Live News »

भरतपुर में भोर तक चला कवियों का जादू, श्रोताओं से लगवाए ठहाके

भरतपुर में भोर तक चला कवियों का जादू, श्रोताओं से लगवाए ठहाके

भरतपुर। रूपवास कस्बे के मेला मैदान में नगरपालिका के तत्वावधान में आयोजित किए जा रहे बसंत पशु मेला एवं प्रदर्शनी में कवि सम्मेलन का आयोजन पूर्व जिला परिषद सदस्य वीर विक्रम सिंह परमार के मुख्यातिथ्य व एटीओ दिनेश शर्मा  की अध्यक्षता एवं समाजसेवी व ब्राह्मण समाज अध्यक्ष राजेश पाराशर के विशिष्ट आतिथ्य में आयोजित किया गया। कवि सम्मेलन के प्रारम्भ में वीर रस की कवयित्री मीरा दीक्षित ने सरस्वती वंदना गाकर कार्यक्रम शुरुआत की। 

इसके बाद कवि सम्मेलन में आए कवियों ने ओज, श्रृंगार,करुण रस,वीर रस आदि से ओतप्रोत काव्य पाठ किया। इससे पूर्व कवि सम्मेलन में भाग लेने आए कवियों का नगर पालिका सचिव संदीप कौशिक,गिरीश कुशवाहा व घनश्याम कुशवाहा  आदि ने माल्यार्पण कर स्वागत किया। कवयित्री मीरा दीक्षित हाथरसिया ने तेरे तो नाम से भी नाम जुड़ गया,उसका फेसबुक दुनिया में बदनाम हो गई मीरा आदि का काव्य पाठ किया।

वहीं लटूरी लट्ठ ने देश बड़ा गोदाम है जनता है सामान,नेता व्यापारी बना मूर्ख बना किसान काव्य पाठ के माध्यम से किसानों की देश मे हो रही दुर्दशा पर कड़े व्यंग किए।  इसके बाद मनोज सिंह ने गांधी तेरे रामराज्य का सपना पूरा हुआ नहीं,तेरे ही बेटे कहते राम यहां पर हुआ नही। बाड़ी से आए रामबाबू सिकरवार ने जो वतन की खातिर में मिटे उनको सलाम है,जांबाज सैनिकों को कोटि - कोटि प्रणाम है। 
सिकंदरा राव की गीता सिंह ने जाने क्या अपराध हुआ है ऐसा हमें बुलाया है,समझ गई हूं तेरे मन में कोई और समाया है।

वहीं अलवर के व्यंगकार सुरेंद्र सार्थक ने कहां जाऊं किधर जाऊं यह चिंता छोड़ देता हूं,मैं झरना हूं मैं जाता हूं तो पर्वत फोड़ देता हूं सुनाया। लखनऊ से आए विनय शुक्ल अगर इरादे अमर शहीदों के फौलाद नहीं होते यह आजाद नहीं होते तो हम आजाद नहीं होते सुनाया।

वहीं हरिओम सिंह हरी भरतपुर में पापा को सहन कर कांटों भरी राहों को जाती है बेटियां,घर परिवार को सहन कर दोनों परिवार को बनाती है बेटियां। कवि सम्मेलन में आए अन्य कवियों ने देश मे फैले भ्रष्टाचार,नोटबन्दी,कन्या भ्रूण हत्या,गरीबी आदि को माध्यम बनाया तीखे व्यंग किए। देर रात मेला मैदान पर शुरू हुआ कवि सम्मेलन भोर तक चला। कवि सम्मेलन के दौरान सभी कवियों ने श्रोताओं से जोरदार ठहाके लगवाए। इस अवसर पर आसपास के गांवों से आए ग्रामीणों की भारी भीड़ मौजूद रही। वहीं सुरक्षा व्यवस्था की दृष्टि से पर्याप्त मात्रा में पुलिस जाप्ता मौजूद रहा।
 

और पढ़ें

Most Related Stories

भरतपुर: खेल-खेल में चली गोली ने ली नाबालिग की जान

भरतपुर: खेल-खेल में चली गोली ने ली नाबालिग की जान

भरतपुर: जिले में मथुरा गेट थाने के ठीक सामने एक ही परिवार के दो नाबालिग बच्चे खेल रहे थे तभी उनमे से एक बच्चा कही से अवैध हथियार लेकर आया और खेलते समय उसने दूसरे बच्चे पर फायरिंग कर दी जिससे बच्चे की मौके पर ही मौत हो गयी. फायरिंग कर फरार हुए आरोपी नाबालिग को पुलिस ने दस्तयाब कर लिया है. 

