कोटा Kota: होली पर एक दिन में हुई 4 लोगों के डूबने की घटनाएं, लोकसभा अध्यक्ष ने कहा- देर रात तक प्रशासन का कोई बड़ा अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचना गंभीर चिंता बात

Kota: होली पर एक दिन में हुई 4 लोगों के डूबने की घटनाएं, लोकसभा अध्यक्ष ने कहा- देर रात तक प्रशासन का कोई बड़ा अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचना गंभीर चिंता बात

Kota: होली पर एक दिन में हुई 4 लोगों के डूबने की घटनाएं, लोकसभा अध्यक्ष ने कहा- देर रात तक प्रशासन का कोई बड़ा अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचना गंभीर चिंता बात

कोटा: जिले में होली पर चम्बल नदी से जुड़ी शहर की अलग-अलग नहरों में डूबने की 4 घटनाएं हुई. सभी चारों स्थानों पर निगम और एसडीआरएफ की टीम ने रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया. शहर की कंसुआ की डीसीएम नहर में डूबे किशोर तनवीर का शव देर रात मिल गया. 

वहीं बूंदी रोड़ क्षेत्र की नहर में डूबे युवक का भी शव निगम के गोताखोरों ने निकाला. इधर कुन्हाड़ी में नांता नहर में भी दो युवक डूबे. सर्च ऑपरेशन के दौरान निगम के गोताखोरो ने दीपक नाम के युवक का शव भी ढूंढ निकाला. अभी भी नांता नहर में डूबे एक अन्य युवक की तलाश जारी हैं. 

होली पर एक ही दिन में शहर की अलग-अलग नहरों में हुई डूबने की घटनाओं के बाद प्रशासन अलर्ट मोड पर आ गया. कलेक्टर व एसपी ने सर्च ऑपरेशन की मॉनिटरिंग की. उधर कंसुआ इलाके में डूबे किशोर तनवीर को तलाश में रेस्क्यू ऑपरेशन देरी से शुरू होने का आरोप लगाते हुए परिजनों ने नाराजगी जाहिर की. 

लोकसभा अध्यक्ष ने कहा- देर रात तक प्रशासन का कोई बड़ा अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचना गंभीर चिंता बात
लोकसभा अध्यक्ष और कोटा से सांसद ओम बिड़ला नहर में डूबने की सूचना पर देर रात परिजनों से मिले. बिड़ला ने ट्वीट करते हुए कहा कि कोटा के कुन्हाड़ी में 3 युवकों के नहर में डूबने की सूचना पर रात 12.30 बजे मौके पर पहुंच परिजनों से मिला. घटना दोपहर 3.30 बजे की है लेकिन देर रात तक प्रशासन का कोई बड़ा अधिकारी मौके पर नहीं आया जो गंभीर चिंता की बात है. ऐसे मामलों में संवेदनशीलता से काम करना चाहिए. 

उन्होंने कहा कि मैंने परिजनों को आश्वस्त किया कि मैं उनके साथ खड़ा हूं. राज्य सरकार और जिला प्रशासन को तुरंत कार्यवाही के लिए कहा है. युवकों को तलाशने के सभी प्रयास किए जाएंगे. 

और पढ़ें