लीड्स नहीं मानता कि अतिरिक्त बल्लेबाज से संतुलन बनेगा, तेज गेंदबाजों के रोटेशन पर विचार करेंगे: कोहली

नहीं मानता कि अतिरिक्त बल्लेबाज से संतुलन बनेगा, तेज गेंदबाजों के रोटेशन पर विचार करेंगे: कोहली

 नहीं मानता कि अतिरिक्त बल्लेबाज से संतुलन बनेगा, तेज गेंदबाजों के रोटेशन पर विचार करेंगे: कोहली

लीड्स: भारतीय कप्तान विराट कोहली ने शनिवार को इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे टेस्ट में बड़ी हार के बावजूद पांच विशेषज्ञ गेंदबाजों के साथ बने रहने का समर्थन करते हुए तेज गेंदबाजों के कार्यभार को ध्यान में रखते हुए चौथे मैच में बदलाव का संकेत दिया. कोहली ने मैच के बाद ऑनलाइन संवाददाता सम्मेलन में टीम में एक अतिरिक्त बल्लेबाज को रखने के विचार को खारिज कर दिया. पूर्व महान बल्लेबाज सुनील गावस्कर कमेंट्री के दौरान कई बार टीम में एक अतिरिक्त बल्लेबाज को रखने की वकालत करते सुने गये.

कोहली से जब छठे विशेषज्ञ बल्लेबाज के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि आप विशेषज्ञ बल्लेबाज की बात कर रहे हैं? मैं उस संतुलन में विश्वास नहीं करता हूं और मैंने उस संतुलन पर कभी विश्वास नहीं किया क्योंकि या तो आप हार को बचाने की या फिर जीतने की कोशिश कर सकते हैं. हमने अतीत में इतने बल्लेबाजों के साथ कई मैच ड्रॉ किये है. उन्होंने कहा कि अगर आपके शीर्ष छह (विकेटकीपर सहित) काम नहीं कर पा रहे तो इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि अतिरिक्त बल्लेबाज आपके लिए मैच बच ले. आपको जिम्मेदारी लेने और टीम के लिए काम करने पर गर्व करना होगा. 

उन्होंने कहा कि अगर आपके पास टेस्ट मैच में 20 विकेट लेने की क्षमता या संसाधन नहीं है, तो आप पहले से ही दो परिणामों के लिए खेल रहे हैं और यह हमारा खेलने का तरीका नहीं है. भारत दो सितंबर से ओवल में चौथा टेस्ट खेलेगी और इशांत शर्मा, जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी में से कम से कम एक गेंदबाज को आराम दिया जा सकता है. कोहली ने कहा कि ऐसा होना लगभग तय है क्योंकि यह एक तार्किक और समझदारी वाली बात है. हम गेंदबाजों पर काम का इतना दबाव नहीं डालना चाहते कि वह चोटिल हो जाए.

उन्होंने कहा कि हम उनसे साथ बातचीत करेंगे और आप यह उम्मीद नहीं कर सकते कि इतने कम समय में वे लगातार चार टेस्ट मैच खेले. इसलिए हम आकलन करेंगे कि किसे पांचवें मैच से पहले आराम की जरूरत है.यहां खेले गये तीसरे टेस्ट की गेंदबाजी देखे तो इशांत शर्मा को टीम से बाहर होना पड़ सकता है. कप्तान ने हालांकि अभी किसी का नाम नहीं लिया.

कोहली से जब पूछा गया कि क्या उन्हें लगता है कि इशांत को रन-अप से परेशानी हो रही है, तो उन्होंने कहा कि मेरा ध्यान उनके रन-अप पर नहीं था क्योंकि मैं स्लिप में खड़ा था. टीम के साथ कोई समस्या नहीं थी. हम एक बल्लेबाजी समूह के रूप में पहली पारी में विफल रहे और दूसरी पारी में हमने काफी बेहतर काम किया. उन्होंने कहा कि हम स्वीकार करते हैं कि एक गेंदबाजी समूह के रूप में भी हम उतने प्रभावी नहीं थे.(भाषा)

और पढ़ें