पुलिस ने आरोपी नाबालिग को पकड़ा: 
हादसे की सूचना के बाद थाना प्रभारी व एएसपी सहित टीम मौके पर पहुंची है और साक्ष्य इकट्ठे किये. जानकारी के मुताबिक मथुरा गेट के सामने रहने वाले आरोपी व मृतक एक ही परिवार के बताये जा रहे हैं जो सुबह घरों के बाहर खेल रहे थे और फिर अचानक गोली चलने की आवाज आयी जिस पर स्थानीय लोग मौके पर पहुंचे तो देखा की एक बच्चा जिसके गोली लगी थी वह खून से लथपथ हालत में पड़ा था. आरोपी नाबालिग जो गोली मारने के बाद फरार हो गया था लेकिन पुलिस ने काफी मशक्कत के बाद उसे भागते हुए दबोच लिया.  

दोनों बच्चे एक ही परिवार के:
मामला मथुरा गेट थाने के बिलकुल सामने का है जहां एक ही परिवार के दो नाबालिग बच्चे खेल रहे थे और तभी उनमे से एक बच्चा जिसकी उम्र करीब 15 वर्ष बताई जा रही है. वह अपने घर से अवैध हथियार लोड करके वहां ले आया और खेलते रहे तभी उसने दूसरे बच्चे पर गोली चला दी और फरार हो गया. बताया जा रहा है की मृतक बच्चे की उम्र 14 वर्ष है और मृतक व मारने वाला बच्चे दोनों ही एक ही परिवार के हैं. 

बच्चे की मौत पर जमा हो गई भीड़:
वहीं बच्चे की मौत पर वहां लोगों की भीड़ जमा हो गयी और परिवार में चीख चिल्लाहट शुरू हो गयी. पुलिस ने तुरंत गोली लगने के बाद खून से लथपथ बच्चे को जिला आरबीएम अस्पताल पहुंचाया जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया और शव को पोस्टमार्टम के लिए मोर्चरी में रखवाया है. 

भरतपुर में जमकर बरसे मेघ, नगर निगम के दावों की खुली पोल, सड़कों पर भरा पानी 

भरतपुर में जमकर बरसे मेघ, नगर निगम के दावों की खुली पोल, सड़कों पर भरा पानी 

भरतपुर: लंबे इंतजार के बाद आज भरतपुर पर इंद्रदेव जमकर मेहरबान हुए और लगभग 1 घंटे की झमाझम बरसात में पूरे भरतपुर शहर को पानी से सराबोर कर दिया. जोरदार बारिश ने नगर निगम की पोल भी खोल कर रख दी और शहर की सड़कों पर जलभराव होने से दुकानदारों और राहगीरों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा. दुकानदारों और  राहगीरों का कहना था कि नगर निगम में नालों की सफाई समय पूर्व नहीं कराई है और यही वजह है कि आज की बारिश से जलभराव जैसे हालात हो गए हैं.

राज्यसभा सांसद किरोडी लाल मीना कोरोना पॉजिटिव, राठौड़, बेनीवाल, गोपी को भी करानी होगी कोरोना जांच!

सड़कों पर भरा पानी:
लगभग 1 घंटे की बारिश में शहर की सडकें नदियों में तब्दील होती हुई नजर आई और नालियों में भरा कीचड़ बरसात के पानी के साथ सड़कों पर जमा हो गया. बारिश के बाद लोगों को आवागमन में भी भारी परेशानी का सामना करना पड़ा तो कई लोग गड्ढों में गिरकर चोटिल भी हुए. भरतपुर में मानसून का लंबे समय से इंतजार किया जा रहा था और यह इंतजार आज कहीं जाकर पूरा हुआ है.

