनुचित:  
ऐसा ऐलान इसलिए होना माना जा रहा है कि क्योंकि भारत में अक्टूबर 2021 में पहले से ही एक टी-20 विश्व कप निर्धारित है और और एक वर्ष में एक ही प्रारूप में दो विश्व कपों का शेड्यूल करना अनुचित है. वर्तमान स्थिति भी 6 महीने के भीतर दो विश्व कप के लिए तैयार नहीं है. मेजबान ब्रॉडकास्टर स्टार स्पोर्ट्स के लिए यह चिंता का विषय है.

6 महीने में 2 आईपीएल और 2021 में 2 विश्व कप प्रसारित करना आसान नहीं: 
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अगर भारत में अक्टूबर में आईपीएल होता है, तो ऐसे में 6 महीने में 2 आईपीएल और 2021 में 2 विश्व कप प्रसारित करना आसान नहीं होगा. इसी के चलते मौजूदा टी-20 वर्ल्ड कप को 2022 में कराया जाएगा. यानी टूर्नामेंट को स्थगित किया जाएगा, रद्द नहीं. 

दो—दो नगर निगम बनाने का फैसला सरकार का नीतिगत निर्णय, हाईकोर्ट नहीं करें हस्तक्षेप— महाधिवक्ता 

2023 में 50 ओवरों वाला वर्ल्ड कप भारत में खेला जाएगा:
भारत 2021 में एक टी-20 विश्व कप की मेजबानी करेगा. इसके बाद 2022 में ऑस्ट्रेलिया टी-20 वर्ल्ड कराएगा और फिर 2023 में 50 ओवरों वाला वर्ल्ड कप भारत में खेला जाएगा. ऐसे में संभावना जताई जा रही है कि बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली 28 मई को आईसीसी की बैठक में इस योजना का समर्थन करेंगे.


 

इस बार घरेलू टूर्नामेंट भी चढ़ा कोरोना वायरस की भेंट, ट्रायल के माध्यम से ही चुनी जाएगी टीम

इस बार घरेलू टूर्नामेंट भी चढ़ा कोरोना वायरस की भेंट, ट्रायल के माध्यम से ही चुनी जाएगी टीम

जयपुर: राजस्थान के घरेलू टूर्नामेंट भी इस बार कोरोना वायरस की भेंट चढ़ गए हैं.  लॉक डाउन के कारण 2 महीने से अधिक समय तक खेल मैदान बंद रहने के कारण खिलाड़ियों को तो नुकसान हुआ ही है और अब खेल संघ भी इसका खामियाजा भुगतेंगे. लॉक डाउन के कारण आरसीए के घरेलू टूर्नामेंट इस बार नहीं हो सकेंगे और एक बार फिर ट्रायल और कैंप के आधार पर ही बीसीसीआई के विभिन्न टूर्नामेंटों के लिए आरसीए की टीम चयनित की जाएगी. 

भारत में कोरोना वायरस को लेकर अमेरिकी प्रोफेसर का बड़ा अनुमान, जुलाई में होंगे करीब 5 लाख मामले 

उम्मीद है कि अगले कुछ दिनों में बोर्ड से गाइडलाइंस आ जाएगी:
अगस्त के आखिरी सप्ताह से बीसीसीआई का घरेलू टूर्नामेंट शुरू हो जाता है और उससे पहले आरसीए को अपने घरेलू टूर्नामेंट कराने होते हैं लेकिन फिलहाल यह स्थिति नजर नहीं आ रही और इसके बाद बारिश का मौसम भी शुरू हो जाएगा.  आरसीए के सचिव महेंद्र शर्मा से जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि आरसीए बीसीसीआई की गाइडलाइंस की पालना करेगी और उम्मीद है कि अगले कुछ दिनों में बोर्ड से गाइडलाइंस आ जाएगी. 

