करौली दो पक्षों में जमीन विवाद: सपोटरा में पेट्रोल छिड़ककर आधा दर्जन लोगों पर पुजारी को आग लगाने का आरोप, मुख्य आरोपी गिरफ्तार

दो पक्षों में जमीन विवाद: सपोटरा में पेट्रोल छिड़ककर आधा दर्जन लोगों पर पुजारी को आग लगाने का आरोप, मुख्य आरोपी गिरफ्तार

दो पक्षों में जमीन विवाद: सपोटरा में पेट्रोल छिड़ककर आधा दर्जन लोगों पर पुजारी को आग लगाने का आरोप, मुख्य आरोपी गिरफ्तार

करौली: सपोटरा उपखण्ड की बूकना ग्राम पंचायत में मन्दिर माफी की भूमि को लेकर दो पक्षों में हुए विवाद में लगी आग से मंदिर पुजारी गंभीर रूप से झुलस गया. जिसकी जयपुर में उपचार के दौरान मौत हो गई. मृतक के परिजनों ने दबंगों पर पेट्रोल छिड़क कर आग लगाने का आरोप लगाया है. पुजारी की जयपुर एसएमएमस अस्पताल में मौत के बाद जिला पुलिस हरकत में आई. एस पी मृदुल कच्छावा ने आधा दर्जन टीमों का गठन किया इसके बाद मुख्य आरोपी कैलाश मीणा को गिरफ्तार कर लिया गया है. 

मंदिर भूमि समतल कराने को लेकर गांव के ही लोगों से विवाद हुआ: 
पुलिस के अनुसार बूकना गांव में पुजारी बाबूलाल वैष्णव राधा कृष्ण मंदिर का पुजारी था. मंदिर भूमि समतल कराने को लेकर गांव के ही लोगों से विवाद हुआ. आरोप है कि इस दौरान कुछ लोगों ने पेट्रोल छिड़क कर आग लगा दी. परिजनों ने सपोटरा के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में लाकर भर्ती कराया, लेकिन उसकी गंभीर स्थिति के कारण चिकित्सकों ने उसे जयपुर रैफर कर दिया. घायल वृद्ध ने उपचार के दौरान जयपुर में दम तोड़ दिया. मृतक के परिजनों ने सपोटरा थाने में 6 लोगों के खिलाफ पेट्रोल डालकर आग लगाने की एफआईआर सौंपी है. सूचना पाकर कैलादेवी के पुलिस उपाधीक्षक महावीर मीणा तथा सपोटरा थाने से थानाधिकारी हरजीलाल यादव ने मौके पर पहुंचकर विवाद की जानकारी ली. 

अतिक्रण करने वालों ने पंच पटेलों के फैसले को भी नकार दिया:
थानाधिकारी हरजीलाल यादव ने बताया कि बूकना गांव में मन्दिर माफी की जमीन को पुजारी बाबूलाल द्वारा समतल कराया गया था. इसको लेकर पुजारी ने पूर्व मे गांव के पंच पटेलों को एकत्रित करके अतिक्रमण हटाने के लिए मांग की थी. इस दौरान पंच- पटेलों ने भूमि को अतिक्रमण मुक्त करके मन्दिर के लिए भूमि को छोड़ कर किसी को भी अतिक्रमण नहीं करने की बात कही थी. आरोप है कि अतिक्रण करने वालों ने पंच पटेलों के फैसले को भी नकार कर अतिक्रमण किया जा रहा था. पुजारी द्वारा अतिक्रमणकारियों को रोकने का प्रयास करने से झगड़ा बढ़ गया. इसी दौरान विवादित भूमि में रखी कड़वी में पेट्रोल डालकर आग लगाने की घटना हुई, जिसमें पुजारी बाबूलाल बैष्णव झुलस गया.  

साक्ष्य जुटाने के लिए करौली से एफएसएल टीम भी बुलाई:
पुलिस ने मौके से साक्ष्य जुटाने के लिए करौली से एफएसएल टीम भी बुलाई. एसएफएल टीम के इंचार्ज अरुण कुमार चतुर्वेदी ने घटना स्थल से साक्ष्य संकलित किए. उन्होंने बताया कि घटना में लिप्त एक आरोपी का नाम अभी सामने आया है. थानाधिकारी ने बताया कि पेट्रोल डालकर आग लगाने की घटना अतिक्रमणियों ने की या पुजारी द्वारा की गई, इसका खुलासा जांच के बाद ही हो सकेगा. जख्मी हुए पुजारी के बयान दर्ज करने के लिए सपोटरा पुलिस टीम जयपुर के लिए रवाना की गई. पीड़ित वृद्ध ने उपचार के दौरान जयपुर में गुरुवार शाम दम तोड़ दिया. मृतक का शव आज  सपोटरा लाया जाएगा.


 

और पढ़ें