VIDEO: राजभवन और गहलोत सरकार के बीच मतभेदों की शुरूआत !

लोगों को उमस भरी गर्मी से राहत:
बरसात होने से जहां लोगों को उमस भरी गर्मी से राहत मिली है तो वही किसान के चेहरे पर छाई चिंता की लकीरों को भी आज की बरसात में धो दिया है. मौसम विभाग की माने तो पूर्वी राजस्थान में अभी जोरदार बारिश की संभावना जताई गई है.हालांकि इस साल बारिश कम होने से जिले के अधिकांश बांध सूखे पड़े हैं लेकिन लोगों को उम्मीद है कि आगामी दिनों में होने वाली बरसात से यह बांध पानी से लबालब हो उठेंगे.

सामूहिक दुष्कर्म की शिकार नाबालिग ने आईजी से लगाई आरोपियों को शीघ्र गिरफ्तार करने की गुहार

सामूहिक दुष्कर्म की शिकार नाबालिग ने आईजी से लगाई आरोपियों को शीघ्र गिरफ्तार करने की गुहार

भरतपुर: सामूहिक दुष्कर्म की शिकार हुई नाबालिग बालिका ने अपने पिता एवं परिजनों के साथ आईजी संजीब नार्जारी से आरोपियों को शीघ्र गिरफ्तार करने की मांग को लेकर गुहार लगाई है. 

 VIDEO: राज्य के मौजूदा राजनीतिक हालात से खुश नहीं राज्यपाल कलराज मिश्र, राजभवन में हलचल! 

पीड़िता के चाचा ने बताया कि सेवर थाना इलाके के कुछ पिचुमरिया गांव में उसकी भतीजी के साथ चार आरोपियों ने सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया था और जिसकी रिपोर्ट गत 12 अप्रैल को सेवर थाने में दर्ज करा दी थी. 

उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ का बयान, कहा-दुर्भाग्य है कि 14वें दिन भी बाड़े में बंद है सरकार 

पुलिस की कार्यशैली पर सवालिया निशान भी लगाए: 
पीड़िता के चाचा का कहना था शुरुआती दौर में तो पुलिस ने सक्रियता दिखाई लेकिन बाद में पुलिस इस मामले को लेकर चुप्पी साध ली. पीड़िता के पिता ने आईजी को ज्ञापन देकर पुलिस की कार्यशैली पर सवालिया निशान भी लगाए हैं साथ ही आरोपियों से पुलिस की मिलीभगत को देखते हुए मामले की तफ्तीश किसी वरिष्ठ अधिकारी से कराने की भी मांग की है. पीड़िता के पिता ने आईजी को बताया कि आरोपी पक्ष द्वारा उन्हें डराया धमकाया भी जा रहा है. 

बहुचर्चित राजा मानसिंह हत्याकांड: कोर्ट ने सभी 11 आरोपियों को सुनाई आजीवन कारावास की सजा

बहुचर्चित राजा मानसिंह हत्याकांड: कोर्ट ने सभी 11 आरोपियों को सुनाई आजीवन कारावास की सजा

भरतपुर: कोर्ट ने बहुचर्चित राजा मानसिंह हत्याकांड के सभी 11 आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है. जिला एवं सेशन न्यायाधीश मथुरा साधना रानी ठाकुर ने सजा सुनाई है. कोर्ट ने कल 11 पुलिसकर्मियों को दोषी ठहराया था. वहीं तीन आरोपियों को कोर्ट ने बरी कर दिया था. राजा मानसिंह की पुत्री पूर्व मंत्री कृष्णेंद्र कौर दीपा ने सजा के ऐलान पर खुशी जताई है. दीपा के पति विजय सिंह, पुत्र कुंवर दुष्यंत सिंह और भाजपा नेता अरविंद पाल सिंह भी कोर्ट में मौजूद रहे. 

