भरतपुर में भोर तक चला कवियों का जादू, श्रोताओं से लगवाए ठहाके

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/02/14 01:01

भरतपुर। रूपवास कस्बे के मेला मैदान में नगरपालिका के तत्वावधान में आयोजित किए जा रहे बसंत पशु मेला एवं प्रदर्शनी में कवि सम्मेलन का आयोजन पूर्व जिला परिषद सदस्य वीर विक्रम सिंह परमार के मुख्यातिथ्य व एटीओ दिनेश शर्मा  की अध्यक्षता एवं समाजसेवी व ब्राह्मण समाज अध्यक्ष राजेश पाराशर के विशिष्ट आतिथ्य में आयोजित किया गया। कवि सम्मेलन के प्रारम्भ में वीर रस की कवयित्री मीरा दीक्षित ने सरस्वती वंदना गाकर कार्यक्रम शुरुआत की। 

इसके बाद कवि सम्मेलन में आए कवियों ने ओज, श्रृंगार,करुण रस,वीर रस आदि से ओतप्रोत काव्य पाठ किया। इससे पूर्व कवि सम्मेलन में भाग लेने आए कवियों का नगर पालिका सचिव संदीप कौशिक,गिरीश कुशवाहा व घनश्याम कुशवाहा  आदि ने माल्यार्पण कर स्वागत किया। कवयित्री मीरा दीक्षित हाथरसिया ने तेरे तो नाम से भी नाम जुड़ गया,उसका फेसबुक दुनिया में बदनाम हो गई मीरा आदि का काव्य पाठ किया।

वहीं लटूरी लट्ठ ने देश बड़ा गोदाम है जनता है सामान,नेता व्यापारी बना मूर्ख बना किसान काव्य पाठ के माध्यम से किसानों की देश मे हो रही दुर्दशा पर कड़े व्यंग किए।  इसके बाद मनोज सिंह ने गांधी तेरे रामराज्य का सपना पूरा हुआ नहीं,तेरे ही बेटे कहते राम यहां पर हुआ नही। बाड़ी से आए रामबाबू सिकरवार ने जो वतन की खातिर में मिटे उनको सलाम है,जांबाज सैनिकों को कोटि - कोटि प्रणाम है। 
सिकंदरा राव की गीता सिंह ने जाने क्या अपराध हुआ है ऐसा हमें बुलाया है,समझ गई हूं तेरे मन में कोई और समाया है।

वहीं अलवर के व्यंगकार सुरेंद्र सार्थक ने कहां जाऊं किधर जाऊं यह चिंता छोड़ देता हूं,मैं झरना हूं मैं जाता हूं तो पर्वत फोड़ देता हूं सुनाया। लखनऊ से आए विनय शुक्ल अगर इरादे अमर शहीदों के फौलाद नहीं होते यह आजाद नहीं होते तो हम आजाद नहीं होते सुनाया।

वहीं हरिओम सिंह हरी भरतपुर में पापा को सहन कर कांटों भरी राहों को जाती है बेटियां,घर परिवार को सहन कर दोनों परिवार को बनाती है बेटियां। कवि सम्मेलन में आए अन्य कवियों ने देश मे फैले भ्रष्टाचार,नोटबन्दी,कन्या भ्रूण हत्या,गरीबी आदि को माध्यम बनाया तीखे व्यंग किए। देर रात मेला मैदान पर शुरू हुआ कवि सम्मेलन भोर तक चला। कवि सम्मेलन के दौरान सभी कवियों ने श्रोताओं से जोरदार ठहाके लगवाए। इस अवसर पर आसपास के गांवों से आए ग्रामीणों की भारी भीड़ मौजूद रही। वहीं सुरक्षा व्यवस्था की दृष्टि से पर्याप्त मात्रा में पुलिस जाप्ता मौजूद रहा।
 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in