कोझिकोड दुर्घटना: एअर इंडिया एक्सप्रेस ने सभी घायलों, मृतकों के परिजन को अंतिम मुआवजे की पेशकश की

कोझिकोड दुर्घटना: एअर इंडिया एक्सप्रेस ने सभी घायलों, मृतकों के परिजन को अंतिम मुआवजे की पेशकश की

कोझिकोड दुर्घटना: एअर इंडिया एक्सप्रेस ने सभी घायलों, मृतकों के परिजन को अंतिम मुआवजे की पेशकश की

नई दिल्ली: एअर इंडिया एक्सप्रेस ने कहा कि उसने पिछले साल केरल के कोझिकोड जिले में विमान दुर्घटना में घायल हुए सभी 165 यात्रियों को और दुर्घटना में मारे गए 19 यात्रियों के परिजनों को अंतिम मुआवजे की पेशकश की है. 

प्रस्तावों पर भी कोई कानूनी मामला दर्ज नहीं:
एयरलाइन के अनुसार 165 घायल हुए यात्रियों में से 80 यात्रियों ने छह अगस्त तक प्रस्ताव स्वीकार कर लिए हैं. एयरलाइन को शेष 85 यात्रियों और 19 मृतकों के परिजनों से प्रस्तावों की स्वीकृति का इंतजार है. एअर इंडिया एक्सप्रेस के एक प्रवक्ता ने कहा कि हमें प्रस्तावों पर घायल हुए यात्रियों या मृतकों के परिजनों की ओर से कोई अस्वीकृति नहीं मिली है. साथ ही प्रस्तावों पर भी कोई कानूनी मामला दर्ज नहीं किया गया है. दुबई से आ रही एअर इंडिया एक्सप्रेस की उड़ान छह सदस्यीय चालक दल सहित 190 लोगों के साथ सात अगस्त, 2020 को भारी बारिश के बीच कोझिकोड हवाई अड्डे पर उतरने के दौरान हवाई पट्टी से आगे निकल गई, विमान 35 फुट नीचे घाटी में गिर गया और दो हिस्सों में बंट गया था, जिससे 19 यात्रियों और दो पायलटों की मौत हो गई. हादसे में 165 यात्री और चालक दल के चार सदस्य घायल हो गए. प्रवक्ता ने बताया कि एयरलाइन ने सितंबर 2020 तक घायल हुए व्यक्तियों और मृतकों के परिजनों को अंतरिम मुआवजे का भुगतान किया. 

इसमें 12 वर्ष से अधिक आयु के यात्री के परिजन को 10 लाख रुपए, 12 वर्ष से कम आयु के यात्री के परिजनों को पांच लाख रुपए, गंभीर रूप से घायल यात्री को दो लाख रुपए और घायल यात्री को 50,000 रुपये का अंतरिम मुआवजा दिया गया. विमान दुर्घटना के पांच दिन बाद विमान दुर्घटना जांच बोर्ड (AAIB) ने दुर्घटना की परिस्थितियों की जांच के लिए पांच सदस्यीय समिति का गठन किया था, समिति ने अब तक अपनी रिपोर्ट जमा नहीं की है.
 

और पढ़ें