राजस्थान की सियासी जंग पहुंची सुप्रीम कोर्ट, विधानसभा स्पीकर ने दायर की याचिका 

न्यायाधीश साधना रानी ठाकुर ने 35 साल बाद फैसला सुनाया:
इससे पहले भरतपुर जिले के रियासत के राजा मानसिंह की हत्या के मामले में मंगलवार को मथुरा की जिला एवं सेशन कोर्ट की न्यायाधीश साधना रानी ठाकुर ने 35 साल बाद फैसला सुनाया. बहुचर्चित राजा मानसिंह हत्याकांड में जिला एवं सेशन न्यायाधीश साधना रानी ठाकुर ने डीग के तत्कालीन सीओ कान सिंह भाटी और थाना प्रभारी विरेंद्र सिंह सहित 11 पुलिसकर्मियों को दोषी ठहराया. साथ ही तीन पुलिसकर्मियों को बरी भी किया गया है. मथुरा की जिला एवं सेशन न्यायाधीश साधना रानी ठाकुर सजा का ऐलान कल बुधवार को करेंगी.

फैसले पर राजा मानसिंह के परिजनों ने जताई खुशी:
अदालत के फैसले पर राजा मानसिंह के परिजनों ने खुशी जताई है. स्व राजा मानसिंह की पुत्री व पूर्व सांसद कृष्णेंद्र कौर दीपा ने कहा कि न्याय मिलने में भले ही 35 साल लगे लेकिन फैसले से वे संतुष्ट हैं. उल्लेखनीय है कि डीग विधानसभा सीट से 7 बार विधायक चुने गए राजा मानसिंह और अन्य दो लोगों की 21 फरवरी 1985 को पुलिस फायरिंग में मौत हो गई थी. राजा मानसिंह ने डीग किले की लक्खा बुर्ज पर झंडा लगाने के विवाद को लेकर 1 दिन पहले 20 फरवरी को राजस्थान के तत्कालीन मुख्यमंत्री शिवचरण माथुर के सभा मंच और हेलीकॉप्टर को जोंगा गाड़ी की टक्कर से तहस-नहस कर दिया था.

प्रकरण को लेकर हुआ था भरतपुर में सियासी बवाल: 
इस प्रकरण को लेकर भरतपुर में उस दौरान जमकर सियासी बवाल हुआ था और तत्कालीन मुख्यमंत्री शिवचरण माथुर को सीएन की कुर्सी भी छोड़नी पड़ गई थी. बाद में राज्य सरकार ने मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी थी और सीबीआई ने 18 पुलिसकर्मियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की थी. वादी की तरफ से बाद में सुप्रीम कोर्ट की शरण लेकर राजस्थान से बाहर स्थानांतरित करने की मांग की गई और सुप्रीम कोर्ट ने 1 जनवरी 1990 को उक्त मामले को जिला एवं सत्र न्यायाधीश मथुरा स्थानांतरित कर दिया था.

मथुरा की जिला एवं सेशन कोर्ट ने सुनाया फैसला:
इस मामले की पिछली सुनवाई 9 जुलाई 2020 को हुई थी ओर उस दौरान 21 जुलाई 2020  ?फैंसले की तारीख निर्धारित की गई थी.मथुरा की जिला एवं सेशन कोर्ट में  सुनवाई के दौरान  सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे और पूरे न्यायालय परिसर को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया था. बड़ी संख्या में राजस्थान और उत्तर प्रदेश के पुलिस  जवान कोर्ट में  तैनात किए गए थे. फैसले  के समय  राजा मानसिंह की पुत्री  पूर्व सांसद कृष्णेंद्र कौर दीपा  उनके पति विजय सिंह भी कोर्ट रूम में मौजूद रहे. राजा मानसिंह की पुत्री कृष्णेंद्र कौर दीपा ने फैसले के बाद भरतपुर में पत्रकार वार्ता आयोजित कर खुशी जताई.

सीएम गहलोत के भाई के घर पर ED का छापा, कल मुख्यमंत्री ने दिए थे संकेत

35 साल बाद आए इस फैसले से​ मिली संतुष्टि:
पत्रकार वार्ता को संबोधित करते समय पूर्व मंत्री कृष्णेंद्र कौर दीपा अपने पिता की याद कर भावुक भी हो गई. उन्होंने कहा कि 35 साल बाद आए इस फैसले से उन्हें बहुत संतुष्टि मिली है और उम्मीद है कि सभी आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा दी जाएगी. पत्रकार वार्ता में स्वर्गीय राजा मानसिंह के दामाद विजय सिंह, काका रघुराज सिंह, नवासा कुंवर दुष्यंत सिंह कुंवर दीपराज सिंह,अरविन्द पाल सिंह, पूर्व सांसद बहादुर कोली,बाबू सिंह,योगेंद्र गप्पू,ऋषिराज सिंह आदि मौजूद रहे. 


