हादसों के कारण पतंगबाजाें का मोह भंग, मंदी का शिकार हुआ पतंग कारोबार

हादसों के कारण पतंगबाजाें का मोह भंग, मंदी का शिकार हुआ पतंग कारोबार

हादसों के कारण पतंगबाजाें का मोह भंग, मंदी का शिकार हुआ पतंग कारोबार

जयपुर: पतंग की डोर से होने वाली दुर्घटनाओं की संख्या में निरंतर हो रही बढ़ोतरी व पुलिस प्रशासन की उदासीनता के कारण बाजार में उपलब्ध चाइनीज मांझे ने पतंगबाजों के उत्साह पर पानी फेर दिया है. जयपुर में पतंगबाजाें के सबसे बड़ी अड्डे अर्थात रामगंज बाजार स्थित जगन्नाथ जी के रास्ते के हाण्डी पुरा में मकर सक्रांति नजदीक आने के बावजूद पतंग कारोबार में उठाव काफी कमजोर है. 

दरअसल कारोबारी पतंग डोर की मांग में कमी के लिए मंदी के अलावा धन की तंगी को भी जिम्मेदार ठहराते हैं. उधर चाइनीज मांझे के कारण बढ़ रही दुर्घटनाओं के कारण मांझे के उपयोग पर प्रतिबंध की आशंका को लेकर भी दुकानदार आशंकित नजर आए. इनका कहना है कि यदि प्रशासनिक स्तर पर कड़ाई होती है और मांझे पर ही रोक लग जाती है तो अनेक लोगों का रोजगार छिन जाएगा. 

... संवाददाता विमल कोठारी की रिपोर्ट

और पढ़ें