राजस्थान में पान, गुटखा और तम्बाकू बिक्री की अनुमति मिली, किया गया यह संशोधन 

इस बार ट्रायल के माध्यम से ही टीम चुनी जाएगी:
उन्होंने स्वीकार किया कि इस बार ट्रायल के माध्यम से ही टीम चुनी जाएगी. महेंद्र शर्मा ने कहा कि क्रिकेट में क्योंकि टीम गेम होता है ऐसे में हमें बहुत सी सावधानियां रखनी होगी. दरअसल जब आरसीए के घरेलू टूर्नामेंट होते हैं तो खेल मैदान, सहयोगी स्टाफ और होटल जैसी कई सुविधाएं लेनी पड़ती है. फिलहाल इन सुविधाओं के बारे में असमंजस की स्थिति है. ऐसे में एक बार फिर खिलाड़ियों को कॉल्विन शील्ड जैसे टूर्नामेंटों से महरूम रहना पड़ेगा. वैसे लोग डाउन के कारण आरसीए का ऑफिस भी बंद है और अधिकांश क्रिकेट मैदानों में मेंटेनेंस में समय लगेगा. 

महान हॉकी खिलाड़ी बलबीर सिंह सीनियर का निधन, पंजाब के मोहाली में 95 साल की उम्र में ली अंतिम सांस

महान हॉकी खिलाड़ी बलबीर सिंह सीनियर का निधन, पंजाब के मोहाली में 95 साल की उम्र में ली अंतिम सांस

नई दिल्ली: भारतीय हॉकी के महान खिलाड़ी बलबीर सिंह सीनियर का निधन हो गया. उन्होंने 95 वर्ष की उम्र में अंतिम सांस ली. करीब 2 सप्ताह से ज्यादा वक्त तक सेहत संबंधी परेशानियों से जूझने के बाद सोमवार को पंजाब के मोहाली के अस्पताल में अंतिम सांस ली. बलबीर सिंह अपने पीछे बेटी सुशबीर, 3 बेटों कंवलबीर, करनबीर और गुरबीर को छोड़ गए हैं.

ईद मुबारक: बॉलीवुड हस्तियों ने दी ईद की शुभकामनाएं, सोशल मीडिया पर शेयर की अपनी पोस्ट 

8 मई को कराया था अस्पताल में भर्ती:
फोर्टिस अस्पताल मोहाली के निदेशक अभिजीत सिंह ने कहा कि उन्हें 8 मई को यहां भर्ती कराया गया था. सोमवार सुबह करीब साढे छह बजे उनका निधन हो गया. उनके नाती कबीर ने बाद में पुष्टि की. बलबीर सिंह सीनियर ने लंदन (1948), हेलसिंकी (1952) और मेलबर्न (1956) ओलंपिक में भारत के स्वर्ण पदक जीतने में अहम भूमिका निभाई थी.

तेज बुखार के बाद अस्पताल में कराया भर्ती:
बलबीर सिंह सीनियर 18 मई से अर्ध चेतन अवस्था में थे और उनके दिमाग में खून का थक्का जम गया था. उन्हें फेफड़ों में निमोनिया और तेज बुखार के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था. देश के महानतम खिलाड़ियों में से एक बलबीर सिंह सीनियर अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति द्वारा चुने गए आधुनिक ओलंपिक इतिहास के 16 महानतम ओलंपियनों में  शामिल थे.

फ्लाइट में 5 वर्षीय बच्चा अकेला ही सफर कर पहुंचा बेंगलुरु, 3 माह बाद मां के पास पहुंचा विहान

पूर्व हॉकी कप्तान और तीन बार ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट रहे हॉकी लीजेंड बलबीर सिंह सीनियर नहीं रहे

पूर्व हॉकी कप्तान और तीन बार ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट रहे हॉकी लीजेंड बलबीर सिंह सीनियर नहीं रहे

चंडीगढ़: पूर्व हॉकी कप्तान और तीन बार ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट रहे 96 वर्षीय बलबीर सिंह सीनियर का निधन हो गया. सुबह 6 बजकर 17 मिनट पर उनका देहांत हो गया. 96 साल के थे. दो सप्ताह से अधिक समय तक स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से जूझने के बाद सोमवार को चंडीगढ़ के एक अस्पताल में उन्होंने अंतिम सांस ली. 

