गोपेश्वर, उत्तराखंड केदारनाथ मंदिर के पट हुए बंद, योगी आदित्यनाथ और CM रावत हुए अंतिम झांकी में शामिल

केदारनाथ मंदिर के पट हुए बंद, योगी आदित्यनाथ और CM रावत हुए अंतिम झांकी में शामिल

केदारनाथ मंदिर के पट हुए बंद, योगी आदित्यनाथ और CM रावत हुए अंतिम झांकी में शामिल

गोपेश्वर:  ठंड और बर्फबारी के बीच आज भैया दूज के पावन पर्व देश मेें मनाया जा रहा है और उत्तराखंड में उच्च गढ़वाल हिमालयी क्षेत्र स्थित केदारनाथ मंदिर के कपाट शीतकाल के लिए बंद हो गए है. इस दौरान उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उत्तराखंड के उनके समकक्ष त्रिवेंद्र सिंह रावत भी उपस्थित रहे और आखिरी झांकी का आनंद उठाया है. 

केदारनाथ में कल रात से ही मौसम बदल गया था और बूंदाबांदी के साथ ही बर्फ गिरनी शुरू हो गयी थी.आठ बजकर 30 मिनट पर कपाट बंद होने से पहले आज तड़के मंदिर में परंपरागत तरीके से पूजा की गई थी.  इस पूजा में केदारनाथ मंदिर के पुजारी, परंपरागत तीर्थ पुरोहित, स्थानीय प्रशासन और चारधाम देवस्थान बोर्ड के पदाधिकारियों के साथ ही योगी और रावत भी शामिल हुए है. 

अब मंदिर को 6 महिने बाद मई में अक्षय तृतीया पर खोला जाएगा. आपको बता दे  कि मंदिर को बंद करने के पहले एक बड़े दिये को जलाकर रखा जाता है  और 6 महिने बाद खुलने पर भी ये दिया ऐसे ही जलता रहता है. इस 6 महिने में बर्फ की चादर मंदिर को चारों ओर से घेर लेती है और इसके बाद भी दिया बुझता नहीं है. (सोर्स-भाषा)

और पढ़ें