SDRI की कोटा में बड़ी कार्यवाही, करीब 20 लाख की रोड टैक्स चोरी पकड़ी

SDRI की कोटा में बड़ी कार्यवाही, करीब 20 लाख की रोड टैक्स चोरी पकड़ी

SDRI की कोटा में बड़ी कार्यवाही, करीब 20 लाख की रोड टैक्स चोरी पकड़ी

जयपुर: बिना उचित परिवहन कर का भुगतान कर राज्य में कंस्ट्रक्शन व अन्य वाणिज्यिक गतिविधियों में वाणिज्यिक वाहनों के उपयोग का गोलमाल अब कोटा में उजागर हुआ है. राज्य में होने वाली राजस्व चोरी की जांच करने वाली विशेष जांच एजेंसी, राज्य राजस्व आसूचना निदेशालय अर्थात SDRI ने दरा से तीनधार में सड़क निर्माण कार्य कर रही पटेल इन्फ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड के केम्प सुरेदा में यह कार्रवाई कर 14 वाणिज्यिक वाहनों के संचालन में गड़बड़ी पकड़ी है. SDRI ने कोटा स्थित परिवहन विभाग के उड़नदस्तों के सहयोग से इन सभी वाहनों का मौके पर चालान किया और जब्त कराया. 

कुल 96 में से 14 वाहनों में मिली परिवहन कर की गड़बड़ी: 
विश्वस्त सूत्रों के अनुसार मौके पर जांच के लिए पहुंचे अधिकारियों ने प्लांट अधिकारियों से उपयोग किए जा रहे वाणिज्यिक वाहनों का विवरण मांगा. उपलब्ध विवरण के आधार पर जिला परिवहन अधिकारी के उडन दस्तो ने प्लांट में काम कर रहे 96 वाहनों के दस्तावेज की जांच की. जांच में पता लगा कि यहां कार्य कर रहे 14 वाहनों में परिवहन कर का पर्याप्त भुगतान ही नहीं हुआ है. इन 14 वाहनों में से 6 वाहन बिना पंजीयन व बिना राजस्थान राज्य का कर जमा कराएं संचालित होते पाए गए. जबकि 8 वाहन अन्य राज्य में पंजीकृत पाए गए. ये सभी 8 वाहन राजस्थान में पंजीकृत एवं राजस्थान राज्य में बिना कर जमा कराए संचालित होते मिले. इन वाहनों में टेंडम रोलर,  न्यूमेटिक रोलर, सॉइल कॉपैक्टर, मोटर ग्रेडर, ट्रक ट्रेलर, टिप्पर ट्रक आदि वाहन शामिल हैं. इन सभी 14 वाहनों का SDRI अधिकारियों के निर्देश पर DTO रामगंज मण्डी ने चालान बना कर मौके पर ही डिटेन किया.

करीब 20 लाख रुपए की वसूली होने की उम्मीद:
इस पूरी कार्रवाई में सरकार को करीब 20 लाख रुपए की राजस्व वसूली होने का अनुमान है. इसके अलावा SDRI टीम ने मौके पर खनिज रॉयल्टी भुगतान की भी जांच की. इस जांच में वहां लगभग एक लाख टन मात्रा में गिट्टी एवम् पाउडर का खनिज भण्डारण किया पाया गया. कम्पनी के प्रतिनिधि द्वारा इस खनिज के 13 STP ( शॉर्ट टर्म परमिट) प्रस्तुत किए गए. SDRI अधिकारियों के निर्देश पर खनिज विभाग रामगंज मण्डी की टीम को मौके पर बुलाकर जांच की गई एवं गणना के लिए कागजात प्राप्त किए. इनका विश्लेषण कर इस प्रकरण में आगे कार्यवाही होगी.   

....विमल कोठारी, फर्स्ट इण्डिया न्यूज

और पढ़ें