तिरुवनंतपुरम टोक्यो ओलंपिक में आधिकारिक प्रतिनिधि बनने के लिए केरल के खेल मंत्री ने केंद्र से मांगी अनुमति

टोक्यो ओलंपिक में आधिकारिक प्रतिनिधि बनने के लिए केरल के खेल मंत्री ने केंद्र से मांगी अनुमति

टोक्यो ओलंपिक में आधिकारिक प्रतिनिधि बनने के लिए केरल के खेल मंत्री ने केंद्र से मांगी अनुमति

तिरुवनंतपुरम: केरल के खेल मंत्री वी अब्दुरहिमान अपने खर्चे पर आगामी तोक्यो ओलंपिक में राज्य के खिलाड़ियों की हौसलाअफजाई के लिए जापान जाने की योजना बना रहे हैं. अब्दुरहिमान ने कहा कि वह खेलों के महाकुंभ में राज्य के आधिकारिक प्रतिनिधि के रूप में जापान की यात्रा करने के लिए मंगलवार को केंद्र सरकार से स्वीकृति लेंगे. ओलंपिक खेलों का आयोजन 23 जुलाई से आठ अगस्त तक किया जाएगा.

अगर स्वीकृति मिलती है तो इस साल मई में पिनराई विजयन सरकार के दूसरी बार सत्ता में आने के बाद वह विदेशी दौरे पर जाने वाले पहले मंत्री होंगे. मंत्री ने कहा कि ओलंपिक के लिए जापान की यात्रा को लेकर उन्हें भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) से पहले ही निमंत्रण मिल चुका है.

स्वीकृति मिलने के बाद राज्य सरकार के होंगे आधिकारिक प्रतिनिधि:
अब्दुरहिमान ने पीटीआई से कहा कि मैं आज (मंगलवार) जापान की यात्रा के लिए केंद्र सरकार से स्वीकृति मांगूंगा. अगर स्वीकृति मिलती है तो मैं राज्य सरकार का आधिकारिक प्रतिनिधि रहूंगा. उन्होंने कहा कि लेकिन यात्रा का अंतिम फैसला कोविड-19 की स्थिति को ध्यान में रखते हुए किया जाएगा. अब्दुरहिमान ने कहा कि उनकी प्रस्तावित यात्रा का उद्देश्य विभिन्न स्पर्धाओं में चुनौती पेश कर रहे राज्य के नौ खिलाड़ियों की हौसलाअफजाई करने का है.

वित्तीय संकट और महामारी के कारण सरकार कम कर रही है खर्च:
अपने खर्चे पर यात्रा के संदर्भ में अब्दुरहिमान ने कहा कि वित्तीय संकट और महामारी को देखते हुए सरकार खर्चे कम रही है इसलिए उन्होंने अपना खर्चा खुद उठाने का फैसला किया. केरल के पीआर श्रीजेश, साजन प्रकाश, एम श्रीशंकर, केटी इरफान, एमपी जबीर, मोहम्मद अनस, अमोज जेकब, निर्मल नोह टॉम और एलेक्स एंटोनी Tokyo Olympics  की विभिन्न स्पर्धाओं में चुनौती पेश करेंगे.

और पढ़ें