 

सरकार में हुए घटनाक्रम पर पुलिस प्रशासन अलर्ट, गुर्जर और जाट बाहुल्य इलाकों पर रहेगी पूरी नजर

सरकार में हुए घटनाक्रम पर पुलिस प्रशासन अलर्ट, गुर्जर और जाट बाहुल्य इलाकों पर रहेगी पूरी नजर

भरतपुर: राजस्थान में चल रहे राजनैतिक सियासी घटनाक्रम की भरतपुर में भी हलचल मची हुई है. पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट और पूर्व पर्यटन मंत्री विश्वेन्द्र सिंह के समर्थन में मुख्यमंत्री के खिलाफ किए जा रहे विरोध प्रदर्शन को देखते हुए भरतपुर में भी सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं और सरकार द्वारा डीआईजी विकास कुमार की विशेष तैनाती यहां की गई है. डीआईजी विकास कुमार देर रात को ही भरतपुर पहुंच गए थे और सुबह बयाना के लिए रवाना हो गए.

पीएम मोदी ने कहा, केदारनाथ यात्रा मार्ग पर दिखे धाम की पौराणिक और ऐतिहासिक झलक, लिया विकास कार्यों का जायजा

गुर्जर और जाट बाहुल्य इलाकों पर पूरी नजर:
डिप्टी सीएम और पर्यटन मंत्री की मंत्रिमंडल से बर्खास्तगी के बाद गुर्जर और जाट बाहुल्य इलाकों पर डीआईजी विकास कुमार की पूरी नजर है. एसपी डॉक्टर अमनदीप कपूर ने भी सुबह अन्वेषण भवन में डीआईजी विकास कुमार से मुलाकात कर उन्हें जिले की कानून व्यवस्था से अवगत कराया. इस दौरान मीडिया को दिए बयान में विकास कुमार ने कहा कि भरतपुर के लोग शांतिप्रिय हैं और फिर भी कहीं कानून व्यवस्था बिगड़ने की बात सामने आती है तो उस पर कड़ाई के साथ अंकुश लगाया जाएगा.

किसी भी स्थिति से निपटने के लिए विशेष जाब्ता तैयार:
एसपी अमनदीप सिंह कपूर ने भी पूरी स्थिति पर नजर बना रखी है और पुलिस लाइन में किसी भी स्थिति से निपटने के लिए विशेष जाब्ता तैयार किया हुआ है.एसपी डॉ अमनदीप कपूर का कहना है कि सभी थाना प्रभारियों को वर्तमान हालातों को देखते हुए अलर्ट किया गया है. इधर राज्य के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य राज्य मंत्री डॉक्टर सुभाष गर्ग के रणजीत नगर स्थित निवास पर भी सुरक्षा व्यवस्था कड़ी की गई है और वहां सशस्त्र पुलिस के जवान तैनात किए हैं. राज्य में चल रहे राजनीतिक घटनाक्रम को लेकर भरतपुर में भी लोग तरह-तरह की चर्चा करते हुए नजर आ रहे हैं. 

केशवरायपाटन में पेयजल की किल्लत से शहरवासी परेशान, लोग दूषित पानी पीने को हुए मजबूर 

भरतपुर में फिर टिड्डियों का आतंक, किसानों के चेहरे पर छाई चिंता की लकीरें

भरतपुर में फिर टिड्डियों का आतंक, किसानों के चेहरे पर छाई चिंता की लकीरें

भरतपुर: कोरोना के खौफ के बीच अब टिड्डियों ने भरतपुर जिले पर एक बार फिर हमला बोला है. भरतपुर जिले के डीग इलाके में टिड्डियों ने फसल को पूरी तरह से चट कर दिया है. बीती रात डीग तहसील के कठेरा, ऊमरा आदि गांवों में टिड्डियों का भारी प्रकोप नजर आया. डीग इलाके में टिड्डियों के हमले की सूचना मिलते ही जिला प्रशासन और कृषि विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंचे और दमकलो की मदद से खेतों में  दवाई का छिड़काव करा टिड्डियों को भगाने का प्रयास किया.

