तीन टेस्ट मैचों में कोहली के अनुपस्थित रहने को लेकर बाेलें ऑस्ट्रेलिया के कोच, कहा-इससे भारतीय टीम प्रभावित होगी

तीन टेस्ट मैचों में कोहली के अनुपस्थित रहने को लेकर बाेलें ऑस्ट्रेलिया के कोच, कहा-इससे भारतीय टीम प्रभावित होगी

मेलबर्न: ऑस्ट्रेलिया के मुख्य कोच जस्टिन लैंगर ने विराट कोहली के पितृत्व अवकाश लेने के फैसले की प्रशंसा की है लेकिन उन्होंने कहा कि इससे बोर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के लिए होने वाली टेस्ट शृंखला के दौरान भारतीय टीम पर प्रभाव पड़ेगा. कोहली एडीलेड में पहले टेस्ट मैच के बाद स्वदेश लौट जाएंगे क्योंकि भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) ने उन्हें पितृत्व अवकाश की अनुमति दे दी है. कोहली जनवरी के शुरू में अपने पहले बच्चे के जन्म के समय अपनी अभिनेत्री पत्नी अनुष्का शर्मा के साथ रहना चाहते हैं.

कोहली जो भी करता है उसमें जिस तरह से अपनी ऊर्जा झोंक देता है वह अविश्वसनीयः
लैंगर ने कहा कि वह कोहली के क्रिकेट पर परिवार को प्राथमिकता देने के विचार का सम्मान करते हैं. लैंगर ने शुक्रवार को वीडियो कान्फ्रेंस के जरिये पत्रकारों से कहा कि मैंने अपनी जिंदगी में अब तक जितने खिलाड़ियों को देखा है उनमें विराट कोहली संभवत: सर्वश्रेष्ठ हैं और इसके कई कारण हैं. मैं केवल उनकी बल्लेबाजी के कारण ही ऐसा नहीं मानता हूं बल्कि इसमें उनकी ऊर्जा, खेल के प्रति जुनून और उनका क्षेत्ररक्षण भी शामिल है. उन्होंने कहा कि वह जो भी करता है उसमें जिस तरह से अपनी ऊर्जा झोंक देता है वह अविश्वसनीय है और मैं उसका बहुत सम्मान करता है. जिस तरह से उन्होंने यह फैसला (बच्चे के जन्म के लिए स्वदेश लौटना) किया उसका भी मैं बहुत सम्मान करता हूं. 

लैंगर ने कहा- किसी को सलाह दूंगा तो यही कि पहले बच्चे के जन्म के समय जरूर उपस्थित रहेंः
लैंगर ने कहा कि वह भी हमारी तरह इंसान है. अगर मुझे अपने किसी खिलाड़ी को सलाह देनी हो तो मैं हमेशा यही कहूंगा कि अपने पहले बच्चे के जन्म के समय जरूर उपस्थित रहें. यह आपका सबसे अच्छा काम होगा. कोहली मेलबर्न (26 से 30 दिसंबर) में बाक्सिंग डे टेस्ट, सिडनी (सात से 11 जनवरी) में नए साल पर होने वाले टेस्ट और ब्रिस्बेन (15 से 19 जनवरी) में होने वाले अंतिम टेस्ट मैच में नहीं खेल पाएंगे.

कोहली की अनुपस्थिति के बाद भी ऑस्ट्रेलियाई टीम को ढिलाई नहीं बरतनी चाहिएः
लैंगर ने कहा कि कोहली की अनुपस्थिति निश्चित तौर पर भारत को प्रभावित करेगी लेकिन इससे ऑस्ट्रेलियाई टीम को ढिलाई नहीं बरतनी चाहिए. उन्होंने कहा कि निश्चित तौर पर इसका (कोहली की अनुपस्थिति) प्रभाव पड़ेगा लेकिन हम यह भी जानते हैं कि भारत ने पिछली बार (2018-19) में हमें हराया था. उनकी टीम बहुत अच्छी है. हमें विराट के होने या न होने से एक सेकेंड के लिये भी आत्ममुग्ध नहीं होना चाहिए.
सोर्स भाषा

और पढ़ें