कोटा मारवाड़ के बाद हाड़ौती में भी लॉरेन्स विश्नोई गैंग की दस्तक, पुलिस ने विशाल उमरावल को दबोचकर किये अहम खुलासे

मारवाड़ के बाद हाड़ौती में भी लॉरेन्स विश्नोई गैंग की दस्तक, पुलिस ने विशाल उमरावल को दबोचकर किये अहम खुलासे

मारवाड़ के बाद हाड़ौती में भी लॉरेन्स विश्नोई गैंग की दस्तक, पुलिस ने विशाल उमरावल को दबोचकर किये अहम खुलासे

कोटा: जुर्म की दुनिया में तेजी से उभरती लॉरेन्स विश्नोई गैंग की दस्तक अब मारवाड़ के बाद हाड़ौती में भी सुनायी पड़ रही हैं. आतंक का पर्याय बन चुकी कुख्यात लॉरेंस बिश्नोई 007 गैंग की दस्तक शिक्षा नगरी में हुई है. गैंग के एक गुर्गे ने कोटा ग्रामीण के रामगंजमंडी नगरपालिक के भाजपा पार्षद को अपने पद से इस्तीफा देने और 2 लाख रुपये देने के लिए धमकाया हैं. आज कोटा ग्रामीण पुलिस ने गैंग के एक गुर्गे विशाल उमरावल को दबोचकर अहम खुलासे किये हैं.

बेहद शातिर तरीके से प्लान बनाया जा रहा था:
लॉरेंस गैंग के गुर्गे द्वारा हाड़ौती में लॉरेंस गैंग को पनपाने के लिए बेहद शातिर तरीके से प्लान बनाया जा रहा था. कोटा ग्रामीण एसपी शरद चौधरी ने पूरा खुलासा करते हुए बताया कि गैंग के गुर्गे विशाल ने रामगंजमंडी नगरपालिक के भाजपा पार्षद लोकेश पावेचा को फेसबुक पेज पर लिखकर धमकी दी थी कि वह अपने पद से इस्तीफा दे दे और 2 लाख रुपये की भी मांग की थी. बात नहीं मानने पर 20 जनवरी तक गोली मारने की धमकी दी थी, लेकिन जब मामला कोटा ग्रामीण के रामगंजमंडी थाने पहुंचा और पुलिस ने तफ्तीश शुरू की तो बेहद चौंकाने वाले खुलासे पुलिस के सामने आये तो एक बार तो पुलिस भी ये जान कर हैरान रह गई की आरोपी विशाल कितना शातिर है और इसके तार मारवाड़ की कुख्यात लॉरेंस विश्नोई गैंग से जुड़े हैं. पुलिस के मुताबिक इस गैंग के टार्गेट पर कोटा के कई उद्योगपति, बड़े नेता व बड़े बदमाश थे, जिनकी हत्या के जरिये विशाल लॉरेंस गैंग की धाक कोटा में जमाने का प्लान था.

एक मकान से लॉरेंस गैंग के गुर्गे विशाल को दबोच लिया:
इस पूरे मामले में प्राइमरी इनपुट मिलते ही खुद कोटा ग्रामीण एसपी शरद चौधरी ने कमान अपने हाथ में लेकर मॉनिटरिंग की और जिला विशेष शाखा के प्रभारी इंस्पेक्टर राम लक्ष्मण को अहम जिम्मेदारी सौंपकर विशेष टीम के साथ इस मिशन पर भेजा और इस टीम ने जिनकीं टीम ने आरोपी विशाल की तलाश में झालवाड़, रामगंजमंडी, मंदसौर, भानपुरा, झाबुआ, उज्जैन और इंदौर में विशाल की तलाश में दबिश दी, लेकिन विशाल का कोई सुराग पुलिस को नहीं मिला. विशाल की तलाश में लगभग 1 हजार किलोमीटर दूर भटक रही पुलिस को इस बीच सूचना मिली कि आरोपी विशाल कोटा में छिपा हुआ है और तभी दूसरी टीम ने कोटा के रंगबाड़ी इलाके के एक मकान से लॉरेंस गैंग के गुर्गे विशाल को दबोच लिया.

विशाल की प्लानिंग जानकर कोटा ग्रामीण पुलिस के होश उड़ गए:
विशाल की गिरफ्तारी के बाद भाजपा पार्षदों ने राहत की सांस ली तो आरोपी विशाल की प्लानिंग जानकर कोटा ग्रामीण पुलिस के होश उड़ गए. मामले पर बात करते हुए एसपी शरद चौधरी ने बताया कि गैंग के गुर्गे विशाल उमरावल ने लोगों पर अपनी धाक जमाने के लिए फेसबुक पेज पर बाकायदा लिखा हुआ था कि " कोई भी डिफॉल्टर काम हो या कोई कांड करना हो तो मुझसे संपर्क करें. आरोपी विशाल अपना आदर्श दाऊद इब्राहिम को मानता था. उसने अपने फेसबुक पर हथियारों के साथ फोटो भो डाले हुए थे ताकि लोगों को उसका संदेश साफ तौर पर जा सके. फिलहाल कोटा ग्रामीण पुलिस आरोपी विशाल उमरावल से पूछताछ में जुटी हुई हैं और उम्मीद की जा रही है कि कुछ और सनसनीखेज खुलासे कोटा ग्रामीण पुलिस इस मामले में आने वाले दिनों में कर सकती है.

...भंवर एस. चारण, फर्स्ट इंडिया न्यूज, कोटा

और पढ़ें