सूरतगढ़ में रिश्तों का हुआ कत्ल, लाठी के वार से पिता ने उतारा पुत्र को मौत के घाट

टिड्डियों के झुंड फसलों को कर रहे है चट:
फर्स्ट इंडिया न्यूज़ के पास एक किसान द्वारा भेजे गए वीडियो में साफ नजर आ रहा है कि किस तरह टिड्डियों के झुंड फसल को चट करने में लगे हैं. पूरी रात कृषि विभाग द्वारा दवाइयों का जहां छिड़काव किया गया तो वही किसानों ने थाली पीट व शंख बजाकर टिड्डियों को उड़ाने का प्रयास किया, लेकिन टिड्डी दल फसल को नष्ट करने के बाद ही खेतों से हटे. भरतपुर जिले में लगभग 25 साल बाद टिड्डियों ने अपना हमला बोला है और जिला प्रशासन व कृषि विभाग इन पर नियंत्रण पाने के भरसक प्रयास भी कर रहा है.

टिड्डियों से किसान परेशान:
भरतपुर जिले के वैर, भुसावर, नदबई,डीग,कुम्हेर आदि इलाकों में टिड्डियों का प्रकोप तो पिछले दिनों नजर आया था, लेकिन अब डीग इलाके की फसल पर भी टिड्डियों ने हमला बोला है. भरतपुर जिले में टिड्डियों के आने से किसान की परेशानी और ज्यादा बढ़ गई है और उसका कहना है कि अगर जल्दी ही इन पर नियंत्रण नहीं पाया गया तो फसल पूरी तरह से चौपट हो सकती है. राज्य के पर्यटन मंत्री विश्वेन्द्र सिंह, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य राज्य मंत्री डॉ सुभाष गर्ग, व गृह रक्षा राज्य एवं नागरिक सुरक्षा मंत्री भजन लाल जाटव ने भी भरतपुर जिले में टिड्डियों के बढ़ते प्रकोप पर गहरी चिंता जताते हुए जिला प्रशासन व कृषि विभाग के अधिकारियों को दिशा निर्देश दिए हैं कि जल्दी ही टिड्डियों पर नियंत्रण पाने के भरसक प्रयास किए जाएं.

विधायक खरीद फरोख्त प्रकरण: एसओजी ने कहा-हमने फोन पर बातचीत के आधार पर दर्ज की है FIR 

BHARATPUR: कोरोना की वजह से गुरु पूर्णिमा का पर्व रहा फीका, नहीं हुए मंदिरों में धार्मिक आयोजन, मुड़िया पूनो मेला भी रद्द

BHARATPUR: कोरोना की वजह से गुरु पूर्णिमा का पर्व रहा फीका, नहीं हुए मंदिरों में धार्मिक आयोजन, मुड़िया पूनो मेला भी रद्द

भरतपुर: कोरोना के खौफ ने परंपरागत पर्व गुरु पूर्णिमा का रंग पूरी तरह से फीका कर दिया है और हालात यह हो गए है कि आज जहां विभिन्न मंदिरों में धार्मिक आयोजन होने थे वहां सन्नाटा पसरा हुआ नजर आ रहा है. भरतपुर के पड़ोसी उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले के गोवर्धन में आयोजित होने वाला मुड़िया पूनो मेला भी रद्द कर दिया गया है और आज तक के इतिहास मैं ऐसा पहली बार हो रहा है कि गुरु पूर्णिमा पर लगाई जाने वाली 7 कोस परिक्रमा मार्ग आज वीरान नजर आ रहा है.

