Covid-19 से जान गंवाने वाले पीड़ितों के परिवारों को 50,000 रुपए की राशि देने की केजरीवाल ने की घोषणा

Covid-19 से जान गंवाने वाले पीड़ितों के परिवारों को 50,000 रुपए की राशि देने की केजरीवाल ने की घोषणा

Covid-19 से जान गंवाने वाले पीड़ितों के परिवारों को 50,000 रुपए की राशि देने की केजरीवाल ने की घोषणा

नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शहर में कोविड-19 से जान गंवाने वाले पीड़ितों के परिवारों को 50,000 रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की है. इसके अलावा मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि अगर परिवार में किसी कमाने वाले सदस्य की मृत्यु हुई है तो उस परिवार को 2,500 रुपए की मासिक सहायता दी जाएगी. उन्होंने कहा कि वैसे बच्चे जिनके माता-पिता की मौत कोविड-19 की वजह से हो गई या जिन्होंने एकल अभिभावक को भी खो दिया तो उस बच्चे को उसकी उम्र 25 साल होने तक 2,500 रुपए की मासिक सहायता दी जाएगी. इसके अलावा सरकार उसकी शिक्षा का भी ध्यान रखेगी. उन्होंने बताया कि दिल्ली मंत्रिमंडल से पारित होने के बाद इन सभी घोषणाओं को लागू किया जाएगा.मुख्यमंत्री ने कहा कि शहर के सभी 72 लाख राशनकार्ड धारकों को इस महीने मुफ्त में 10 किलोग्राम राशन दिया जाएगा. वहीं गरीब और जरूरतमंद को बिना राशन कार्ड के भी मुफ्त राशन दिया जाएगा.

वायरस के खतरनाक स्वरूप के मद्देनजर सिंगापुर से आने-जाने वाली उड़ानें रद्द करे केंद्र: 
नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को केंद्र सरकार से अनुरोध किया कि सिंगापुर के साथ समस्त हवाई सेवाओं को तत्काल रद्द किया जाए क्योंकि वहां सामने आया कारोना वायरस का एक नया स्वरूप बच्चों के लिए बहुत खतरनाक बताया जा रहा है.केजरीवाल ने ट्वीट में आशंका जताई कि वायरस का यह नया स्वरूप तीसरी लहर के रूप में भारत में दस्तक दे सकता है. उन्होंने हिंदी में ट्वीट किया, सिंगापुर में आया कोरोना का नया रूप बच्चों के लिए बेहद खतरनाक बताया जा रहा है. भारत में यह तीसरी लहर के रूप में आ सकता है. केंद्र सरकार से मेरी अपील है: 1. सिंगापुर के साथ हवाई सेवाएं तत्काल प्रभाव से रद्द हों. 2. बच्चों के लिए भी टीके के विकल्पों पर प्राथमिकता के आधार पर काम हो.

केजरीवाल ने किया मीडिया की एक रिपोर्ट का जिक्र:

ऐसा प्रतीत होता है कि केजरीवाल ने मीडिया की एक रिपोर्ट का जिक्र करते हुए यह ट्वीट किया. रिपोर्ट में सोमवार को कहा गया था कि सिंगापुर के बच्चों को वायरस के जिस स्वरूप का खतरा सामने आया है, वह सबसे पहले भारत में पाया गया था. नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डॉ वी के पॉल ने इस मीडिया रिपोर्ट पर प्रतिक्रिया देते हुए मंगलवार को कहा कि हम इसकी समीक्षा कर रहे हैं. इस महीने की शुरुआत में मुख्यमंत्री ने कहा था कि दिल्ली को कोविड-19 की तीसरी लहर के लिए तैयार रहना चाहिए. दिल्ली में मंगलवार को पांच अप्रैल के बाद पहली बार कोरोना वायरस संक्रमण के सबसे कम 4,482 मामले सामने आए तथा 265 और रोगियों की मौत हो गई, जबकि संक्रमण दर 6.89 प्रतिशत है. दिल्ली में सोमवार को संक्रमण के 4,524 मामले सामने आए थे और 340 रोगियों की मौत हुई थी. सोमवार को संक्रमण की दर 8.42 प्रतिशत थी.

और पढ़ें