Coronavirus: भारत कोरोन संक्रमित देशों की सूची में टॉप-10 में शामिल, लगातार चौथे दिन सबसे ज्यादा बढोत्तरी 

उनके दिमाग में खून का थक्का जम गया था:
बलबीर सिंह सीनियर 18 मई से अर्ध चेतन अवस्था में थे और उनके दिमाग में खून का थक्का जम गया था. इस बार वह शुरू से ही वेंटिलेटर पर रहे और इस दौरान उन्हें तीन बार हार्ट अटैक भी आया. उन्हें फेफड़ों में निमोनिया और तेज बुखार के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था. इस बार उनकी तबीयत लगातार बिगड़ती रही और सोमवार को उन्होंने इस दुनिया को अलविदा कह दिया. देश के महानतम खिलाड़ियों में से एक बलबीर सीनियर अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति द्वारा चुने गए आधुनिक ओलंपिक इतिहास के 16 महानतम ओलंपियनों में शामिल थे.

आज से शुरू हुआ नौतपा, आसमान से जमकर बरसेगी आग 

1956 के ओलंपिक में वह भारतीय हॉकी टीम के कप्तान बने थे:
बलबीर सिंह सीनियर लंदन ओलंपिक 1948, हेलसिंकी ओलंपिक 1952 और मेलबर्न ओलंपिक 1956 में गोल्ड मेडल जीतने वाली भारतीय टीम का हिस्सा रहे हैं. 1956 के ओलंपिक में वह भारतीय हॉकी टीम के कप्तान बने थे. इसके अलावा वह वर्ल्ड कप 1971 में ब्रॉन्ज और वर्ल्ड कप 1975 में गोल्ड जीतने वाली भारतीय हॉकी टीम के मुख्य कोच थे. भारत सरकार ने उन्हें 1957 में पद्मश्री से सम्मानित किया था.


 

नाओमी ओसाका के नाम ये रिकॉर्ड दर्ज, सेरेना विलियम्स को छोड़ा पीछे

नाओमी ओसाका के नाम ये रिकॉर्ड दर्ज, सेरेना विलियम्स को छोड़ा पीछे

नई दिल्ली: जापानी टेनिस स्टार नाओमी ओसाका आजकल सुर्खियों में छाई हुई है, उनकी सुर्खियों में छाने की वजह है कि वे विश्व में सर्वाधिक कमाई करने वाली महिला खिलाड़ी बन गई है. जी हां फोर्ब्स पत्रिका के मुताबिक नाओमी ओसाका ने गत 12 माह में 3 करोड़ 74 लाख डॉलर की कमाई करके यह रिकॉर्ड अपने नाम किया है.

मौसम विभाग ने राजस्थान में लू चलने का अलर्ट किया जारी, हरियाणा और दिल्ली में भीषण की संभावना 

सेरेना विलियम्स को छोड़ा पीछे: 
इतना ही नहीं, बल्कि 2 बार की ग्रैंड स्लैम चैंपियन इस 22 वर्षीय एशियाई स्टार ने अपनी अमेरिकी प्रतिद्वंद्वी सेरेना विलियम्स को पीछे छोड़ दिया है. सेरेना ने गत एक वर्ष में पुरस्कार राशि और विज्ञापन से ओसाका की तुलना में 14 लाख डॉलर की कम कमाई की. इन दोनों ने हालांकि एक वर्ष में सर्वाधिक कमाई करने का मारिया शारापोवा का पिछला रेकॉर्ड तोड़ा. शारापोवा ने साल 2015 में 2 करोड़ 97 लाख डालर कमाए थे. 

पहले इनके नाम था ये रिकॉर्ड:
ओसाका ने साल 2018 में यूएस ओपन तथा साल 2019 में ऑस्ट्रेलियन ओपन का खिताब जीता था. 38 वर्ष की विलियम्स गत 4 वर्ष तक विश्व की सबसे अधिक कमाई करने वाली महिला खिलाड़ी रही चुकी है. जबकि इससे पूर्व शारापोवा के नाम 5 वर्ष तक सर्वाधिक कमाई करने का रिकॉर्ड दर्ज था. 