Jodhpur: सेंट्रल जेल के बाहर नजर आया अनोखा नजारा, गुरु पूर्णिमा पर आसाराम के भक्तों ने माथा टेक कर लगाई दंडवत

पूंछरी के लौठा गांव में छाई वीरानी:
गुरु पूर्णिमा के मौके पर गोवर्धन की परिक्रमा देने के लिए देश के दूरदराज इलाकों से करोड़ों की संख्या में श्रद्धालु पहुंचते थे, लेकिन कोरोना के खौफ के चलते परिक्रमा को स्थगित करना पड़ा है. गोवर्धन महाराज की परिक्रमा का लगभग डेढ़ किलोमीटर का हिस्सा राजस्थान में भी आता है और डीग तहसील के पूंछरी का लौठा गांव में भी आज वीरानी छाई हुई है.

विभिन्न धार्मिक कार्यक्रम हुए रद्द:
श्रद्धालु गोवर्धन परिक्रमा देने तक नहीं पहुंचे इसके लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं और जगह-जगह पुलिस बैरिकेड लगाकर श्रद्धालुओं को वापस भेज रही है. गुरु पूर्णिमा के मौके पर पूरा ब्रज मंडल गिर्राज महाराज की जयकरों से गुंजायमान रहता था लेकिन कोरोना ने अन्य त्योहारों की तरह गुरु पूर्णिमा पर्व का भी मजा किरकिरा कर दिया है. भरतपुर शहर में गुरु पूर्णिमा के मौके पर नगर परिक्रमा का हर साल आयोजन होता था लेकिन आज नगर परिक्रमा भी रद्द कर दी गई है. भरतपुर शहर की सर्कुलर रोड पर जहां हजारों लोगों की भीड़ और सैकड़ों की संख्या में भंडारे आयोजित होते थे वह भी कही नजर नहीं आ रहे हैं.

Food Van: अब जरूरतमंद लोगों को मिलेगा दो वक्त का खाना, एसएमएस अस्पताल में फूड वैन की शुरुआत

पति ने जहर खाकर की जीवन लीला समाप्त, कल पत्नी ने भी खाया था विषाक्त पदार्थ

पति ने जहर खाकर की जीवन लीला समाप्त, कल पत्नी ने भी खाया था विषाक्त पदार्थ

भरतपुर: प्रदेश के भरतपुर जिले के डीग कस्बे में एक अजीबोगरीब घटना सामने आई है जिसमें सोमवार को तो पत्नी ने जहर खाकर अपनी जान दे दी थी तो मंगलवार को पति ने भी जहर का सेवन कर अपनी जीवन लीला को समाप्त कर लिया. घटना डीग कस्बे की अउ गेट की है जहां सुमन नामक महिला ने अज्ञात कारणवश कल जहर खा लिया था जिसे गंभीर अवस्था में भरतपुर अस्पताल में भर्ती कराया लेकिन इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई थी.

शवों का किया पोस्टमार्टम:
मंगलवार को जब पुलिस महिला के शव के पोस्टमार्टम की प्रक्रिया में जुटी थी तो इसी दौरान महिला के पति जगदीश ने भी जहर खा लिया और उसकी मौत हो गई. डीग थाना पुलिस ने पति-पत्नी के शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों के सुपुर्द कर दिया है, तो वहीं दूसरी ओर दोनों पक्षों के लोग एक दूसरे पर पर जहरीला पदार्थ खिलाकर हत्या करने के आरोप भी लगा रहे हैं.

दिल्ली हिंसा प्रकरण: जामिया की छात्रा सफूरा जरगर को दिल्ली हाईकोर्ट से मिली जमानत

मामले की छानबीन में जुटी पुलिस:
डींग थाना प्रभारी गणपत सिंह ने बताया कि दोनों पति-पत्नी ने किन कारणवश जहर खाकर अपनी जान दी है इस बात का पुलिस पता लगा रही है और जल्दी ही पूरे मामले का खुलासा कर दिया जाएगा. डीग कस्बे में पति पत्नी द्वारा जहर खाकर जान देने की घटना सभी जगह चर्चा का विषय बनी हुई है. 

राजस्थान से गुजरात जा रही शराब की खेप बरामद, 400 पेटी अंग्रेजी शराब बरामद, चालक गिरफ्तार

Open Covid-19