सरकारी बंगले से किरोड़ीलाल मीणा अब रहेंगे निजी आवास पर! राजनीतिक गलियारों में एक बड़ी चर्चा

सरकारी बंगले से किरोड़ीलाल मीणा अब रहेंगे निजी आवास पर! राजनीतिक गलियारों में एक बड़ी चर्चा

सरकारी बंगले से किरोड़ीलाल मीणा अब रहेंगे निजी आवास पर! राजनीतिक गलियारों में एक बड़ी चर्चा

जयपुर: राज्यसभा सांसद डॉ. किरोड़ी लाल मीणा ने एक बड़ा सियासी मैसेज दिया है. सरकारी बंगले से किरोड़ीलाल मीणा अब निजी आवास पर रहेंगे. ऐसे में SMS हॉस्पिटल के सामने बंगला नंबर 2 की चहल पहल अब जगतपुरा में होगी. पहले यहां पर भीड़ का मजमा लगा रहता था. ऐसे में अब पूर्वी राजस्थान के लोगों को जगतपुरा की तरफ जाना पड़ेगा. सांसद मीणा शिफ्टिंग कर रहे हैं. इस बंगले को पूर्वी राजस्थान के दीन हीन लोगों की शरणस्थली माना जाता था. SMS या अन्य कार्य के लिए जयपुर आने वाले लोग यहां शरण लेते थे. 

हिंडौन सिटी में एक बड़े व्यापारी के पुत्र की गला रेत कर हत्या, पांच लोगों पर आरोप 

डॉ.किरोड़ीलाल मीणा या कनकमल कटारा का बढ़ सकता कद: 
वहीं बंगला खाली करने को लेक राजनैतिक गलियारों में एक बड़ी चर्चा चल रही है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार दो आदिवासी सांसदों में से किसी एक को केंद्र में पद मिल सकता है. ऐसे में मीणा के सरकारी बंगले को खाली करने को भविष्य में केंद्र में पद मिलने से लेकर जोड़ा जा रहा है. चर्चाओं के अनुसार डॉ. किरोड़ीलाल मीणा या कनकमल कटारा का कद बढ़ सकता है. कनकमल कटारा के लिए मेवाड़ के एक संघनिष्ठ नेता कोशिश कर रहे हैं.

लगातार 20 वें दिन पेट्रोल-डीजल की दर में जबरदस्त उछाल, जानें क्या हो गए रेट 

वसुंधरा सरकार में खाद्य आपूर्ति मंत्री थे तब मिला था बंगला:
बता दें कि किरोड़ी लाल मीणा पहली वसुंधरा सरकार में जब खाद्य आपूर्ति मंत्री थे तो अस्पताल रोड का यह बंगला मिला था. वसुंधरा राजे से झगड़ा होने पर उन्हें मंत्रिमंडल छोड़ दिया, मगर बंगला नहीं छोड़ा. उसके बाद उनकी पत्नी गोलमा देवी गहलोत सरकार में मंत्री बनीं तो बंगला उनके पास रह गया. पिछली सरकार में वसुंधरा राजे से 36 का आंकड़ा होने के बावजूद उनकी विधायक पत्नी गोलमा देवी के नाम पर यह बंगला उनके पास रहा, मगर इस बार गोलमा देवी चुनाव हार गई हैं. लिहाजा सरकार ने इन पर भी बंगला नहीं खाली करने के लिए जुर्माना ठोक दिया था. उसके बाद अब मीणा ने खुद बंगला खाली करने का निर्णय लिया है. 

और पढ़ें