Rajasthan Corona Updates: चित्तौड़गढ़ में एक मरीज की मौत, राजस्थान में 152 नए केस आये सामने, कुल मरीजों की संख्या पहुंची 6894

जानिए क्यों BCCI अपने अध्यक्ष गांगुली और सचिव शाह के लिए पहुंचा सुप्रीम कोर्ट

जानिए क्यों BCCI अपने अध्यक्ष गांगुली और सचिव शाह के लिए पहुंचा सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली: पिछले साल अक्टूबर में पदभार संभालने वाले बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली और सचिव जय शाह का कार्यकाल बढ़ाने के लिए बीसीसीआई सुप्रीम कोर्ट पहुंचा है. दोनों को तीन साल के अनिवार्य ब्रेक (कूलिंग ऑफ पीरियड) पर जाना होगा. आपको बता दें की लोढ़ा समिति सुधारों के आधार पर तैयार किए गए नए बीसीसीआई संविधान के मुताबिक कोई भी व्यक्ति जो राज्य संघ के साथ बीसीसीआई का लगातार 6 साल तक पदाधिकारी रहा हो उसके लिए 3 साल तक विश्राम अवधि में जाना अनिवार्य होगा. 

दाती महाराज ने उड़ाईं लॉकडाउन की धज्जियां, दिल्ली पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच की शुरू 

गांगुली के पास बचा था 9 महीने का कार्यकाल:
गांगुली बंगाल क्रिकेट बोर्ड के 5 साल 3 महीने तक अध्यक्ष रह चुके हैं ऐसे में उनके पास बीसीसीआई अध्यक्ष के तौर पर 9 महीने का कार्यकाल ही बचा था. कुछ इसी तरह जय शाह भी गुजरात क्रिकेट संघ के 5 साल तक सचिव रह चुके हैं और उन्हें भी अनिवार्य विश्राम अवधि में जाना होगा.

सीओए के पास नहीं था क्रिकेट प्रशासन का अनुभव:
बीसीसीआई की ओर से सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका में कहा गया है कि प्रशासकों की समिति (सीओए) ने लगभग 3 साल तक बीसीसीआई को गलत तरीके से चलाया है मसूदा संविधान उन व्यक्ति की ओर से तैयार किया गया था जिनके पास क्रिकेट प्रशासन का अनुभव नहीं था. अनुभवी लोगों को प्रशासन से दूर करने से कहीं ना कहीं प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से क्रिकेट को खामियाजा भुगतना पड़ता है. बीसीसीआई ने याचिका में यह भी तर्क दिया है कि पदभार संभालने वाले किसी भी व्यक्ति को व्यवस्था को ढर्रे पर लाने के लिए समय चाहिए होता है इसलिए गांगुली और उनकी टीम को हर हाल में समय दिया जाना चाहिए.

घट गई एयर कनेक्टिविटी! अब मात्र 13 शहरों के लिए चलेंगी जयपुर से फ्लाइट, अहमदाबाद और चेन्नई के लिए कोई फ्लाइट नहीं

एक बार फिर से गुलजार होगा बालकृष्ण बिहानी स्टेडियम, जीर्णोद्धार का कार्य प्रगति पर

एक बार फिर से गुलजार होगा बालकृष्ण बिहानी स्टेडियम, जीर्णोद्धार का कार्य प्रगति पर

नोहर: हनुमानगढ़ के नोहर में दर्जनों नेशनल और इंटरनेशन फुटबॉल खिलाड़ी देने वाला नोहर का बालकृष्ण बिहानी स्टेडियम एक बार फिर से गुलजार होगा. पिछले करीब एक  दशक से अव्यवस्थाओं के शिकार इस स्टेडियम के जीर्णोद्धार का कार्य प्रगति पर है. विधायक अमित चाचाण के प्रयासों से लाखों रुपए की राशि से स्टेडियम का कायाकल्प किया जा रहा है.

