VIDEO: नींदड़ आवासीय योजना की भूमि अधिग्रहण के खिलाफ जमीन समाधि सत्याग्रह हुआ स्थगित, इन बिंदुओं पर बनी सहमति

VIDEO: नींदड़ आवासीय योजना की भूमि अधिग्रहण के खिलाफ जमीन समाधि सत्याग्रह हुआ स्थगित, इन बिंदुओं पर बनी सहमति

जयपुर: जयपुर विकास प्राधिकरण की नींदड़ आवासीय योजना की भूमि अधिग्रहण के खिलाफ किसानों के एक गुट का पिछले चार दिन से चल रहा जमीन समाधि सत्याग्रह शुक्रवार को स्थगित हो गया. इस आंदोलन को स्थगित कराने में सरकारी मुख्य सचेतक महेश जोशी ने जेडीए व किसानों के बीच सेतु की भूमिका निभाई. 

सरकारी मुख्य सचेतक महेश जोशी ने की पहल:
योजना की सीकर रोड से दो सौ फीट चौड़ी संपर्क सड़क के लिए जेडीए ने यहां कुछ निर्माण हटाए थे. जेडीए का दावा था कि किसानों से समझाइश के आधार पर निर्माण हटाए गए. इस कार्रवाई के खिलाफ किसानों के एक गुट ने नींदड़ बचाओ युवा संघर्ष समिति के संयोजक नगेन्द्र सिंह शेखावत के नेतृत्व में जमीन समाधि सत्याग्रह शुरू कर दिया. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मामले में किसानों के प्रति संवेदनशीलता दिखाते हुए सरकारी मुख्य सचेतक महेश जोशी को विवाद खत्म कराने के आदेश दिए. इस आदेश के बाद सरकारी मुख्य सचेतक महेश जोशी वहां पहुंचे. सरकारी मुख्य सचेतक महेश जोशी और संघर्ष समिति के संयोजक नगेन्द्र सिंह शेखावत के बीच वार्ता हुई. आपको बताते हैं कि सरकारी मुख्य सचेतक महेश जोशी और किसानों के बीच वार्ता में किन बिंदुओं पर सहमति बनी. 

इन बिंदुओं पर बनी सहमति:
- किसानों का जमीन समाधि सत्याग्रहण खत्म नहीं किया बल्कि स्थगित किया गया है
- इसके बाद किसानों से वार्ता के लिए राज्य सरकार उच्च स्तरीय कमेटी गठित होगी
- कमेटी से किसानों की वार्ता के दौरान सरकारी मुख्य सचेतक महेश जोशी मौजूद रहेंगे
- आंदोलन स्थगन के दौरान जेडीए मौके पर किसी प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं करेगा
- इस दौरान जेडीए समाधि स्थल से भी कोई छेड़छाड़ नहीं करेगा
- अगर समझौता वार्ता सफल नहीं हुई तो किसान वापस भूमि समाधि सत्याग्रह शुरू कर देंगे

सरकारी मुख्य सचेतक महेश जोशी व किसानों के बीच हुई वार्ता के सहमति के बिंदुओं पर जेडीए आयुक्त टी रविकांत से भी मौके से ही बात की गई. महेश जोशी ने जेडीए आयुक्त टी रविकांत को फोन कर सहमति के बिंदुओं की जानकारी दी. इसके बाद जेडीए टी रविकांत ने सरकार में उच्च स्तर पर बात करने के बाद महेश जोशी को दुबारा फोन कर वार्ता के बिंदुओं पर अपनी सहमति जताई. इस पर किसानों की ओर से भूमि समाधि सत्याग्रह स्थगित करने की घोषणा की गई. किसानों ने सरकारी मुख्य सचेतक महेश जोशी पर भरोसा जताते हुए अपना आंदोलन स्थगित किया है. महेश जोशी ने भी किसानों को आश्वस्त किया कि उनकी व किसानों के बीच जो सहमति के बिंदु तय किए गए हैं, इनकी अगर जेडीए के स्तर पर पालना नहीं होती है तो वह खुद भूमि समाधि सत्याग्रह में शामिल हो जाएंगे. 

और पढ़ें