पतंगों ने पकड़ा आसमान, रेलवे ट्रैक पर जोखिम में जान!

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/01/12 05:39

जयपुर। मकर संक्रांति पर इस बार लगातार अवकाश के चलते पतंगबाजी का उत्साह चरम पर पहुंचने लगा है, लेकिन यदि आपका बच्चा रेलवे ट्रैक पर पतंगबाजी करने जा रहा है तो सावधान होने की जरूरत है। न केवल रेलवे सुरक्षा बल कार्रवाई कर सकता है, बल्कि ट्रैक पर पतंगबाजी से हादसे की आशंका से भी इनकार नहीं किया जा सकता। 

जयपुर में हर बार मकर संक्रांति पर्व पर जमकर पतंगबाजी होती है और इस बार भी शहरवासियों ने पतंगबाजी के लिए जमकर तैयारी की हुई है। शहर के कई हिस्सों में मकर संक्रांति से दो दिन पहले ही जमकर पतंगबाजी हो रही है, लेकिन सबसे ज्यादा जोखिम रेलवे ट्रैक पर पतंगबाजी को लेकर है। ट्रैक पर पतंगबाजी करते हुए 5 साल पहले जयपुर में रेल हादसा हुआ था, जिसमें एक बालक ट्रेन की चपेट में आ गया था। ऐसे हादसे न हों, इसे रोकने के लिए रेलवे प्रशासन ने सतर्कता अभियान शुरू किया है। 

रेलवे सुरक्षा बल के जवान रेलवे ट्रैक के आस-पास की कॉलाेनियों में रहने वाले लोगों को सावधान कर रहे हैं। वे परिजनों के साथ समझाइश कर रहे हैं कि बच्चों को पतंगबाजी के लिए ट्रैक पर नहीं जाने दें। रेलवे सुरक्षा बल ने अलग-अलग टीमें गठित कर शहर क्षेत्र में गश्त करने के निर्देश दिए हैं। खासतौर पर झोटवाड़ा, बाईस गोदाम, टोंक फाटक और जगतपुरा क्षेत्र में गश्त करने के निर्देश दिए हुए हैं। हालांकि आरपीएफ की यह सतर्कता खास असर नहीं दिखा रही है।

जयपुर शहर के महेश नगर, दुर्गापुरा, बाईस गोदाम, इमली फाटक और जगतपुरा क्षेत्रों में रेलवे ट्रैक पर कई जगह पतंगबाजी हो रही है। फर्स्ट इंडिया न्यूज ने कई जगहों पर यह दृश्य अपने कैमरे में कैद किए। ऐसी जगहों पर दर्जनों की संख्या की संख्या एकत्रित होकर बच्चे रेलवे ट्रैक के बीचों-बीच पतंगबाजी कर रहे हैं।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in