लखनऊ राज्यपाल के अभिभाषण को लेकर सपा के विरोध का तरीका अशोभनीय - केशव प्रसाद मौर्य

राज्यपाल के अभिभाषण को लेकर सपा के विरोध का तरीका अशोभनीय - केशव प्रसाद मौर्य

राज्यपाल के अभिभाषण को लेकर सपा के विरोध का तरीका अशोभनीय - केशव प्रसाद मौर्य

लखनऊ:  उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने सोमवार को विधानमंडल के संयुक्त सत्र में राज्यपाल के अभिभाषण के दौरान समाजवादी पार्टी के सदस्यों द्वारा विरोध किये जाने की कड़े शब्दों में निंदा की और कहा कि विरोध का तरीका अशोभनीय और निंदनीय है.

सोमवार को पत्रकारों से बातचीत में केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि समाजवादी पार्टी के विरोध का तरीका अशोभनीय और निंदनीय है. उन्होंने कहा कि सपा ने अपना चरित्र उजागर किया है. मौर्य ने कहा कि सपा सदस्यों ने न तो राज्यपाल का सम्मान किया और न ही महिला का सम्मान किया. उन्होंने कहा कि सरकार सदन में हर सवाल का जवाब देने के लिए तैयार है.

एक घंटे तक पढ़े गए अभिभाषण में उन्होंने राज्य सरकार की विभिन्न उपलब्धियों का जिक्र किया: 

उल्लेखनीय है कि विधानसभा में सोमवार की सुबह विधानमंडल के संयुक्त सत्र की कार्यवाही राज्यपाल के अभिभाषण से शुरू हुई. मगर अभिभाषण शुरू होने से पहले ही समाजवादी पार्टी (सपा) के विधायक बैनर और पोस्टर लेकर सदन के बीचोंबीच आ गए और नारेबाजी करने लगे. सपा सदस्यों ने ‘गवर्नर गो बैक’ के नारे लगाए. इसी शोरगुल के बीच आनंदीबेन पटेल ने अभिभाषण पढ़ना शुरू किया. एक घंटे तक पढ़े गए अभिभाषण में उन्होंने राज्य सरकार की विभिन्न उपलब्धियों का जिक्र किया.

योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में भाजपा सरकार गरीबों का कल्याण कर रही है: 

जल शक्ति मंत्री और भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने राज्यपाल के अभिभाषण के दौरान सपा के विरोध पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि राज्यपाल के अभिभाषण के समय सपा सदस्यों द्वारा नारा लगाना ठीक नहीं है. हालांकि, उन्होंने तंज किया कि पिछली बार सपा सदस्यों के नारे में जो जोश था, वह जोश इस बार नहीं दिखा. सिंह ने कहा कि योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में भाजपा सरकार गरीबों का कल्याण कर रही है. सोर्स-भाषा 

और पढ़ें