3 माह और जारी रहेगी ईएमआई न भरने की मोहलत, आरबीआई ने कोरोना संकट के बीच लिया फैसला

जीर्णोद्धार का कार्य प्रगति पर:
इस संबंध में विधायक अमित चाचाण ने बताया कि चुनावी वायदे को पूरा करते हुए उनकी ओर से विभिन्न चरणों में विधायक कोटे से करीब 24 लाख रुपए का बजट स्वीकृत कर विभिन्न विकासकार्य करवाए जा रहे हैं. इसमें ग्राउंड को लोहे की जाली के कवर करवाया गया है. इसके अलावा इंटलोकिंग, प्वेलियम का जीर्णोद्धार, रंग-रोगन के अलावा ग्राउंड में ग्रासिंग लगाने का कार्य प्रगति पर है.

फिर से लौटेगा स्टेडियम का खोया हुआ अतीत:
विधायक के मुताबिक ग्रासिंग एवं पौधे गुडगांवा से मंगवाए गए हैं. मैदान के करीब 10 हजार सक्वेयर फीट एरिया में नीलगीरी घास लगाई जा रही है. स्टेडियम के जीर्णोद्धार में  दिनरात जुटे भूतपुर्व पालिकाध्यक्ष राजेंद्र चाचाण प्रवासियों से भी आर्थिक सहयोग लेकर स्टेडियम का खोया हुआ अतीत लौटाने में लगे हुए हैं.

3 माह और जारी रहेगी ईएमआई न भरने की मोहलत, आरबीआई ने कोरोना संकट के बीच लिया फैसला

कोरोना संकट के बीच ICC का बड़ा फैसला, अब खिलाड़ी थूक से नहीं चमका पाएंगे गेंद

 कोरोना संकट के बीच ICC का बड़ा फैसला, अब खिलाड़ी थूक से नहीं चमका पाएंगे गेंद

नई दिल्ली: कोरोना संकट के बीच ICC की क्रिकेट कमेटी ने बड़ा फैसला लेते हुए गेंद को थूक से चमकाने पर बैन लगाने की सिफारिश कर दी है. अनिल कुंबले की अगुवाई में ICC क्रिकेट कमेटी ने बहुत बड़ा फैसला लिया. ICC मेडिकल एडवाइजरी कमेटी के मुताबिक गेंद पर थूक के इस्तेमाल से कोरोना वायरस फैल सकता है, जिसके बाद क्रिकेट कमेटी ने इसे बैन करने की सिफारिश की. कमेटी को मेडिकल सलाह मिली है कि पसीने से वायरस नहीं फैल सकता, इसलिए गेंद को पसीने से चमकाने की इजाजत दी गई है. हालांकि मेडिकल टीम ने ICC को मैदान में और ज्यादा सफाई रखने की सलाह दी है.

LOCKDOWN 4.0: मुंबई के बांद्रा रेलवे स्टेशन पहुंचे हजारों की संख्या में मजदूर, स्टेशन पर मची अफरा-तफरी 

अब इस नियम में ICC को करना होगा बदलाव:
इस बैठक में ICC क्रिकेट कमेटी ने एक और बड़े बदलाव की सिफारिश की. कमेटी ने कहा है कि घरेलू मैचों में घरेलू अंपायर और मैच रेफरी का ही इस्तेमाल हो. ICC ने वर्ष 2002 से ये नियम बना रखा है कि आपक में भिड़ रही टीमों के देश का कोई भी मैच रेफरी या अंपायर उस मुकाबले में तैनात नहीं होगा, लेकिन अब इस नियम में ICC को बदलाव करना होगा.

डीआरएस पर भी बड़ी सिफारिश की:
ICC क्रिकेट कमेटी ने घरेलू अंपायरों की इंटरनेशनल मैचों में तैनाती के बाद डीआरएस पर भी बड़ी सिफारिश की है. क्रिकेट कमेटी ने कहा है कि घरेलू अंपायरों को देखते हुए हर टीम को एक अतिरिक्त डीआरएस रिव्यू मिलना चाहिए.

सुपर साइक्लोन अम्फान का असर, पश्चिम बंगाल में 20 और 21 मई को भारी बारिश का अनुमान

Open Covid-19